Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > चेम्बर के सात प्रत्याशियों को आठ नोटिस

चेम्बर के सात प्रत्याशियों को आठ नोटिस

चेम्बर के सात प्रत्याशियों को आठ नोटिस

अरविन्द ने कॉकटेल और भोज पार्टियों के लिए लिखा पत्र

ग्वालियर, न.सं.

मध्य प्रदेश चेम्बर ऑफ कॉमर्स के चुनाव में आदर्श चुनाव आचार संहिता का लगातार उल्लंघन हो रहा है। इसे लेकर चुनाव अधिकारी अशोक विजयवर्गीय एवं संयुक्त निर्वाचन अधिकारी के.जी. दीक्षित ने दोनों हाउसों के सात प्रत्याशियों को आठ नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। इनमें से एक प्रत्याशी को दो नोटिस दिए गए हैं। वहीं एक प्रत्याशी को दिए नोटिस में स्पष्ट कहा गया है कि क्यों न आपका नामांकन निरस्त कर दिया जाए। उधर जांच समिति सदस्य अरविंद अग्रवाल ने इस मामले में कार्यवाई नहीं होने पर सवालिया निशान लगाते हुए पत्र लिखकर कहा है कि प्रत्याशियों द्वारा लगातार कॉकटेल एवं भोज पार्टियां दी जा रही हैं किन्तु कार्यवाई नहीं होने से इनमें दिन प्रतिदिन बढ़ोत्तरी हो रही है।

सूत्रों ने बताया कि पिछले दिनों क्रिएटिव हाउस द्वारा होटल रीजेंसी स्क्वेयर में आयोजित की गई हाई टी पार्टी को लेकर शिकायत मिली थी। इसके बाद पांच मार्च को एक प्रत्याशी के भाई की विवाह की वर्षगांठ पर आयोजित बड़े जश्न की भी शिकायत आई थी। फिर एक प्रत्याशी की कार पर पोस्टर लगे होने की शिकायत पर जाँच हुई थी। जाँच समिति के सदस्य अरविंद अग्रवाल ने पहले ही इन शिकायतों की जांच रिपोर्ट चुनाव अधिकारी को सौंप दी थी, बाद में दूसरे सदस्य विष्णु प्रसाद गर्ग ने भी तीन शिकायतों पर अपनी रिपोर्ट दी थी। इन रिपोर्टों के आधार पर चुनाव अधिकारी ने क्रिएटिव हाउस के सभी छह प्रत्याशियों को, जिसमें एक प्रत्याशी को दो नोटिस एवं व्हाइट हाउस के एक प्रत्याशी को नोटिस जारी किए हैं। व्हाइट हाउस के प्रत्याशी को तो सीधा यह नोटिस दिया गया है कि क्यों न आपका चुनाव निरस्त कर दिया जाए। इनमें से कुछ प्रत्याशियों के जवाब भी आ गए हैं। इस पूरे विवादास्पद मामले में एक -दो दिन के भीतर चुनाव अधिकारी कोई बड़ा निर्णय ले सकते हैं। दूसरी ओर जाँच सदस्य अरविन्द अग्रवाल द्वारा चुनाव अधिकारी को लिखी चिट्ठी बेहद चर्चा में है। क्योंकि उन्होंने चिट्ठी में साफ लिखा है कि चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों द्वारा आचार संहिता का उल्लंघन कर कॉकटेल एवं भोज पार्टियां दी जा रही हैं। कार्यवाई नहीं होने से इनमें बढ़ोत्तरी हो रही है। उन्होंने कहा है कि मेरे कार्यकाल में बड़ी मेहनत के बाद कार्यकारिणी समिति और साधारण सभा ने सर्वसम्मति से आचार संहिता लगाई थी ताकि एक साधारण सदस्य भी अपनी योग्यता अनुसार बिना खर्च किए चुनाव लड़ सके। इसकी प्रशंसा हुई थी और 113 वर्ष पुराने चेम्बर के इतिहास में पिछले कुछ चुनाव में जो छवि बिगड़ी थी, खासकर पिछले चुनाव में छवि पर न मिटने वाला दाग लगा था, अत: मतदान में कुछ दिन शेष रहते आपसे विशेष अनुरोध है कि आपने जो भी निर्णय लिए हैं, उसको तुरंत समाचार माध्यमों के जरिए प्रसारित कराएं। क्योंकि आम लोगों में यह धारणा पैदा हो रही है कि आचार संहिता केवल दिखाने के लिए लगाई गई थी।

समूह 10 का विवाद गहराया

समूह क्रमांक 10 सोना-चांदी थोक व्यवसाईयों का है। इसमें पांच सदस्य मनोज गोयल, अमित जैन, लक्ष्मण बंसल, दीपक जैन एवं पदमचंद जैन कार्यकारिणी के लिए खड़े हुए थे। जिन्होंने तीन मार्च को आपसी सहमति से यह लिखकर दिया था कि हम में से दो सदस्य चुनाव लडऩे को तैयार नहीं हैं। अत: शेष बचे तीन सदस्यों को निर्वाचित घोषित किए जाएं। इस आशय का पत्र आने के एक दो दिन बाद ही दीपक जैन ने आपत्ति दर्ज करा दी कि वे उपरोक्त सहमति से सहमत नहीं है। अत: चुनाव कराया जाए। श्री जैन की इस आपत्ति से चुनाव अधिकारी तनाव में आ गए और उन्होंने मतपत्र छपवाकर इस समूह में चुनाव कराने का निर्णय लिया है। यह मामला विवाद का कारण बन रहा है।

पहुँची दो शिकायतें

चुनाव अधिकारी के पास सोमवार को तीन अलग-अलग शिकायतें पहुँची हैं जिसमें से पुरूषोत्तम गुप्ता द्वारा की गई शिकायत में सहायक निर्वाचन अधिकारी की नियुक्ति पर सवाल उठाया है। शिकायत में कहा गया है कि चेम्बर के संविधान में चेम्बर कार्यालय सचिव को ही सहायक निर्वाचन अधिकारी बनाया जा सकता है। लेकिन संविधान के विपरीत जाकर यह काम किया गया है। दूसरी शिकायत वरिष्ठ सदस्य रामनिवास अग्रवाल द्वारा की गई है जिसमें कार्यकारिणी समिति के निर्विरोध चुने गए सदस्यों की सूची मांगे जाने पर सहायक निर्वाचन अधिकारी अरविन्द गौड द्वारा यह कहकर इंकार कर दिया गया कि यह सूची सूचना पटल पर लगी है उसका फोटो खींच लें। जबकि निर्वाचन परिशिष्ठ की धारा 24 में स्पष्ट उल्लेख है कि निर्वाचन संबंधी समस्त घोषणाएं एवं सूचनाएं जो सूचना पटल पर चस्पा हैं उन्हें पांच रुपए प्रति देकर प्राप्त किया जा सकता है। अत: भेदभाव करने वाले अधिकारी को हटाया जाए।


Naveen ( 1446 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top