Top
Home > खेल > क्रिकेट > न्यूज़ीलैंड ने भारत को 22 रनों से हराया, जीती सीरीज

न्यूज़ीलैंड ने भारत को 22 रनों से हराया, जीती सीरीज

ऑकलैंड। श्रेयस अय्यर, रवींद्र जडेजा और नवदीप सैनी बल्ले से संघर्ष करने के बाद भी भारतीय टीम को शनिवार को ईडन पार्क मैदान पर खेले गए दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत नहीं दिला सके। मेजबान टीम ने इस मैच को 22 रनों से जीत तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ले ली। पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड ने मार्टिन गुप्टिल (79) और रॉस टेलर (नाबाद 73) की पारियों के बूते भारत को 274 रनों का लक्ष्य दिया। जवाब में भारतीय बल्लेबाजी ढह गई और टीम 48.3 ओवरों में 251 रन ही बना सकी।

मेहमान टीम के लिए एक बार फिर अय्यर का बल्ला चला। पहले मैच में शतकीय पारी खेलने वाले अय्यर ने 57 गेंदों पर 52 रन बनाए। उनकी पारी में सात चौके और एक छक्का मारा। निचले क्रम में जडेजा और सैनी ने आठवें विकेट के लिए 76 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिलाने के लिए कोशशी की, लेकिन अंत में यह दोनों विफल रहे। जडेजा ने 45 और सैनी ने भी 45 रनों की पारियां खेलीं।

भारत की हार का एक बड़ा कारण मजबूत शुरुआत न मिलना रहा। मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ की अनुभवहीन सलामी जोड़ी टीम की जीत की नींव नहीं रख सकी। मयंक 21 के कुल स्कोर पर तीन रन बनाकर आउट हो गए। 34 के कुल स्कोर पर अपना पहला मैच खेल रहे काइल जैमीसन ने शॉ को आउट कर दिया। शॉ ने 24 रन बनाए।

कप्तान विराट कोहली और अय्यर पर एक बार फिर टीम की नैया पार लगाने की जिम्मेदारी थी। इस बार कप्तान अय्यर को अकेला छोड़ गए। टिम साउदी ने कोहली को 57 के कुल स्कोर पर बोल्ड कर दिया। कोहली ने सिर्फ 15 रन बनाए।

लोकेश राहुल चार और केदार जाधव नौ रन ही बना सके। इन दोनों के जाने के बाद टीम का स्कोर 96 रनों पर पांच विकेट हो गया। अय्यर अर्धशतक पूरा करने के बाद 129 के कुल स्कोर पर हामिश बेनेट की गेंद पर विकेट के पीछे टॉम लाथम के हाथों लपके गए और यहीं से भारत की सारी उम्मीदें चकनाचूर हो गईं। शादूर्र्ल ठाकुर (18) को 153 के कुल स्कोर पर कोलिन डी ग्रैंडहोम ने आउट किया।

जडेजा और सैनी ने हालांकि हिम्मत नहीं हारी और टीम को आगे ले जाते रहे। अपने अर्धशतक से पांच रन दूर सैनी, जैमीसन की गेंद पर बड़ा शॉट मारने के प्रयास में बोल्ड हो गए। सैनी ने 49 गेंदों का सामना कर पांच चौके और दो छक्के लगाए। सैनी के जाने से जडेजा पर ही जीत का दारोमदार था। इस बीच युजवेंद्र चहल (10) रन आउट हो गए।

कीवी टीम को जीत के लिए एक विकेट चाहिए था। जडेजा ने जेम्स नीशम की गेंद को सीमारेखा के पार भेजने की कोशिश, लेकिन गेंद सीधे लॉन्ग ऑफ पर खड़े डी ग्रैंडहोम के हाथों में गई और भारत को हार मिली।

कीवी टीम के लिए पहला मैच खेल रहे जैमीसन ने 10 ओवरों में 42 रन देकर दो विकेट लिए। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। उनके अलावा बेनेट, साउदी, डी ग्रैंडहोम ने भी दो-दो विकेट लिए। नीशम को एक विकेट मिला।

इससे पहले कोहली ने टॉस जीता और न्यूजीलैंड को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। न्यूजीलैंड ने 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 273 रन बनाए। गुप्टिल और हेनरी निकोलस (41) ने पहले विकेट के लिए 93 रनों की शानदार साझेदारी करके अच्छी शुरुआत दी। गुप्टिल ने 79 गेंदों पर आठ चौकों और तीन छक्कों की मदद से अपने करियर का 36वां अर्धशतक बनाया।

गुप्टिल के आउट होने के बाद कीवी टीम नियमित अंतराल पर विकेट गंवाती चली गई। मेजबान टीम ने अपने मध्यक्रम की विफलता के कारण 55 रन के अंदर ही अपने सात विकेट खो दिए। 197 रन तक अपने आठ विकेट गंवाने के बाद टेलर और अपना पदार्पण मैच खेल रहे काइल जैमीसन (नाबाद 25) ने नौवें विकेट के लिए 76 रनों की साझेदारी करके न्यूजीलैंड को 273 रनों तक पहुंचा दिया।

न्यूजीलैंड के लिए वनडे में नौवें विकेट के लिए यह तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। वहीं, इस मैदान पर किसी भी टीम की नौवें विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी है।

मेजबान टीम की ओर से टेलर ने 74 गेंदों पर छह चौकों और दो छक्कों की मदद से अपने करियर का 51वां अर्धशतक पूरा किया। जैमीसन ने 24 गेंदों पर एक चौका और दो छक्के जड़े।

उनके अलावा टॉम ब्लेंडल ने 22, कप्तान टॉम लाथम ने सात, जेम्स नीशम ने तीन, कोलिन डी ग्रैंडहोम ने पांच, मार्क चैपमैन ने एक और टिम साउदी ने एक रन बनाए। कीवी टीम ने अंतिम पांच ओवरों में 53 रन बनाए।

भारत की ओर से चहल ने तीन, ठाकुर ने दो और जडेजा ने एक विकेट हासिल किया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top