Home > धर्म > गुरु अपनी राशि धनु में, इन राशियों की चमक जाएगी किस्मत

गुरु अपनी राशि धनु में, इन राशियों की चमक जाएगी किस्मत

गुरु अपनी राशि धनु में, इन राशियों की चमक जाएगी किस्मत

ग्वालियर। सौरमंडल के सबसे बड़े और शुभ ग्रह गुरु बृहस्पति लगभग 12 वर्षों के बाद अपने घर धनु राशि में आ गए हैं। उनका राशि परिवर्तन वृश्चिक राशि से धनु में हुआ है। वे धनु राशि में 13 महीने रहेंगे। देवों के गुरु बृहस्पति के राशि परिवर्तन को ज्योतिष की दुनिया की बड़ी घटना माना जा रहा है।

नवंबर माह में 6 ग्रह अपनी चाल बदलेंगे। वहीं गुरु ग्रह वृश्चिक राशि से निकलकर धनु राशि में प्रवेश किया। इन ग्रहों के कारण भारत में प्राकृतिक आपदाओं और आतंकवादी हमले के योग बन रहे हैं। वहीं इन ग्रहों का प्रभाव मनुष्यों की राशियों पर भी देखने को मिलेगा। इनमें से कई राशियों पर अच्छा तो कई पर बुरा प्रभाव भी देखने को मिलेगा। ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी के अनुसार गुरु अभी धनु राशि में चले गए हैं। गुरु ग्रह धनु राशि में 24 जनवरी तक शनि व केतु के साथ रहेंगे। वहीं सूर्य 16 नवंबर से वृश्चिक राशि में प्रवेश कर रहे हैं। जबकि मंगल 10 नवंबर से तुला राशि में रहेंगे। गुरु 5 नवंबर से धनु राशि में और शुक्र ग्रह 21 नवंबर से धनु राशि में रहेंगे। इन ग्रहों का तुला से धनु राशि में रहने से चतुग्रही व पंचग्रही योग बन रहा है। यह योग प्राकृतिक घटनाओं को बढ़ावा देगा।

इन राशियों पर ऐसा रहेगा प्रभाव

मेष - इस राशि के आठवे गुरु हट कर नवे हो गए, जो कि कार्यों में जातकों को सफलता, सौभाग्य वृद्घि कर धन लाभ, मान सम्मान के अवसर प्रदान करेंगे। इसके साथ ही राजपक्ष से लाभ की प्राप्ति होगी। धर्म कर्म में रुचि रहेगी और संतान का हित होगा।

वृषभ- आज से गुरु आठवें घर में होंगे जो कि हानि कष्ट, श्रम, संघर्ष को बढ़ावा देंगे। इससे कठनाइयां बढ़ेंगी।

मिथुन - मिथुन में आज से गुरु सप्तम स्थान में भ्रमण करेंगे। इससे पति व पत्नी पक्ष में मधुर सम्बन्ध रहेंगे। साथ ही दैनिक कार्यो में सफलता मिलेगी। व्यापार में नया चिंतन रहेगा पर स्वास्थ्य के प्रति सजगता रखें।

कर्क - गुरु आरोग्यता, रोजगार,शत्रु पर विजय देगा। कुछ पुराने विवादों का निपटारा आपके पक्ष में करेगा।

सिंह - गुरु की अनुकूलता होने से संतानसुख, संतान की उन्नति होगी। साथ ही पत्नी पक्ष से लाभ, भाग्य, धर्म मे रुचि बढ़ेगी।

कन्या - गुरु चतुर्थ वर्ष भर रहने से पारिवारिक अशांति घरेलू सुखों में कमी रहेगी। भूमि, मकान, ज्यादाद संबन्धित विवाद सामने आ सकते है। वाहन सावधानी से चलाए किसी से वे-वजह बहस न करें।

तुला - तृतीय गुरु अनकूल सफलता देगा। यात्राओं से लाभ,भाई-बहिनों की उन्नति होंगी । साथ ही पराक्रम में वृद्घि होगी साथ ही पड़ोसियों से उलझन का भी योग रहेगा।

वृश्चिक - द्वितीय गुरु सुख- समृद्घि देगा। साथ ही परिवार में मंगल कार्य होंगे व आर्थिक हालात में सुधार होंगे। सामाजिक क्षेत्र में सम्मान मिलेगा।

धनु - गुरु धनु राशि में प्रवेश कर जाएगा। इससे कुछ कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन मनोबल बढ़ेगा और पुरानी उलझनों का हल निकलेगा।

मकर - गुरु 12 वें रहेंगे। जो कि खर्च, बंधन आर्थिक परेशानियां देंगे। यात्राओं में धन को सावधानी से रखें। धार्मिक लम्बी यात्रा संभव है।

कुंभ - लाभ के गुरु रहेंगे। इससे प्रत्येक कार्य में लाभ ,सफलता, सम्मान,सन्तान की उन्नति होगी। साथ ही धर्मिक क्षेत्र में रुचि रहेगी । धन,प्रतिष्ठा बढ़ेंगी उत्तम सुख का लाभ रहेगा।

मीन - आप की राशि के स्वामी गुरु है। 5 नवंबर से गुरु शुभ स्थान पर भ्रमण पर रहेंगे। इससे पद प्रतिष्ठा बढ़ेगी कोई नया काम से भाग्य उन्नति होगी। धर्म कर्म में रुचि रहेगी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top