Home > धर्म > धर्म दर्शन > श्रीकृष्ण की प्रिय राधारानी का है आज जन्मोत्सव

श्रीकृष्ण की प्रिय राधारानी का है आज जन्मोत्सव

श्रीकृष्ण की प्रिय राधारानी का है आज जन्मोत्सव

ग्वालियर। भगवान श्रीकृष्ण की प्रिय राधारानी का जन्मोत्सव शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जा रहा है। सनातन धर्म में भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि श्री राधाष्टमी के नाम से प्रसिद्ध है। शास्त्रों में इस तिथि को श्री राधाजी का प्राकट्य दिवस माना गया है। श्री राधाजी वृषभानु की यज्ञ भूमि से प्रकट हुई थीं।

ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी के 15 दिन बाद उनकी दैवीय प्रेयसी राधारानी का जन्मोत्सव भाद्रमास के शुक्लपक्ष अष्टमी को मनाया जाता है। स्कंदपुराण, गर्ग संहिता के अनुसार इस दिन बरसाना गांव में राधारानी ने वृषभानु एवं माता कीर्ति के घर जन्म लिया था। भगवान श्रीकृष्ण की आराधना करने वाले भक्त सबसे अधिक राधारानी को पूजते हैं।

मान्यता है कि राधाष्टमी के दिन व्रत करने से सभी तीर्थो के बराबर पुण्य मिलता है। जिस भक्त की राधा नाम में निष्ठा है उसे वृंदावानधाम में मोक्ष की प्राप्ति होती है।

सूर्योदय से रात्रि 8 बजकर 43 मिनट तक रहेगी राधाष्टमी

भाद्रपद पक्ष मास के शुक्लपक्ष की अष्टमी से महालक्ष्मी व्रत का भी प्रारंभ होगा। जो कि आश्विन के कृष्णपक्ष की अष्टमी यानि 16 दिन तक चलेगा।

यह है राधारानी के 32 नाम

1 मुदूल भाषिनी, 2 सौंदर्य रापिणी, 3 परम पुनीता 4 नित्य नवनीता, 5 रास बिलासिनी 6 दिव्य सुवासिनी 7 नवल किशोरी 8 अति ही भोरी 9 कंचन विर्णी 10 नित्य सुखकरणी 11सुमग भामिनी 12 जगत स्वामिनी 13 कृष्ण आनन्दिनी 14 आंनद कंन्दिनी 15 प्रेममूर्ति 16 रास अपूर्ति 17 नवल ब्रज राजेश्वरी 18 नित्य राजेश्वरी 19 कोमल अंगिनी 20 कृष्ण संगिनी 21 कृपा वर्षिणी, 22 परम हर्षिणी 23 सिंधु स्वरूपा 24 परम अनूपा 25 परम हितकारी, 26 कृष्ण सुखकरिणी, 27 निकुंज स्वामिनी, 28 नवल भामिनी, 29 रास राजेश्वरी, 30 स्वयं परमेश्वरी, 31 सकल गुणीता, 32 रसिकिनी पुनीता ।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top