Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > नड्डा भाजपा के नए कार्यकारी अध्यक्ष

नड्डा भाजपा के नए कार्यकारी अध्यक्ष

नड्डा भाजपा के नए कार्यकारी अध्यक्ष

दिल्ली। भाजपा संसदीय बोर्ड ने सोमवार को एक और महत्वपूर्ण फैसला करते हुए जगत प्रकाश नड्डा को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बोर्ड की बैठक के बाद आधिकारिक रूप से इस निर्णय की पुष्टि की। वैसे नड्डा को मंत्रिपरिषद में जगह नहीं मिलने के बाद से ही यह माना जा रहा था कि कि देर-सबेर उन्हें ही अध्यक्ष पद से नवाजा जाएगा। लेकिन, यह निर्णय इतनी जल्दी होगा, इसका शायद ही किसी ने अंदाजा लगाया हो। हालांकि, नड्डा अभी बतौर कार्यकारी अध्यक्ष पद पर कार्य करेंगे। पार्टी में निर्णय प्रक्रिया और कार्यसंचालन तो अमित शाह को ही करना है।

अमित शाह ने अपनी व्यस्त दिनचर्या के मद्देनजर संसदीय बोर्ड से आग्रह किया था कि गृह मंत्रालय जैसे पूर्णकालिक जिम्मेदारी के चलते वे ईमानदारी से काम नहीं कर पाएंगे। न तो गृह मंत्रालय का और न ही संगठन का। तभी संसदीय बोर्ड ने उनके आग्रह को स्वीकारते हुए उनकी सहायता के लिए नड्डा को उनके साथ बतौर कार्यकारी अध्यक्ष लगाए जाने का निर्णय किया। ऐसे समय में भला नड्डा से अच्छा दूसरा विकल्प कौन हो सकता था? पार्टी के अब तक के इतिहास में अमित शाह सबसे सफल अध्यक्ष रहे हैं। उनके नेतृत्व में पार्टी ने बड़ी से बड़ी सफलता अर्जित की। उन्होंने उत्तर प्रदेश जैसे जातिवाद में बुने तानेबाने वाले राज्य में भी पार्टी की लगातार दो बार विजय पताका फहराई। अब नड्डा से उम्मीद है कि वे भी शाह का अनुसरण करते हुए पार्टी के लिए नए और अनूठे आयाम स्थापित कराएंगे। क्योंकि, आज नही ंतो कल कार्यकारी से पूर्णकालिक अध्यक्ष उन्हें ही बनना है।

जेपी नड्डा पिछली मोदी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे। वे इस बार के लोकसभा में उत्तर प्रदेश के प्रभारी रहे थे। उत्तर प्रदेश में भाजपा ने 62 सीटें जीतकर अपने बड़प्पन का दबदबा बरकारार रखा है। मोदी-शाह की जोड़ी के भरोसे के प्रतीक नड्डा वैसे तो संगठन में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का निर्वहन करते रहे हैं। छात्र जीवन में ही उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़कर अपनी सांगठनिक क्षमता का लोहा मनवाया था। नरेंद्र मोदी के प्रचारक रहते हिमाचल प्रदेश में नड्डा उन्हें काफी प्रभावित करते रहे थे। मोदी का राजनीति में जैसे-जैसे कद बढ़ता गया नड्डा की प्रतिभा भी राष्टीय स्तर पर प्रखर होकर उभरती गई।

संसदीय बोर्ड की बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा केंद्रीय सड़क व भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, गृहमंत्री अमित शाह, थावरचंद्र गहलोत, पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आदि मौजूद थे। दोपहर तक इस बात की कही भनक भी नहीं थी कि भाजपा में सोमवार को एक और बड़ा चैकाने वाला निर्णय होने वाला है। केवल भाजपा का सदस्यता अभियान का ही कार्यक्रम था जिसे अमित शाह को आगे बढ़ाना था। लेकिन, देर शाम तक नड्डा का एक और नाम जोड़ दिया गया, जो शायद भाजपा के इतिहास में एक नई इबारत लिखता नजर आएगा।

Tags:    

Amit Senger ( 55 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top