Home > धर्म > जीवन-मंत्र > शनि की उल्टी चाल किसे पहुचायेंगी हानि, जानिए

शनि की उल्टी चाल किसे पहुचायेंगी हानि, जानिए

इस बार भारत की राजनीति में अहम भूमिका निभाएंगे शनि महाराज

शनि की उल्टी चाल किसे पहुचायेंगी हानि, जानिए

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। शनिदेव को सूर्य पुत्र एवं कर्मफल दाता माना जाता है। साथ ही मोक्ष को देने वाला एक मात्र शनि गृह ही है। शनि हर प्राणी के साथ उचित न्याय करता है। जो लोग अनुचित विषमता और अस्वाभाविक समता को आश्रय देते है। शनि केवल उन्ही को दंडित (प्रताड़ित) करते है।

हम आपको बता दें कि न्याय के देवता शनिदेव 30 अप्रैल यानि आज से अपनी उल्टी चाल चलना प्रारंभ कर दी है। शनिदेव की चाल बदलने से मनुष्यों के आसपास बहुत कुछ बदलाव होते दिखेंगे। मनुष्यों को अपनी निजी जिंदगी से लेकर अपने कार्यो में भी बदलाव देखने को मिलेंगे। इसके अलावा इसका असर सामाजिक और राजनीतिज्ञ क्षेत्र में भी देखने को मिलेगा। इसमें कई दिग्गज नेता चुनाव हारेंगे वहीं कई चुनाव परिणाम आने के बाद कई नेताओं का राजनीतिक जीवन भी समाप्त हो सकता है। क्योंकि शनि महाराज कर्मों के अनुसार ही फल प्रदान करते हैं।

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार शनिदेव अभी तक धनु राशि में मार्गी चल रहे थे। लेकिन मंगलवार से शनिदेव धनु राशि में रहते हुए सुबह 6 बजकर 24 मिनट 13 सेकंड पर शुक्र के पूर्वा आषाढ नक्षत्र में वक्री हो जाएंगे। धनु राशि में शनिदेव का वक्रकाल 18 सितम्बर 2019 की दोपहर 2 बजकर 18 मिनट 24 सेकंड तक रहेगा। उसके बाद शनिदेव इसी राशि में दोबारा मार्गी हो जाएंगे। शनिदेव का वक्रकाल 142 दिन रहेगा। वक्रकाल के दौरान शनिदेव अधिक शक्तिशाली रहेंगे।

शनि की उल्टी चाल से होने वाले प्रभाव

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार 142 दिनों तक शनि के वक्रकाल में रहने से रोजगार के अवसर कम होंगे। साथ ही कारोबारी जगत में भी मंदी दिखेगी। राजनीतिक दलों के बीच मतभेद उभरकर सामने आएंगे। जमीनी कारोबार और शेयर मार्केट में गिरावट देखने को मिलेगी। धर्म व मर्यादा का हार्स होगा। जबकि पेट्रोल, डीजल, अनाज और सब्जियों के दामों में बढ़ोत्तरी दिखाई देगी। साथ ही कुछ दिग्गज नेताओं को भी मुंह की खानी भी पड़ सकती है। वहीं कई नेताओं के लिए इस बार के चुनाव परिणाम चौंकाने वाले होंगे। जबकि नवीन सरकार द्वारा भी कई मामलों में कठोर कदम उठाएं जाएंगे।

शनि को शांत करने के उपाए

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी ने बताया कि शनि की शांति के लिए हनुमान चालीसा पाठ करें और हनुमान जी को चोला चढ़ाएं।हनुमान जी आराधना के साथ शिवजी की उपासना करें। काले उड़द पांच किलो, सात कील, 250 ग्राम सरसों का तेल काले कपड़े में बांधकर जोशी को दान करें।

इन राशियों पर यह रहेगा प्रभाव

मेष राशि- भाग्य का साथ नहीं मिलेगा।

वृषभ राशि- चिंता से भ्रमित रहेंगे।

आज रेहटी में आमसभा को संबोधित करेंगे पूर्व सीएम शिवराज सिंह

यह भी पढ़ें

मिथुन राशि- मान सम्मान में आएगी कमी

कर्क राशि- रोग व शत्रुओं में होगी वृद्घि।

आरटीई के तहत निशुल्क प्रवेश के लिए आज से होंगे ऑनलाइन आवेदन

सिंह राशि- वैवाहिक जीवन में परेशानी

कन्या राशि- रोजगार में परेशानी

तुला राशि- कोर्ट कचहरी में धन का होगा व्यय।

वृश्चिक राशि- दुर्घटना के योग रहेंगे।

धनु राशि- चिंता में वृद्घि

कुंभ राशि- भाग्य साथ नहीं देगा।

मीन राशि- आय के स्रोत में आएंगी कमी।


Tags:    

Swadesh Digital ( 8767 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top