Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > आईडी हुई लॉक, फैलोशिप से वंचित हो सकते हैं शोधार्थी

आईडी हुई लॉक, फैलोशिप से वंचित हो सकते हैं शोधार्थी

आईडी हुई लॉक, फैलोशिप से वंचित हो सकते हैं शोधार्थी

अधर में अटका फैलोशिप का काम छात्रों की बढ़ी चिंता

ग्वालियर, न.सं.

जीवाजी विश्वविद्यालय में फैलोशिप की जानकारी भेजने वाली आईडी लॉक हो जाने से फैलोशिप का काम अधर में अटक गया है। अगर यह आईडी 15 मार्च तक ठीक नहीं हुई तो छात्रों के खाते में फैलोशिप का पैसा नहीं आएगा। जब आईडी लॉक होने की जानकारी कुलपति को लगी तो उन्होंने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगा दी, साथ ही निर्देश दिए कि आईडी को हर हाल में जल्द से जल्द ठीक कराएं।

जीवाजी विश्वविद्यालय के विकास विभाग से फैलोशिप की जानकारी एक आईडी और पासवार्ड के माध्यम से यूजीसी की ओर भेजी जाती है। उसी के आधार पर यूजीसी विद्यार्थियों के खाते में फैलोशिप की राशि भेजता है। पूर्व में फैलोशिप की जानकारी भेजने का काम सर्विस प्रोवाइडर ब्रजेश राणा करते थे, लेकिन डेढ़ महीने पहले ही उन्हें कार्य से हटा दिया था। इसके बाद भी ब्रजेश यह सोच कर कार्य करते रहे कि उन्हें दोबारा से कार्य पर रख लिया जाएगा। जब कुलसचिव डॉ. आई.के. मंसूृरी ने एक बार फिर से आदेश जारी कर दिया कि हटाए हुए सर्विस प्रोवाइडरों को विवि से वेतन नहीं दिया जाएगा। यह आदेश मिलते ही सर्विस प्रोवाइडर ने विवि में आना बंद कर दिया और वह यूजीसी के आईडी पासवार्ड एस.डी. शर्मा को सौंप गए। श्री शर्मा ने यह आईडी और पासवार्ड कम्प्यूटर पर कार्य करने के लिए आए सर्विस प्रोवाइडर हेमंत को बताए, लेकिन हेमंत ने यूजीसी के आईडी और पासवार्ड गलत डाल दिए, जिससे आईडी लॉक हो गई। इस कारण यूजीसी को भेजे जाने वाली जानकारी अधर में अटक गई है। दूसरी आईडी और पासवार्ड बनवाने के लिए एस.डी. शर्मा और हेमंत दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।

उप और सहायक कुलसचिव में तकरार

जब कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने उप कुलसचिव डॉ. राजीव मिश्रा को इस मामले में फटकार लगाई तो उन्होंने सर्विस प्रोवाइडर ब्रजेश राणा पर मामला दर्ज कराने की सलाह दी। जब इसकी जानकारी सहायक कुलसचिव सतेन्द्र तेवतिया को लगी तो वह कुलसचिव डॉ. आई.के. मंसूरी के पास पहुंच गए। उन्होंने कहा कि किसी भी हाल में ब्रजेश पर मामला दर्ज नहीं होना चाहिए। इसको लेकर दोनों अधिकारियों में तकरार भी हुई।

पहले स्थानांतरण बाद में किया निरस्त

उप कुलसचिव डॉ. मिश्रा ने अपने स्तर पर कुछ कर्मचारियों को इधर से उधर किया थ। स्थानांतरण सूची के अनुसार विकास चतुर्वेदी परीक्षा विभाग करेक्शन शाखा, श्रीमती क्षमा बैजल परीक्षा विभाग उपाधि शाखा, सुनील चिड़ार गोपनीय विभाग मेडिकल करेक्शन सेल, रविन्द्र वास्केल गोपनीय विभाग प्रोफेशनल शाखा, प्रमोद कटारे परीक्षा विभाग करेक्शन सेल, अमितराज मरावी उप कुलसचिव परीक्षा-गोपनीय कार्यालय, श्रीमती मोनिका मित्तल प्रभारी छात्र सहायता केन्द्र, नीरज बाथम परीक्षा विभाग बीएससी फायनल, निर्मल यादव परीक्षा विभाग बीए भाग प्रथम, सुनील त्रिपाठी गोपनीय विभाग मेडिकल शाखा, संतोष बघेल को गोपनीय विभाग बीएससी प्रथम वर्ष पर किया। इस स्थानांतरण सूची को कुलसचिव ने निरस्त कर दिया है।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top