Home > राज्य > अन्य > मुम्बई में भीम आर्मी की सभा रद्द, सुरक्षा व्यवस्था सख्त

मुम्बई में भीम आर्मी की सभा रद्द, सुरक्षा व्यवस्था सख्त

मुम्बई में भीम आर्मी की सभा रद्द, सुरक्षा व्यवस्था सख्त

मुम्बई। मुम्बई में वर्ली इलाके के जांबोरी मैदान में शनिवार शाम को होने वाली भीम आर्मी की सभा रद्द कर दी गई। मालाड स्थित मनाली होटल में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को पुलिस ने अभी भी नजरबंद रखा है। पूरे इलाके में सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। मुम्बई सहित पूरे राज्य में इस घटना को लेकर भीम आर्मी के कार्यकर्ता आक्रोशित हैं। वर्धा-यवतमाल मार्ग को रोककर भीम सैनिकों ने कई घंटे चक्का जाम किया। एहतियात के तौर पर पुलिस ने भीम आर्मी के कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया है।

फडणवीस सरकार के गृह राज्यमंत्री दीपक केसरकर ने बताया कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भीम आर्मी की सभा को मंजूरी नहीं दी गई है। भीम आर्मी के आयोजकों को इंडोर सभा की अनुमति दी जा रही थी, लेकिन उनकी मांग सार्वजनिक सभा करने की थी। इसीलिए सरकार ने सभा करने की अनुमति नहीं दी।

मनाली होटल में नजरबंद रावण ने फेसबुक पोस्ट के जरिए बताया कि सरकार संविधान का खुला उल्लंघन कर रही है। उन्हें कमरे में नजरबंद रखा गया है, जिसके चारों ओर पुलिस का कड़ा पहरा है। पुलिस व सरकार का यह रवैया बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसका जवाब आगामी चुनाव में दिया जाएगा।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक जितेंद्र आव्हाड ने होटल जाकर भीम आर्मी के प्रमुख रावण से मुलाकात की। आव्हाड ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राज्य सरकार ने अघोषित आपातकाल लागू किया है। रावण पर महाराष्ट्र के किसी भी पुलिस स्टेशन में एक भी मामला तक दर्ज नहीं है। इसके बावजूद रावण को नजरबंद किया है। इसका जवाब जनता आगामी चुनाव में देगी।

भीम आर्मी के महासचिव सुनील थोरात ने बताया कि रावण की सभा पूर्व नियोजित थी। इस सभा के लिए अनुमति ली गई थी और उसका किराया भी अदा कर दिया गया था। इस सभा का भीमा-कोरेगांव से कोई संबंध नहीं था। रावण शुक्रवार को मुम्बई स्थित चैत्यभूमि और पुणे स्थित भीमा-कोरेगांव में विजय स्तंभ का दर्शन करने वाले थे। इससे कानून व्यवस्था कैसे बाधित हो रही थी, लेकिन राज्य सरकार के इशारे पर पुलिस शुक्रवार रात से ही चंद्रशेखर आजाद को नजरबंद कर रखा है।

Tags:    

Swadesh News ( 5689 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top