Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > युवा फोरम ने 'रुद्रा' और 'टेक-2' नाटकों किया मंचन

युवा फोरम ने 'रुद्रा' और 'टेक-2' नाटकों किया मंचन

युवा फोरम ने रुद्रा और टेक-2 नाटकों किया मंचन

नई दिल्ली। '20वें भारत रंग महोत्सव' में माहौल या परिवेश के अनुकूल हो रहा अभिनय इस महोत्सव की एक विशेषता है और यह थिएटर के महोत्‍सव में विभिन्‍न रंगों को जोड़ता है। इसी क्रम में महोत्सव में हर रोज की तरह नवें दिन युवा फोरम ने 'रुद्रा' और 'टेक-2' नाटक की प्रस्तुति दी।

पीजीडीएवी कॉलेज के नुक्कड़ नाटक सोसाइटी द्वारा दी गई 'रुद्रा' नाटक में भारतीय मीडिया के सलाह देने वाले दृष्टिकोण पर हमला करने की कोशिश की गई है। पत्रकारिता को किस नैतिकता पर काम करना चाहिए? आपके द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा की जा रही अगली खबर की वैधता क्या है, इन सब विषयों को इस नाटक की माध्यम से समझाया गया।

केशव महाविद्यालय के एक थिएटर सोसायटी शेड्स द्वारा किया गया 'टेक-2' नाटक, जीवन के बारे में बात करता है, जहां जीवन का प्रत्येक दिन एक बहुत ही विशेष और अलग अर्थ रखता है। जीवन उतार-चढ़ाव के माध्यम से चलता है, इसलिए उत्‍कर्ष और अवसाद प्राकृतिक रूप से सुंदर हैं, लेकिन जीवन के प्रति हमारे भीतर की अस्पष्टता ने हमारे अंदर 'पीड़ा' का एक दृष्टिकोण विकसित किया है, जो हमारे दर्द को समाप्त करने का एक साधन है। क्या जीवन की सुंदरता, परिस्थितियों की मांग को झेलने का अकेला कारण नहीं हो सकता है? क्या ये स्थितियां हमेशा के लिए बनी रहेंगी? क्या ऐसी अस्थायी समस्याओं के लिए एक स्थायी समाधान सही विकल्प है? इन सभी प्रश्नों को को इसमें उठाया गया।

इसके अलावा सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में घूमर, सुआ नृत्‍य और फाग नृत्‍य का भी प्रदर्शन हुआ।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top