Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > आयुष्मान भारत योजना केवल निजी बीमा कंपनियों और अस्पतालों के लिए

आयुष्मान भारत योजना केवल निजी बीमा कंपनियों और अस्पतालों के लिए

आयुष्मान भारत योजना केवल निजी बीमा कंपनियों और अस्पतालों के लिए

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शनिवार को केन्द्र सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजना 'आयुष्मान भारत' पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इसका ज्यादातर लाभ निजी अस्पतालों और निजी बीमा कंपनियों को मिल रहा है। पार्टी के सत्ता में आने पर आम जनता को स्वास्थ्य सुरक्षा का अधिकार दिया जाएगा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि आयुष्मान भारत में दावा किया गया है कि 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख तक का बीमा मिलेगा। यह दावा सही नहीं है। राज्यों में पहले ही कई ऐसी योजनाएं चल रही हैं जिनके माध्यम से 11 करोड़ लोगों को बीमा सुविधा मिल रही है। उन्होंने कहा कि योजना के माध्यम से ज्यादातर लाभ निजी अस्पतालों और निजी बीमा कंपनियों को होने जा रहा है। इससे आम आदमी को ज्यादा लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा से जुड़ा अधिकार दिया जाएगा। यह सारा काम सार्वजनिक क्षेत्र के अस्पतालों के माध्यम से होगा, जिससे लाखों नौकरियां पैदा होंगी।

रमेश ने कहा कि भारत की स्वास्थ्य चुनौतियों का समाधान आयुष्मान भारत नहीं है। देश को स्वास्थ्य सुरक्षा की जरूरत है न की स्वास्थ्य बीमा की। उन्होंने कहा कि सरकार वर्तमान में आयुष्मान योजना के तहत जितनी प्रीमियम राशी दे रही है उससे केवल 50 हजार रुपये तक का ही इलाज संभव है। वहीं योजना केवल अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में ही लाभ देती है, जबकि आम आदमी का स्वास्थ्य से जुड़ा ज्यादातर खर्च भर्ती होने से पहले होता है।

रमेश ने कहा कि आयुष्मान भारत में सरकार की ओर से पांच तरह की धोखाधड़ी का जिक्र है। इसमें कोई अगर दो बार से ज्यादा लिप्त पाया जाता है तो उस कंपनी को प्रतिबंद्धित कर दिया जाएगा। उन्होंने पूछा कि सरकार ने ऐसा प्रावधान क्यों किया है। इसके अलावा इसमें मधुमेह और उच्च रक्त चाप को शामिल नहीं किया गया है, जिससे ज्यादातर लोग परेशान हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7036 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top