Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > विभाग के सीईओ पर लगे गंभीर आरोप, स्मार्ट सिटी महकमे का कमाल, नगर निगम के कार्यों पर लगा रहा है अपनी मुहर

विभाग के सीईओ पर लगे गंभीर आरोप, स्मार्ट सिटी महकमे का कमाल, नगर निगम के कार्यों पर लगा रहा है अपनी मुहर

शहर में स्मार्ट सिटी योजना के तहत शुरू होने वाले कार्यों को लेकर अभी से उंगलियां उठने लगी हैं।

विभाग के सीईओ पर लगे गंभीर आरोप, स्मार्ट सिटी महकमे का कमाल, नगर निगम के कार्यों पर लगा रहा है अपनी मुहर

परिषद से लेकर विधानसभा तक गूंजा स्मार्ट सिटी का मामला

ग्वालियर | शहर में स्मार्ट सिटी योजना के तहत शुरू होने वाले कार्यों को लेकर अभी से उंगलियां उठने लगी हैं। स्मार्ट सिटी योजना वाला विभाग योजना की राशि कागजों में ठिकाने लगाने के लिए पार्षद निधि से कराए गए कार्यों पर रंगाई-पुताई कर अपने नाम की मुहर लगाने का काम कर रहा है। सोमवार को स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले कार्यों का मामला नगर निगम परिषद से लेकर विधानसभा तक गूंज गया। अब शहर के स्मार्ट बनाने के काम को शासन ने भी ंगंभीरता से लेना शुरू कर दिया। काम में देरी को लेकर अब सीईओ पर भी गाज गिर सकती है।

स्मार्ट सिटी योजना में 2 करोड़ 40 लाख से लेडीज पार्क कार्यों में लीपा-पोती को लेकर परिषद में हंगामा खड़ा हो गया। साथ ही विपक्षी पार्षदों ने घालमेल के कार्यों को लेकर पार्षद उपासना यादव के मुद्दा उठाने पर चर्चा की अनदेखी के चलते सभापति राकेश माहौर की आसंदी घेर ली। जिसके बाद सभापति ने बैठक स्थगित कर दी। स्मार्ट सिटी योजना के तहत लेडीज पार्क में भ्रष्टाचार का मामला सामने आने के बाद निगमायुक्त विनोद शर्मा ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। अधीक्षण यंत्री प्रदीप चतुर्वेदी, मुख्य समन्वय अधिकारी प्रेम पचौरी व स्मार्ट सिटी अधीक्षण यंत्री की कमेटी से कार्यों की जांच कराना तय किया है। साथ ही जांच रिपोर्ट आते ही विधानसभा भेजी जाएगी।

विपक्षी पार्षदों ने स्मार्ट सिटी को लेकर किया हंगामा

शहर के वार्ड क्रमांक 41 की पार्षद उपासना यादव के पति संजय यादव को स्मार्ट सिटी सीईओ महीप तेजस्वी द्वारा काम बंद करने पर पुलिस में मामला दर्ज करने की बात कही थी। जिस पर सोमवार को परिषद की बैठक में क्षेत्रीय पार्षद के साथ विपक्षी पार्षदों ने निगम परिषद में हंगामा किया। साथ ही निगम परिषद में स्मार्ट सिटी के तहत लेडीज पार्क के कार्यों को लेकर चर्चा कराने का मुद्दा उठाया। लेकिन इस मुद्दे पर चर्चा नहीं हो पाई।

विपक्षी पार्षदों ने कहा, अधिकारी नहीं उठाते फोन

परिषद की बैठक में विपक्ष ने निगम अधिकारियों को निशाने पर लेते हुए कहा कि नगर निगम के अधिकारी फोन नहीं उठाते। नगर निगम के पानी के जो टैंकर चल रहे हंै वह निजी लोगों को बेचे जा रहे हैं। विपक्ष ने पुरानी जांचों की रिपोर्ट न आने, पाइप लाइन डाले जाने के टेंडर खुलने के बाद सड़क निर्माण कराने जैसे अनेक मुद्दों पर परिषद की बैठक में उठाए। साथ ही अधिकारियों को पूरे कार्यों में अनदेखी करने के आरोप लगाए।

निगमायुक्त बोले, 41 दिन का पानी है हमारे पास

परिषद की बैठक में निगमायुक्त विनोद शर्मा ने बताया कि तिघरा में मात्र 41 दिन का पानी बचा हुआ है। ऐसे में पेयजल संकट और गहरा सकता है। उन्होंने बताया कि पेयजल दुरुपयोग के चलते 1.10 लाख का अर्थदंड व 148 मोटर पंप जप्त कर चुके हैं। निगमायुक्त ने बताया कि तीन चरणों में लगभग 17 सौ से ज्यादा वाटर हार्वेस्टिंग कराने के चलते 500 का टेंडर लगा दिया गया है और 70 स्थानों को चिन्हित कर वाटर रिचार्जिंग पाइंट तैयार किए जाने हैं।

आर्थिक सहायता मुद्दे पर नहीं हुई चर्चा

पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता सहित तत्कालीन आयुक्त एनबीएस राजपूत, वेदप्रकाश, विनोद शर्मा व नेता प्रतिपक्ष शम्मी शर्मा व एमआईसी सदस्य अंजली रायजादा द्वारा वर्ष 2010 से 2015 तक स्वीकृत आर्थिक सहायता प्रकरणों पर सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा नहीं हो पाई।

जो काम हो चुके हैं, उन पर लगाई आपत्ति

- पार्षद निधि से जो काम हो चुके हैं, उन पर ठेकेदार द्वारा दुबारा कार्य किया जा रहा है।

- योगा सभागार की जर्जर चादरों पर रंग करने की लीपा-पोती कर फॉल सीलिंग लगाने का मामला।

- मंदिर के सामने वाले रास्ते को ऊंचा कर उसे दबाने का काम हो चुका है।

- ठेकेदारी फर्म द्वारा खुद काम न कर पेटी क्रेशर संचालक को कार्य देने पर

कांग्रेस पार्षद दल तय करेगा रणनीति

नेता प्रतिपक्ष कृष्णराव दीक्षित ने स्वदेश से चर्चा के दौरान बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत जो कार्य किए जा रहे हैं, उनमें भ्रष्टाचार हो रहा है। यह मामला विधानसभा में भी पहुंच गया है। उन्होंने बताया कि जल्द ही कांग्रेस पार्षद दल की बैठक आयोजित की जाएगी। जिसमें आगे की रणनीति तैयार की जाएगी। साथ ही तीन सदस्सीय इंजीनियरों की कमेटी बनाकर दल भेजा जाएगा।

इनका कहना है

पार्क का मामला विधानसभा में उठा है। हमने तीन अधिकारियों की कमेटी बनाई है। जो मंगलवार को लेडीज पार्क में हो रहे कार्यों का निरीक्षण करेगी।

विनोद शर्मा

निगमायुक्त






Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top