Top
Latest News
Home > राज्य > अन्य > राजस्थान में बनेगी कांग्रेस की सरकार, अशोक गेहलोत हो सकते है अगले मुख्यमंत्री

राजस्थान में बनेगी कांग्रेस की सरकार, अशोक गेहलोत हो सकते है अगले मुख्यमंत्री

राजस्थान में बनेगी कांग्रेस की सरकार, अशोक गेहलोत हो सकते है अगले मुख्यमंत्री

जयपुर/स्वदेश वेब डेस्क। राजस्थान में विधानसभा चुनाव नतीजों और रूझानों से कांग्रेस की सरकार बनना तय है। हालांकि कुछ महीने पहले सत्ता की दौड़ से बाहर मानी जा रही भाजपा ने कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी है। राजस्थान की 199 सीटों पर इस बार 74.08 प्रतिशत मतदान हुआ था, जो कि पिछले चुनाव की तुलना 75.67 प्रतिशत से 1.52 फीसदी कम है। कांग्रेस ने 101 , भाजपा ने 73 वहीं निर्दलीय व अन्यों 26 सीटें जीत ली है।

हारने वाले नेताओं में कैबिनेट मंत्री मंत्री अरुण चतुर्वेदी, राजपालसिंह शेखावत, गजेन्द्रसिंह खिंवसर, डॉ राम प्रताप, प्रभुलाल सैनी, यूनुस खान और ओटाराम देवासी शामिल है। वहीं कांग्रेस नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी चुनाव हार गए हैं। प्रदेश में सत्ता विरोध की लहर के चलते भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है। प्रदेश की सबसे हॉट सीट झालरापाटन से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस के मानवेन्द्रसिंह को पराजित कर अपनी सीट सुरक्षित कर ली है। जबकि कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर की सरदारपुरा सीट पर भाजपा के शंभूसिंह खेतासर और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने टोंक सीट पर भाजपा के एकमात्र मुस्लिम चेहरे यूनुस खान को पराजित किया है।

कांग्रेस: जोधपुर की सरदारपुरा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के शंभूसिंह खेतासर को पराजित किया। टोंक से पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने भाजपा के युनूस खान को पराजित किया। मसूदा से राकेश पारीक, मांडल से रामलाल जाट, सांचौर से सुखराम विश्नोई, प्रतापगढ़ में रामलाल मीणा, खाजूवाला से गोविंदराम मेघवाल, अंता से प्रमोद जैन भाया, खंडार से अशोक बैरवा, नोहर से अमित चाचान, जयपुर की हवामहल सीट से महेश जोशी, राजाखेड़ा से रोहित वोहरा, पचपदरा से मदन प्रजापत, बाड़मेर से मेवाराम जैन, जयपुर के सिविल लाइंस से प्रतापसिंह खाचरियावास, अलवर ग्रामीण से टीकराम जूली, टोंक के निवाई से प्रशांत बैरवा, परबतसर से रामनिवास गावड़िया, कामां से जाहिदा खान चुनाव जीत चुकी ह

भाजपा: जहाजपुर से भाजपा के गोपीचंद मीणा, भीलवाड़ा के विट्ठलशंकर, मकराना से भाजपा के रूपाराम जाट, रेवदर से भाजपा के जगसीराम कोली, भीनमाल के भाजपा के पूराराम चौधरी, आहोर से भाजपा के छगनसिंह राजपुरोहित, जालोर से भाजपा के जोगेश्वर गर्ग, डग से कालूलाल मेघवाल, सोजत से शोभा चौहान, मावली से धर्मनारायण जोशी, अजमेर से वासुदेव देवनानी, धरियावद से गौतमलाल मीणा, पिण्डवाडा-आबू से समाराम गरासिया ने चुनाव जीत लिया है।

निर्दलीय: सिरोही से कांग्रेस के बागी संयम लोढ़ा, किशनगढ़ से भाजपा के बागी सुरेश टांक ने चुनाव जीता है।

25 साल के सियासी ट्रेंड के अनुसार 1993 में भाजपा ने 38.60 प्रतिशत मत मिले और 95 सीटें लेकर सत्ता में वापसी की थी, जबकि कांग्रेस को 76 सीटें मिलीं थी। 1998 में कांग्रेस ने 44.95 फीसदी वोट लिए। 153 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी। व र्ष 2003 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 39.20 प्रतिशत वोट लेकर कांग्रेस को सत्ता से निकाला। भाजपा को 120, कांग्रेस को 56 सीटें मिलीं। 2008 में कांग्रेस ने 36.82 फीसदी वोट और 96 सीटें जीतकर सरकार बनाई। भाजपा को 78 सीटें मिलीं थी। मोदी लहर की बदौलत वर्ष 2013 में भाजपा रिकॉर्ड 46.05 फीसदी वोट और 163 सीटें जीतकर सत्ता में वापसी की थी, वहीं कांग्रेस महज 21 सीटों पर सिमट गई थी। अगले मुख्यमंत्री के तौर पर अशोक गहलोत का नाम सामने आ रहा है लेकिन बहुत से लोग चाहते है की सचिन पायलट प्रदेश की कमान संभालें। (हिस)

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top