Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > गोद में बच्च और हाथ में ड्रिप थामे भटकता रहा पिता

गोद में बच्च और हाथ में ड्रिप थामे भटकता रहा पिता

गोद में बच्च और हाथ में ड्रिप थामे भटकता रहा पिता

ग्वालियर, न.सं.

जयारोग्य चिकित्सालय में व्याप्त तमाम अव्यवस्थाओं में चिकित्सा शिक्षा मंत्री की फटकार के बाद भी कोई सुधार नहीं हो रहा है। अस्पताल में पहुंच रहे मरीजों को उपचार से लेकर जांच के लिए घंटों परेशान होना पड़ रहा है। इसी कड़ी अस्पताल की लचर व्यवस्थाओं के चलते एक पिता हाथ में ड्रिप की बोतल और गोद में अपने बच्चे को थामे भटकता रहा, लेकिन उसकी मदद के लिए अस्पताल का कोई भी कर्मचारी सामने नहीं आया। काफी देर परेशान होने के बाद बच्चे को पिता ने आकस्मिक चिकित्सा में भर्ती कराया।

महाराजपुरा निवासी राजीव सेन का छह वर्षीय बेटा शनिवार को खेलते समय गिर गया, जिससे उसके सिर में गम्भीर चोटें आईं। पिता बच्चे की हालत देख आनन-फानन में उसे जयारोग्य अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां चिकित्सकों ने बच्चे की मरहम-पट्टी करते हुए एक ड्रिप लगा दी और पिता के हाथ में ड्रिप की बोतल पकड़ाते हुए सीटी स्कैन की जांच कराने के लिए कहा। इस पर राजीव के साथ मौजूद उसके मित्र ने हाथ में ड्रिप पकड़ ली और पिता बच्चे को गोद में लेकर जांच कराने के लिए निकला, लेकिन उसे किसी ने स्ट्रेचर उपलब्ध नहीं कराया। इतना ही नहीं पिता को यह जनकारी नहीं थी कि सीटी स्कैन की जांच कहां होती है, जिस कारण वह बच्चे को गोद में लेकर घूमता रहा। इधर लहू-लुहान स्थिति में बच्चे को देख राहगीरों ने राजीव से परेशानी पूछी और उसे सीटी स्कैन जांच केन्द्र तक पहुंचाया। जहां बच्चे की सीटी स्कैन कराने के बाद उसे आकस्मिक चिकित्सा में भर्ती कराया गया। यह स्थिति तब है जब विगत् दिनों चिकित्सा शिक्षा मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने अस्पताल अधीक्षक को फटकार लगाते हुए कहा था कि मरीज को अस्पताल के कर्मचारियों द्वारा ही स्टे्रचर पर ले जाना चाहिए, लेकिन मरीजों को कर्मचारी तो दूर स्ट्रेचर तक नसीब नहीं हो रहा है।

Naveen ( 1337 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top