Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > उपाध्यक्ष पद पर पारस जैन का पर्चा विवादों में!

उपाध्यक्ष पद पर पारस जैन का पर्चा विवादों में!

ग्वालियर, न.सं.

व्हाइट हाउस से चेम्बर के चुनाव में उपाध्यक्ष पद पर पर्चा दाखिल करने वाले शहर के चर्चित व्यापारी पारस जैन विवादों में आ गए हैं। उनके द्वारा अपने नाम के आगे मुरार की जगह मित्तल लगाना भारी पड़ रहा है, क्योंकि छोटी-मोटी त्रुटि होने पर चुनाव अधिकारी द्वारा 21 दिग्गज व्यापारियों के कार्यकारिणी समिति के नामांकन निरस्त कर दिए गए हैं, जिससे लग रहा था कि पारस जैन को उनकी गलती का परिणाम भुगतना पड़ सकता है। किन्तु चुनाव अधिकारी उनके द्वारा भरे गए नामांकन फार्म को दिखाने की बजाए उन्हें क्लीन चिट दे रहे हैं, जिससे लग रहा है कि वे एक हाउस के दबाव में हैं।

क्रिएटिव हाउस उनके इस व्यवहार पर आक्रोशित है, क्योंकि खेरिज सोना चांदी व्यवासायी संघ के समूह क्रं. 11/80 में अधिकृत प्रतिनिधि का नाम पारस जैन (मुरार) लिखा है। जबकि नामांकन पत्र में सिर्फ पारस जैन लिखा है। जबकि मित्तल लगा हुआ नाम सूचना पटल पर चस्पा हो गया। इसी गलती पर क्रिएटिव हाउस ने रविवार शाम को चार बजे चुनाव अधिकारी का घेराव कर शिकायत दर्ज कराई तो उन्होंने तत्काल फार्म दिखाने से मना कर दिया और कहा कि डेढ़-दो घण्टे बाद निर्णय से अवगत करा दिया जाएगा। इसके बाद निर्णय पारस जैन के पक्ष में दिए जाने पर चेम्बर चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल उठने लगे हैं। यहां बता दें कि पारस जैन, जैन के नाते चुनाव मैदान में उतरे हैं, लेकिन अपने गोत्र मित्तल के जरिए अग्रवालों के मत भी चाहते हैं। इसके साथ ही कुछ पदाधिकारियों के चेम्बर की एक-एक गतिविधि सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से अपने मोबाइल में देखने का भंडाफोड़ भी हुआ है। जिसे नेट कनेक्शन बंद कर हटा दिया गया।

शिकायतों का सिलसिला जारी:- क्रिएटिव हाउस द्वारा रीजेंसी स्क्वायर में की गई पार्टी और पांच मार्च को एक पदाधिकारी पद के प्रत्याशी की पार्टी को लेकर शिकायत के बाद जांच कर्ता अरविन्द अग्रवाल ने अपनी रिपोर्ट चुनाव अधिकारी को दी है, जिसमें एक पार्टी के बारे छहों प्रत्याशियों के अलग-अलग बयान की बात आई है। वहीं दूसरे जांच कर्ता विष्णु प्रसाद गर्ग ने चुनाव अधिकारी से संसोधित संविधान की प्रति मांगी है, साथ ही शिकायतकर्ताओं के साक्षात्कार की बात कही है। इसी बीच क्रिएटिव हाउस के पुरुषोत्तम गुप्ता ने दो शिकायतें की हैं, जिसमें पुराना हाईकोर्ट के सामने व्हाइट हाउस के कार्यालय में रात्रिकालीन भोज और व्हाइट हाउस के सर्वेसर्वा के होटल दस डाउनिंग स्ट्रीट ऐथेना सिटी सेंटर में चेम्बर सदस्यों के लिए तीन मार्च को रात्रि आठ बजे रात्रिकालीन भोज कराने की शिकायत की है। यद्यपि अरविन्द अग्रवाल का कहना है कि वे अपने होटल की सीसीटीवी फुटेज देने को तैयार हैं, जिसमें स्पष्ट हो जाएगा कि पार्टी किसकी है?

इनका कहना है

'पारस जैन द्वारा जो नामांकन पत्र जमा किया गया था, उसमें उनके नाम के आगे मित्तल नहीं लगा था। अत: क्रिएटिव हाउस की आपत्ति खारिज कर दी गई है।'

अशोक विजयवर्गीय

निर्वाचन अधिकारी, चेम्बर

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top