Home > खेल > क्रिकेट > वर्ल्ड कप 2019 को भारत जीतने में नाकाम क्यों रहा, जानें वजह

वर्ल्ड कप 2019 को भारत जीतने में नाकाम क्यों रहा, जानें वजह

वर्ल्ड कप 2019 को भारत जीतने में नाकाम क्यों रहा, जानें वजह

नई दिल्ली। पिछले काफी वक्त से नंबर 4 की पोजिशन भारतीय टीम के लिए सिरदर्द बनी हुई है। इस बैटिंग पोजिशन के लिए कई प्रयोग किए जा चुके हैं, लेकिन अब तक सफलता नहीं मिल पाई है। आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में केएल राहुल, ऋषभ पंत, विजय शंकर और दिनेश कार्तिक को इस नंबर पर खिलाया गया, लेकिन कोई भी अपनी स्थिति बेहतर नहीं कर पाया। ऐसे में टीम इंडिया के पूर्व ऑल राउंडर युवराज सिंह का कहना है कि टीम प्रबंधन को इस मामले पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। युवराज ने साथ ही ये भी बताया कि वर्ल्ड कप 2019 को भारत जीतने में नाकाम क्यों रहा।

युवराज सिंह ने कहा, 'आपको उपलब्ध प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पहचान करनी चाहिए और उनका समर्थन करना चाहिए। जिस तरह 2003 के विश्व कप के दौरान मैं और मोहम्मद कैफ थे। न्यूजीलैंड में हर खिलाड़ी फ्लॉप रहा। विश्व कप 2019 को देखें तो मुझे टीम से ड्रॉप किया गया। मनीष पांडे आए। इसके अलावा एक दो और खिलाड़ी (केएल राहुल), सुरेश रैना को ट्राई किया। अंबाती रायडू ने भी 8-9 महीने खेला। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 90 रन बनाए।'

युवराज ने कहा, 'विश्व कप से पहले हम ऑस्ट्रेलिया से हारे और अंबाती रायडू के लिए यह खराब टूर्नामेंट रहा। अचानक विजय शंकर टीम में आ गए। चयनकर्ताओं को नंबर 4 पोजिशन की महत्ता को समझना चाहिए, खासतौर पर इंग्लैंड में। विजय शंकर और ऋषभ पंत दोनों के पास उतना अनुभव नहीं था। दिनेश कार्तिक अनुभवी थे, लेकिन उन्हें बाहर बैठना पड़ा। सेमीफाइनल में उन्हें अचानक मैच में उतार दिया गया। भारत के विश्व कप न जीत पाने की यही बड़ी वजह है।'

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि इंग्लैंड और भारत बेस्ट टीमें थीं।' युवराज सिंह ने यह बातें आजतक के एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में भारत ने न्यूजीलैंड को 8 विकेट पर 239 रन पर रोक दिया, लेकिन 240 रनों का पीछा करते हुए भारत का टॉप आर्डर ध्वस्त हो गया। मैट हेनरी ने 37 रन देकर 3 विकेट लिए।

रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली और दिनेश कार्तिक 10 ओवर में 24 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। रविंद्र जडेजा ने 77 और महेंद्र सिंह धौनी ने 50 रन बनाए। भारत 18 रन से यह मैच हारकर वर्ल्ड कप से बाहर हो गया था।

पूरे विश्व कप में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले धौनी को सेमीफाइनल में दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या के बाद भेजा गया। युवराज ने कहा, 'मुझे यह देखकर हैरानी हुई कि धौनी नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने आए। सबसे अनुभवी होने के कारण मुझे लगता है उन्हें ऊपर बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। पता नहीं टीम प्रबंधन क्या सोच रहा था। लेकिन यह सब अब हो चुका है।'

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top