Top
Home > राज्य > अन्य > झारखंड : मतदाताओं ने नक्सली धमकियों को किया बेअसर, चौथे चरण में 62.46 % मतदान

झारखंड : मतदाताओं ने नक्सली धमकियों को किया बेअसर, चौथे चरण में 62.46 % मतदान

-झारखंड विधानसभा चुनाव के चौथे चरण की 15 सीटों पर शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न -सबसे ज्यादा चंदनकियारी में 74.50 और सबसे कम बोकारो में 50.64% मतदान

झारखंड : मतदाताओं ने नक्सली धमकियों को किया बेअसर, चौथे चरण में 62.46 % मतदान

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के 15 विधानसभा क्षेत्रों में शाम 5 बजे तक शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। नक्सलियों की धमकी बेअसर रही और मतदाताओं में उत्साह रहा। सभी 15 विधानसभा क्षेत्रों में 62.46 फीसदी मतदान हुए। सबसे ज्यादा चंदनकियारी में 74.50 और सबसे कम मतदान बोकारो में 50.64% हुए हैं।

15 विधानसभा सीटों में से 10 विधानसभा सीट मधुपुर, देवघर, गांडेय, बोकारो, चंदनक्यारी, सिंदरी, निरसा, धनबाद, झरिया और बाघमारा पर शाम 5 बजे तक मतदान हुआ। वहीं, 5 सीट बगोदर, जमुआ, गिरिडीह, डुमरी और टुंडी में अपराह्न 3 बजे तक वोट डाले गये। अपराह्न 3 बजे तक 56.02 फीसदी, दोपहर 1 बजे तक इन सीटों पर 44.74 फीसदी, पूर्वाह्न 11 बजे तक 28.56 फीसदी वोटिंग हुई थी। जबकि प्रारंभिक दो घंटों में सुबह 9 बजे तक 11.85 फीसदी मतदान दर्ज किये गये थे। अभी तक कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। 10 विधानसभा सीटों मधुपुर, देवघर, गांडेय, बोकारो, सिंदरी, चंदनकियारी, निरसा, धनबाद, झरिया और बाघमारा में शाम 5 बजे तक वोट डाले जायेंगे। इस चरण में दो मंत्री अमर कुमार बाउरी और राज पलिवार समेत 221 उम्मीदवार चुनाव में भाग्य आजमा रहे हैं।

चुनाव आयोग ने स्वच्छ व शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए तमाम तैयारियां की हैं। इस चरण के चुनाव में दो मंत्री अमर कुमार बाउरी और राज पलिवार, सात पूर्व मंत्री तथा 14 वर्तमान विधायकों समेत 221 उम्मीदवारों का भाग्य तय होगा। कुल 47,85,009 मतदाता 221 उम्मीदवारों का भाग्य तय करेंगे। कुल उम्मीदवारों में 198 पुरुष तथा 22 महिला हैं। पहली बार एक थर्ड जेंडर उम्मीदवार भी चुनाव लड़ रहे हैं। इस चरण में भी कुछ नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान होना है। कुछ 6,101 मतदान केंद्रों में 4,203 संवेदनशील तथा अति संवेदनशील हैं। 1,898 मतदान केंद्र ही सामान्य हैं।

सुबह ठंड के बावजूद मतदान केंद्रों पर मतदाताओं का पहुंचना शुरू हो गया था। हालांकि कुछ मतदान केंद्रों पर कहींब 30 मिनट तो कहीं एक घंटे की देरी से मतदान शुरू हुआ। बोकारो से कांग्रेस प्रत्याशी श्वेता सिंह ने मतदान किया। धनबाद के लोयाबाद में बिजली न होने से मोमबत्ती की रोशनी में मतदान शुरू कराया गया। झरिया सीट से भाजपा प्रत्याशी रागिनी सिंह ने परिवार के साथ मतदान किया। गोमो के जीतपुर मध्य विद्यालय के बूथ नंबर 162, 163, 164 पर बिजली नहीं होने की वजह से मोमबत्ती के सहारे मतदान कराना पड़ा। टुंडी से झामुमो प्रत्याशी मथुरा प्रसाद महतो ने सिंघडीह प्राथमिक विद्यालय में वोट दिया। गिरिडीह के बूथ नम्बर 46 बरहमसिया में ईवीएम खराब होने की वजह से 1 घंटे देरी से मतदान शुरू हुआ। गिरिडीह के कोलडीह के योगीतांड में जहां कुछ दिन पूर्व ही नक्सलियों ने पोस्टरबाजी की थी, वहां वोटिंग को लेकर उत्साह दिखा।

15 सीटों पर मतदान प्रतिशत

मधुपुर–72.90%

देवघर–63.40%

बगोदर–62.82%

जमुआ–59.09%

गांडेय–69.17%

गिरिडीह–60.64%

डुमरी– 61.42%

बोकारो– 50.64%

चंदनकियारी–74.50%

सिंदरी–69.50%

निरसा–67.50%

धनबाद–52.67%

झरिया–51.76%

टुंडी–67.21%

बाघमारा–61.95%

नक्सलियों की धमकी बेअसर, मतदाताओं में उत्साह

मतदान बहिष्कार की नक्सलियों की धमकी और ठंड के बावजूद मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह नजर आ रहा है। गिरिडीह जिले के योगीटांड में नक्सलियों ने पोस्टर लगाकर चुनाव बहिष्कार की धमकी दी थी। वहां बूथ के बाहर सुबह से ही मतदाताओं की लंबी लाइन लगी है। वहीं, धनबाद विधानसभा के 7 बूथों पर बिजली नहीं होने की वजह से मोमबत्ती के सहारे मतदान कराना पड़ा।

देवघर में बूथ पर बेहोश हुआ पोलिंग अफसर

देवघर विधानसभा अंतर्गत मोहनपुर प्रखंड के मयूर नाच ग्राम स्थित प्राथमिक विद्यालय बूथ संख्या 427 में तैनात प्रथम पीठासीन पदाधिकारी घनश्याम हेंब्रम बेहोश होकर गिर गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। उनका इलाज चल रहा है।

अभी 12 सीटों पर भाजपा का कब्जा

चौथे चरण में जिन 15 विधानसभा सीटों पर मतदान हो रहे हैं, उनमें से 12 सीटों पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है। मासस, झामुमो और आजसू के पास एक-एक सीटें हैं।

9 सीटों पर भाजपा से सीधा मुकाबला

धनबादः भाजपा के राज सिन्हा और कांग्रेस के मन्नान मल्लिक में।

बोकारोः भाजपा के बिरंची नारायण और कांग्रेस की श्वेता सिंह में।

झरियाः भाजपा की रागिनी सिंह और कांग्रेस की पूर्णिमा नीरज सिंह में।

बाघमाराः भाजपा के ढुल्लू महतो और कांग्रेस के जलेश्वर महतो में।

जमुआः भाजपा के केदार हाजरा और कांग्रेस की मंजू देवी में।

डुमरीः भाजपा के प्रदीप कुमार साहू और झामुमो के जगरनाथ महतो में।

गांडेयः भाजपा के जयप्रकाश वर्मा और झामुमो के सरफराज अहमद में।

गिरिडीहः भाजपा के निर्भय कुमार शाहाबादी और झामुमो के सुदीव्य कुमार में।

देवघरः भाजपा के नारायण दास और राजद के सुरेश पासवान में।

चार विस क्षेत्रों में त्रिकोणीय संघर्ष

चंदनकियारी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के अमर कुमार बाउरी, आजसू के उमाकांत रजक और झामुमो के विजय कुमार रजवार के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। इसके अलावा मधुपुर में भाजपा के राज पलिवार, झामुमो के हाजी हुसैन अंसारी और आजसू के गंगा नारायण सिंह में, निरसा में मासस के अरूप चटर्जी, भाजपा की अपर्णा सेनगुप्ता और झामुमो के अशोक कुमार मंडल में तथा सिंदरी में भाजपा के इंद्रजीत महतो, झामुमो के फूलचंद मंडल और मासस के आनंद महतो के बीच त्रिकोणीय संघर्ष है।

दो सीटों पर चतुष्कोणीय मुकाबला

टुंडी विधानसभा सीट पर आजसू के राजकिशोर महतो, झामुमो के मथुरा प्रसाद महतो, भाजपा के विक्रम पांडेय और झाविमो के डॉ. सबा अहमद तथा बगोदर में भाजपा के नागेंद्र महतो, कांग्रेस के बासुदेव प्रसाद वर्मा, भाकपा माले के विनोद कुमार सिंह और आजसू के अनूप कुमार पांडेय के बीच चतुष्कोणीय मुकाबला है।

22 महिला सहित 221 उम्मीदवार हैं चुनाव मैदान में

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि चौथे चरण में 22 महिला सहित 221 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इसके तहत बोकारो सीट से सबसे ज्यादा 25 उम्मीदवार चुनावी दंगल में हैं तो निरसा सीट के लिए सबसे कम 8 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा मधुपुर से 13, देवघर से 13, बगोदर से 12, जमुआ से 14, गांडेय से 12, गिरिडीह में 12, डुमरी में 15, चंदनकियारी से 15, सिंदरी से 16, धनबाद से 22, झरिया में 17, टुंडी में 13 और बाघमारा से 15 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

मतदान के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने बताया कि चौथे चरण में होनेवाले मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। इस चरण में जिन विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं, उसमें से कई नक्सल प्रभावित थे। इस वजह से अति संवेदनशील और संवेदनशील मतमदान केंद्रों की सुरक्षा के आर्म्ड पुलिस को तैनात किया गया था। मतदान केंद्रों को नक्सल और गैर नक्सल आधार पर संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों में रखा गया था। नक्सल प्रभावित इलाकों में 587 अति संवेदनशील और 405 संवेदनशील मतदान केंद्र थे। वहीं गैर नक्सल इलाकों में अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 546 और संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 2,665 थी।

वेबकास्टिंग, महिला संचालित और आदर्श मतदान केंद्र

चौथे चरण के चुनाव को लेकर 2,122 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई थई। वहीं 183 आदर्श मतदान केंद्र औऱ 70 महिला संचालित मतदान केंद्र बनाए गए थे। इन 15 सीटों के लिए कुल 6,101 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इसमें शहरी क्षेत्र में 1,805 और ग्रामीण क्षेत्र में 4,296 मतदान केंद्र है। ये सभी मतदान केंद्र 3,962 मतदान केंद्र भवनों में स्थित हैं। इन मतदान केंद्रों में कुल 47,85,009 मतदाता हैं। इन मतदाताओं में 25,40,794 पुरुष, 22,44,134 महिला, 81 थर्ड जेंडर और 95,795 नए मतदाता (18-19 साल के) हैं। इसके अलावा 80 साल से ज्यादा आयु के 34,106 और 66,321 दिव्यांग मतदाता हैं।

पहले तीन चरणों की वोटिंग

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 सीटों पर शनिवार को 64.44 फीसदी मतदान हुआ है। जो पिछले चुनाव के मुकाबले 1 फीसदी ज्यादा है। 2014 में इन सीटों पर 63.35 फीसदी वोटिंग हुई थी। दूसरे चरण में 20 सीटों पर 64.84 प्रतिशत मतदान हुआ था। पिछले चुनाव 2014 में इन सीटों पर 68.01 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। तीसरे चरण की 17 सीटों पर 62.35 फीसदी वोटिंग हुई, जो 2014 के मुकाबले 1.67 फीसदी कम है।

पांच चरणों के चुनाव का परिणाम 23 दिसम्बर को

झारखंड की 81 विधानसभा सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान होना है। पहले चरण का मतदान 30 नवंबर, दूसरे चरण की वोटिंग 07 दिसंबर और तीसरे चरण का मतदान 12 दिसंबर को हो चुका है। चौथे चरण की 16 दिसंबर तथा आखिरी पांचवें चरण की वोटिंग 20 दिसंबर को होगी। परिणाम 23 दिसंबर को आएंगे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top