Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > थर्ड रेलवे लाइन के नाम से धौलपुर से झांसी के बीच बिछने लगी तीसरी लाइन की पटरियां

थर्ड रेलवे लाइन के नाम से धौलपुर से झांसी के बीच बिछने लगी तीसरी लाइन की पटरियां

-थर्ड लाइन के लिए चंबल नदी पर बनेगा एक किमी का नया पुल

थर्ड रेलवे लाइन के नाम से धौलपुर से झांसी के बीच बिछने लगी तीसरी लाइन की पटरियां

ग्वालियर। झांसी से धौलपुर के बीच तीसरी रेल लाइन के काम ने रफ्तार पकड़ ली है। शायद ही कारण है कि अब धौलपुर से पटरियां बिछाने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। साथ ही चंबल नदी पर तीसरे पुल का निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया गया है। हालांकि 15 सितंबर को चंबल में बाढ़ आने पर पिलर ब्लॉक बहने से काम में अड़चन आई थी, लेकिन पुन: काम ने रफ्तार पकड़ ली है। तीसरी रेल लाइन के लिए मथुरा से झांसी तक के 270 किलोमीटर के नए बन रहे ट्रैक पर लगभग 10 रेल पुल बनेंगे। झांसी से धौलपुर के बीच 100 किलोमीटर दूरी में समतलीकरण का काम भी तेजी से चल रहा है। अब पटरियां

बिछाने का काम शुरू हो चुका है।

झांसी से मथुरा के बीच 273 किलोमीटर में तीसरी रेल लाइन डालने की मंजूरी मिली है। इस काम को झांसी से धौलपुर और धौलपुर से मथुरा के बीच बांटा गया है। इसमें रेल विकास निगम लिमिटेड ने झांसी से आंतरी के बीच नोएडा की केपीटीआई, आंतरी से धौलपुर के बीच गुडग़ांव की जीआर इंफ्रा और धौलपुर से मथुरा के बीच दिल्ली की एसटीएस कंपनी को काम सौंपा गया है। रेल विकास निगम लिमिटेड के अधिकारियों की मानें तो पुल बनने में वक्त लगता है। इसलिए इस काम को ज्यादा तेजी से किया जा रहा है। 2021 तक सबसे पहले झांसी- धौलपुर के बीच डबरा से आंतरी और बिरलानगर से बानमोर स्टेशन के बीच तीसरा ट्रैक तैयार करने की तैयारी चल रही है। तीसरी लाइन डलने की तैयारी के साथ ही धौलपुर स्टेशन पर भी नए निर्माण शुरू हो गए हैं।

बारिश के कारा पुल बनने का रूका कार्य

यहां बता दे कि चंबल नदी पर पहले से ही रेलवे पुल बना हुआ है, और उस पर से ट्रेने गुजरती भी है। लेकिन तीसरी लान के लिए वहां पर पुल का निर्माण शुरू किया गया था। लेकिन बारिश के दौरान जलस्तर बढऩे के कारण काम रोक दिया गया था। लेकिन रेल विकास निगम के सूत्रों की मानें तो यह रेल ब्रिज आगरा के पास क्वारी नदी से शुरू होकर पार्वती, चंबल, आसन, सांक, स्वर्णरेखा, मुरार नदी, कोटा, सिंध व झांसी के पास कहने वाली बरसाती नदी पर बनेंगे। इसके लिए योजना बनाई जा रही है।

चौथी रेल लाइन का काम 2023 से होगा शुरू

उत्तर मध्य रेलवे के इस ट्रैक पर देश का सर्वाधिक रेल यातायात गुजरता है। जिसकी वजह से अब तीसरी रेल लाइन का निर्माण कार्य अत्यंत जरूरी हो गया था। अब इसी सेक्शन में चौथी रेल लाइन के कार्य को भी रेल मंत्रालय ने संभवत: मंजूरी दे दी है, जिसका काम 2023 से शुरू होना है। तीसरी रेल लाइन पर शुरूआत में गुडस व एक्सप्रेस ट्रेनें निकाली जाएंगी। इसके बाद इसके तकनीकी परीक्षण कर सुपरफास्ट व शताब्दी जैसी कम स्टापेज वाली ट्रेनों के निकालने की योजना है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top