Home > खेल > हॉकी > हारकर भी जीत गई टीम इंडिया, रानी के गोल ने तीसरी बार ओलंपिक में पहुंचाया

हारकर भी जीत गई टीम इंडिया, रानी के गोल ने तीसरी बार ओलंपिक में पहुंचाया

हारकर भी जीत गई टीम इंडिया, रानी के गोल ने तीसरी बार ओलंपिक में पहुंचाया

भुवनेश्वर। कप्तान रानी रामपाल द्वारा 49वें मिनट में किए गए निर्णायक गोल की मदद से भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को टोक्यो ओलंपिक-2020 के लिए क्वालीफाई कर लिया। यहां कलिंगा स्टेडियम में खेले गए ओलंपिक क्वालीफायर के दूसरे लेग में अमेरिका ने भारत को 4-1 से हराया, लेकिन पहले लेग में मिली 5-1 से जीत के दम पर भारत ने एग्रीगेट स्कोर 6-5 से जीत हासिल करते हुए अमेरिका को पटक कर टोक्यो ओलंपिक-2020 के लिए क्वालीफाई कर लिया।

भारतीय टीम कुल तीसरी बार और लगातार दूसरी बार ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने में सफल रही है। टीम ने 2016 में 36 साल बाद रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था और अब उसने इस बार भी टोक्यो ओलंपिक-2020 के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

अमेरिका ने पहले क्वार्टर में ही अमंडा मेगदन और कप्तान केथलीन शर्की के गोलों की मदद से 2-0 बढ़त लेकर मेजबान टीम पर दबाव बना दिया। मेगदन ने पांचवें और शर्की ने 14वें मिनट में गोल किए। दूसरे क्वार्टर के शुरू होने के बाद कुछ देर बाद ही एलीसा पार्कर ने 20वें मिनट में गोल करके अमेरिका को मुकाबले में 3-0 से आगे कर दिया।

इस गोल के बाद मेहमान टीम ने दूसरे क्वार्टर की समाप्ति से दो मिनट पहले ही मेगदन के एक और गोल की मदद से स्कोर 4-0 कर दिया। इस तरह अमेरिका ने 4-0 की बढ़त के साथ पहले हाफ की समाप्ति की। मैच के तीसरे क्वार्टर में भारत को दो पेनाल्टी कॉर्नर हासिल हुए और मेजबान टीम की खिलाड़ी गुरजीत कौर दोनों मौकों पर गोल करने से चूक गई।

चौथे और अंतिम क्वार्टर में भारतीय टीम ने आक्रामक शुरुआत की और कप्तान रानी ने 49वें मिनट में शानदार गोल करके भारत का खाता खोल दिया। रानी का यह गोल अमेरिका के लिए बेहद घातक साबित हुआ तो वहीं इस गोल ने भारत को टोक्यो ओलंपिक का टिकट दिला दिया।

रानी के गोल के बाद अमेरिका ने पेनाल्टी कॉर्नर की मांग की, जिसे वीडियो अंपायर ने नकार दिया। इसके बाद भारतीय टीम ने अपनी रक्षापंक्ति को सतर्क रखते हुए अमेरिका को और कोई गोल नहीं करने दिया और 1-4 के स्कोर (एग्रीगेट स्कोर 6-5) के साथ टोक्यो ओलंपिक में अपनी जगह पक्की कर ली।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top