Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने जमाया कब्जा

दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने जमाया कब्जा

लोकसभा सीट के लिए आप पार्टी नहीं खोल पाई अपना खाता

दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा ने जमाया कब्जा

नई दिल्ली। दिल्ली की जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात रखते हुए सातों की सात सीटें उनकी झोली में डाल दीं। भले ही गुस्सा उम्मीदवारों पर था। बड़े कार्य के लिए स्थानीय और आपसी झगड़े भूलने होते हैं। दिल्ली की जनता ने यही समझ दिखाते हुए मोदी को ताज पहनाने के लिए मोदी के नाम पर वोट किया। मोदी ने रामलीला मैदान में दिल्ली की जनता से अपील की थी कि आपका एक-एक वोट मोदी के खाते में जाएगा। दिल्ली की जनता के फैसले अब बड़े कार्य के लिए निर्णायक साबित होने लगे हैं। तभी इस बार उसने सातों उम्मीदवारों को पिछले बार की तुलना में और अच्छे मार्जिन से जिताया है। पूर्वी दिल्ली की पिच पर गंभीर ने एक छोर संभालते हुए शानदार जीत बैटिंग की। उनके पड़ोसी ठीक बगल में उत्तर-पूर्वी दिल्ली से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने साढ़े तीन लाख मतों से जीत दर्ज की। खरबूजे पर खरबूजे का रंग कैसे चढ़ता है यह दिखाया बाकी उम्मीदवारों ने। जहां नई दिल्ली से मीनाक्षी लेखी, उत्तर पश्चिमी दिल्ली से गायक हंस राजहंस, पश्चिमी दिल्ली से प्रवेश वर्मा और दक्षिणी दिल्ली से रमेश बिधूड़ी ने भी दर्ज की। हारने वाले निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के हैं जबकि आप पार्टी के उम्मीदवार तीसरे स्थान पर जा चहुंचे।

गंभीर को छह लाख मत मिले। 54 प्रतिशत मत हासिल करते हुए उन्होंने जीत का झंडा गाड़ा और कांग्रेस को अरविंदर सिंह लवली को हराया। जीत के बाद गंभीर ने क्रिकेट की भाषा में ट्वीट किया '' न तो लवली कवर ड्राइव और न ही कोई आतिशी बल्लेबाजी''। उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस बार साढ़े तीन लाख मत हासिल करते हुए कांग्रेस की दिग्गज नेत्री और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को पराजित किया। इस बार पूर्वी दिल्ली के सीमापुरी विधानसभा में कार्यकर्ताओं ने बेजोड़ मेहनत की। तभी तिवारी को सीमापुरी विधानसभा सीट ने अकेले 20 हजार कर बढ़त दिलाई। यहां से पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता हरीशंकर ढ़कोलिया और संगीता ढ़कोलिया ने कार्यकर्ताओं में जान फूंक दी। घर-घर जाकर लोगों से संवाद बनाया और मोदी को जिताने की अपील की।

हरीशंकर ढ़कोलिया कहते हैें मोदी को जिताने के लिए कार्यकर्ताओं ने एड़ी-चोटी का जोर लगाया।

नई दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार मीनाक्षी लेखी ने फिर इस बार सबको चैकाया। वैसे तो वे टिकट को लेकर खूब चर्चा में रही थी। पर्चा दाखिल करने से ठीक एक दिन पहले उन्होंने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाते हुए टिकट हासिल किया था। चुनाव में कमाल करते हुए उन्होंने टीम लेखी की तरह काम करते हुए विजय हासिल की। कांग्रेस के अजय माकन से लेखी लगभग डेढ़ लाख मतों से जीती। अकेले पटेल नगर विधानसभा से उन्होंने 33 हजार की विशाल बढ़त हासिल की। टीम लेखी में यहां से वरिष्ठ व कर्मठ कार्यकर्ता संजीव भटनागर, अशोक गौतम, पूर्णिमा विद्वार्थी और जतिन निश्चल कहते हैं, अंत तक लेखी ने टीम वर्क के रूप में काम करते हुए मोदी के सपने को सकार किया।

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से भाजपा के उम्मीदवार हसंराज हंस ने जीत दर्ज की है उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी ने आप पार्टी के गुग्गन सिंह को हराया। पश्चिमी दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार प्रवेश वर्मा और दक्षिण दिल्ली से रमेश बिधूड़ी ने क्रमशः कांग्रेस के महाबल मिश्रा और आप पार्टी के राघव चड्ढ़ा को पराजित किया।

दिल्ली में सुरक्षा के थे कड़े इंतजाम

बुधवार को ईवीएम पर हल्ला बोलने के बाद विपक्षी दलों की मंशा को भांपते हुए सुरक्षा कारणों के चलते मतगणना के दिन सुबह से ही अर्द्धसैनिक दलों को लगाया गया था। सीआरपीएफ, पैरामिलिट्री, दिल्ली पुलिस को जगह-जगह चहलकदमी करते देखा गया। पूर्वी दिल्ली के नंद नगरी इलाके में हाई प्रोफाइल सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे। सुबह जैसे ही जल्दी-जल्दी रूझान आने लगे तो लोग सड़कों पर ही अपने मोबाइल पर मतगणना देखने लगे। मोदी को बढ़त मिलने की सूचना के बाद ही वे गंतव्य के लिए आगे बढ़े। इस बीच पुलिसकर्मियों ने गश्त बढ़ाई। ताकि किसी तरह का कोई विवाद न हो पाए। मतगणना केन्द्रों पर भी उम्मीदवारों के एजेंट एक साथ हंसते-बतियाते नजर आए तो खाना भी साथ किया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top