Home > राज्य > अन्य > जैसलमेर में भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीपीएस टैग से लैस मिले प्रवासी पक्षी ने बीएसएफ की चिंता बढ़ाई

जैसलमेर में भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीपीएस टैग से लैस मिले प्रवासी पक्षी ने बीएसएफ की चिंता बढ़ाई

जैसलमेर में भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीपीएस टैग से लैस मिले प्रवासी पक्षी ने बीएसएफ की चिंता बढ़ाई

जैसलमेर। भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीपीएस टैग से लैस मिले प्रवासी पक्षी ने बीएसएफ की चिंता बढ़ा दी है। इसकी वजह यह है कि दुश्मन देश ऐसे पक्षियों के जरिये एक-दूसरे की जासूसी कराते हैं।यह पक्षी सीमा पर लगी दोहरी तारबंदी के बीच फंसकर गिर गया था। यह वाकया 10 दिन पुराना है। संशय यह है कि इस पक्षी का इस्तेमाल कहीं पाकिस्तान ने भारत में जासूसी के लिए तो नहीं किया।

बीएसएफ के जवानों ने गिरकर घायल हुए पक्षी की जान बचाने की भरसक कोशिश की। अंतरराष्ट्रीय सीमा से जैसलमेर लाते वक्त रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। पक्षी के शरीर में कोई विस्फोटक या ट्रांसमीटर तो फिट नहीं है, इसकी जांच के लिए पोस्टर्माटम और स्कैन कराया गया। पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के लिए वेटेनरी डाक्टरों के मेडिकल बोर्ड गठित किया गया। इस प्रवासी पक्षी की पहचान यूरोपीय ब्लैक स्ट्रोक वाटर बर्ड्स के रूप में हुई है।

जीपीएस टैग ब्लैक स्ट्रोक वाटर बर्ड्स के पांव में लगा था। तारबंदी में उलझकर यह पक्षी घायल हो गया था। यह पक्षी करीब तीन किलोग्राम वजनी होता है। यह मुख्य रूप से यूरोप के ठंडे क्षेत्र में पाया जाता है। यह सितम्बर-अक्टूबर में अफ्रीका या भारत में प्रवास के लिए उड़ान भरते हैं। भारत में यह पक्षी मुख्य रूप से पंजाब में प्रवास करता है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top