Home > धर्म > जीवन-मंत्र > करवा चौथ : इतने समय निकलेगा चाँद, खास है इस बार का ये त्यौहार

करवा चौथ : इतने समय निकलेगा चाँद, खास है इस बार का ये त्यौहार

सर्वार्थ सिद्धि, अमृत सिद्धि, राजप्रद योग में मनेगी करवा चौथ

करवा चौथ : इतने समय निकलेगा चाँद, खास है इस बार का ये त्यौहार

ग्वालियरकरवा चौथ हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है। यह भारत के पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश और राजस्थान का खास पर्व है। यह त्यौहार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। इस बार करवा चौथ का त्यौहार 27 अक्टूबर शनिवार को मनाया जा रहा है । इस त्यौहार को लेकर जहां बाजार सजकर तैयार हैं वहीं होटल संचालकों ने इस त्यौहार को लेकर पैकेज भी देना शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग भी जमकर हो रही है।

यह पर्व सौभाग्यवती (सुहागिन) स्त्रियां मनाती हैं। करवा चौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से पहले करीब चार बजे के बाद शुरू होकर रात में चन्द्र दर्शन के बाद संपूर्ण होता है। ज्योतिषाचार्य डॉ. एच.सी. जैन के अनुसार करवा चौथ पर इस बार सर्वार्थ सिद्धि, अमृत सिद्धि, सिद्धि एवं राजप्रद योग बने रहे हैं। माना जाता है कि इस मुहूर्त में किया गया हर कार्य सफल होता है और इस दौरान की गई पूजा व व्रत का लाभ ज्यादा मिलता है। डॉ. जैन ने बताया कि ग्वालियर में इस दिन चन्द्रमा रात्रि 8 बजकर 15 मिनट पर उदय होगा। डॉ. जैन के अनुसार करवा चौथ के दिन रात 7:58 बजे मैदानी भागों में चन्द्रोदय होगा।

खास है इस बार का करवा चौथ

ज्योतिषाचार्य डॉ. जैन के अनुसार इस बार करवा चौथ का व्रत और पूजन बहुत विशेष है। इस बार 70 साल बाद करवा चौथ पर खास योग बन रहा है। इस बार रोहिणी नक्षत्र और मंगल का योग एक साथ आ रहा है। डॉ. जैन के अनुसार यह योग करवा चौथ को और अधिक मंगलकारी बना रहा है। इससे पूजन का फल हजारों गुना अधिक होगा।

करवा चौथ का महत्व

करवा चौथ सुहागिन महिलाओं के लिए एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस दिन सुहागिनें अपने पति की लम्बी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। पति की लम्बी उम्र और अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए इस दिन चन्द्रमा की पूजा की जाती है। चन्द्रमा के साथ-साथ भगवान शिव, माता पार्वती, गणेश जी और भगवान कार्तिकेय की पूजा भी की जाती है।

योगों का समय

ज्योतिषाचार्य डॉ. जैन के अनुसार इस दिन भद्रा भी प्रात: 7:16 बजे से शाम 6:38 बजे तक रहेगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग प्रात: 8:20 बजे से पूरे दिन-रात रहेगा। सिद्धि योग और राजप्रद योग भी शाम 6:20 बजे से पूरी रात्रि रहेगा। ऐसे में रात आठ से नौ बजे के बीच पूजन करना सबसे कल्याणकारी होगा।

बाजारों में बढ़ी चहल-पहल

करवा चौथ को लेकर बाजारों में चहल-पहल बढ़ गई है। इस त्यौहार को लेकर महिलाएं उत्साहित हैं। इस त्यौहार को मनाने के लिए महिलाओं द्वारा सुहाग का सामान खरीदा जा रहा है और सजने-संवरने के लिए ब्यूटी पार्लरों पर घंटों बैठना भी पड़ रहा है।

इनका कहना है

'यह हमारी 19वीं करवा चौथ है। इस बार भी हम इसे खास तरीके से मनाएंगे। इस दिन मेरे पति मुझे उपहार देते हैं और मेरी पसंदीदा चीज भी बनाकर मुझे खिलाते हैं। इस दिन का मुझे पूरे वर्ष इंतजार रहता है।Ó

श्रीमती रानू नाहर

गृहणी एवं समाजसेवी

'यह हमारी 10वीं करवा चौथ है। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी हम अपने परिवार के साथ पारंपरिक ढंग से यह त्यौहार मनाएंगे। इस दिन हमारे पति दिन भर साथ रहते हैं और हमारे लिए खास उपहार भी लाते हैं।Ó

श्रीमती जयश्री बाथम

गृहणी एवं समाजसेवी

Tags:    

Swadesh Digital ( 8915 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top