Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > अस्पताल के बाद अब ओवरब्रिज के उद्घाटन पर विवाद

अस्पताल के बाद अब ओवरब्रिज के उद्घाटन पर विवाद

अस्पताल के बाद अब ओवरब्रिज के उद्घाटन पर विवाद

सिंधिया कल करेंगे शिलान्यास और उद्घाटन, भाजपा करेगी विरोध

ग्वालियर, न.सं.

जयारोग्य चिकित्सालय समूह के एक हजार बिस्तरों के अस्पताल का भूमिपूजन हो जाने के बाद दोबारा पांच मार्च को भूमिपूजन कराने के मामले में जहां भाजपा ने विरोध जताना शुरू कर दिया है वहीं अब एक और नया विवाद सामने आया है, जिसमें पांच मार्च को ही आधे अधूरे बने मानसिंह ओवरब्रिज का भी उद्घाटन करने की तैयारी कर ली गई है। इस तरह एक घण्टे के दौरान दो स्थानों पर उद्घाटन और शिलान्यास किए जाना हैं, जिसका भाजपा विरोध कर रही है। ऐसे में भाजपा और कांगे्रस दोनों दलों में टकराव की स्थिति बन गई है।

उल्लेखनीय है कि एक हजार बिस्तर वाले अस्पताल के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं तत्कालीन चिकित्सा शिक्षा मंत्री अनूप मिश्रा ने भूमिपूजन किया था। चूंकि प्रदेश में अब कांग्रेस सत्ता में है और लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने वाली है। इसे देखते हुए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अस्पताल और मानसिंह ओवरब्रिज का श्रेय लेने का प्रयास कर रहे हैं। जल्दबाजी में पांच मार्च को कार्यक्रम भी बना लिया गया है। अस्पताल के मामले में सांसद अनूप मिश्रा एवं महापौर विवेक शेजवलकर सहित अन्य भाजपा नेता बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर विरोध और सडक़ों पर निकलने की बात कह चुके हैं। इसी बीच रविवार को श्री सिंधिया के मीडिया प्रभारी डॉ. केशव पाण्डे ने उनके ग्वालियर आगमन का विधिवत कार्यक्रम जारी किया है, जिसमें पांच मार्च को सुबह शताब्दी से आगमन के बाद 9.45 बजे मानसिंह ओवरब्रिज का उद्घाटन भी शामिल है। इसके बाद वे एक हजार बिस्तरों के अस्पताल के लिए 10.45 बजे शिलान्यास करेंगे। इन दोनों कार्यक्रमों के कारण शहर की राजनीति अचानक गर्मा गई है क्योंकि जहां भाजपा विरोध में सडक़ों पर आएगी वहीं शहर जिला कांग्रेस द्वारा चार मार्च को कांग्रेस कार्यालय में साधारण सभा की बैठक बुलाई गई है, जिसमें सिंधिया के कार्यक्रमों का भाजपा द्वारा विरोध को लेकर रणनीति बनाई जाएगी। वहीं भाजपा भी चार मार्च को दोपहर 12 बजे मोदी हाउस पर बैठक करने जा रही है।

दो गार्डरों के बीच बनेगी दीवार


लोक निर्माण विभाग ब्रिज शाखा के इंजीनियर प्लान बना रहे हैं। महाराजा मानसिंह चौराहे की तरफ वाले हिस्से में दो गार्डरों के बीच गैप है। पुल से वाहन लेकर निकलने वाले चालक अनियंत्रित होकर पुल के नीचे नहीं गिरें। इसके लिए दो गार्डरों के बीच एक छोटी दीवार खड़ी की जाएगी, साथ ही यहां पर ट्राइंगल आकार में 27 मीटर लम्बी जगह में एक हरियाली वाला स्थान बनाया जाएगा।

कंपन से आएगी परेशानी

पड़ाव आरओबी के दूसरे धनुषाकार हिस्से को अपनी जगह पर पहुंचने में तीन-चार दिन लग सकते हैं। इसके बाद इस पर आरसीसी का काम होगा। रेलवे अधिकारियों की मानें तो पहले धनुषाकार हिस्से के ऊपर से जब वाहन निकलेंगे तो दूसरे हिस्से में बाइब्रेशन होगा।

रंग-रोगन का काम पूरा

पड़ाव आरओबी के एक हिस्से को शुरू करने के लिए दोनों ही विभागों ने तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए इस हिस्से के ऊपर रेलवे के सामान को हटाने का काम शुरू कर रंग-रोगन भी कर दिया गया है, साथ ही लोक निर्माण विभाग ने भी लाइट के साथ अपनी अन्य व्यवस्थाओं को पूरा करने का काम शुरू कर दिया है।

इनका कहना है

मानसिंह ओवरब्रिज के एक हिस्से को शुरू करने के लिए हमने रेलवे को पत्र लिखा है क्योंकि दूसरे हिस्से में अभी काम चल रहा है, जिससे इस पुल को अभी शुरू नहीं किया जा सकता है। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पांच मार्च को उद्घाटन करने वाले हैं। इसकी हमें कोई जानकारी नहीं है।

मोहर सिंह जादौन

कार्यपालन यंत्री (ब्रिज) लोक निर्माण विभाग

ओवरब्रिज पर एक तरफ के यातायात को शुरू करने की योजना थी, लेकिन दूसरे हिस्से पर जो कार्य होना है, उससे पहले वाला हिस्सा प्रभावित हो सकता है। अभी दूसरे हिस्से के पुल को पूरी तरह शिफ्ट नहीं किया गया है। इस कार्य में पांच से छह दिन लग सकते हैं। दूसरे हिस्से का पुल पूरी तरह शिफ्ट होते ही एक तरफ का यातायात शुरू किया जाएगा।

मनोज कुमार सिंह

जनसंपर्क अधिकारी रेल मंडल झांसी

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top