Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > लूट की रकम से खरीदा मकान, लुटेरे पकड़े

लूट की रकम से खरीदा मकान, लुटेरे पकड़े

लूट की रकम से खरीदा मकान, लुटेरे पकड़े

लुटेरों से अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ जारी

ग्वालियर, न.सं.

लाखों की लूटपाट करने के बाद लूटी गई रकम से मकान खरीदकर मौज-मस्ती करने वाले दो शातिर लुटेरों को अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। लुटेरों ने शहर के विभिन्न थाना क्षेत्रों में चेन लूट की वारदातों को अंजाम दिया था। पुलिस बदमाशों से लूट की अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है।

अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डे ने बताया कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के अंतर्गत जून 2017 में दस लाख रुपए की लूट के आरोपी नदी पार टाल के हैं। सूचना मिलते ही अपराध शाखा ने वीरू पुत्र भूपसिंह राणा निवासी सिद्धेश्वर नगर नदी पार टाल और राहुल पुत्र चतुर्भुज इन्दौलिया निवासी शिवनगर गली नम्बर-2 नदी पार टाल को दबोच लिया। पूछताछ के दौरान पकड़े गए दोनों लुटेरों ने मुनीम से दस लाख रुपए लूटना स्वीकार किया। वीरू के हिस्से में आए चार लाख रुपए से उसने सिद्धेश्वर नगर में ही मकान खरीद लिया था। मुनीम के साथ लूट की वारदात को वीरू व राहुल सहित एक अन्य बदमाश ने अंजाम दिया था। एक आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। बताया गया है कि वीरू कुछ दिन पहले स्मैक पीकर पुलिस के मुखबिर से गपशप कर रहा था।

जैसे ही उसने नशे में लूट की कहानी उसे बताई तो मुखबिर ने पुलिस को बता दिया। अपराध शाखा को जैसे ही लूट के बारे में पता चला तो वह सक्रिय हो गई और लाखों रुपए की लूट का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को दबोच लिया। अब पुलिस वीरू के मकान की कुर्की करने की कार्रवाई कर रही है। पकड़े गए लुटेरों को रिमांड पर लेकर अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ की जा रही है।

चेन लूट की सात वारदातें स्वीकारीं

नशे में वीरू का मुंह क्या खुला पुलिस की बल्ले-बल्ले हो गई। वीरू व राहुल ने विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र में दो, मुरार में तीन, थाटीपुर में एक और महाराजपुरा में एक चेन लूट की वारदात करना स्वीकार किया है। पुलिस को उम्मीद है कि इन शातिर लुटेरों से अन्य वारदातों का खुलासा हो सकता है।

सीसीटीवी फुटेज में आए बदमाश

पुलिस वीरू व राहुल को पकडक़र थाने लाई और जब उनके घटना वाले दिन के सीसीटीवी फुटेज देखे तो दोनों लुटेरों से मिलान हो गया। बाद में लुटेरों ने मुनीम के साथ लूट करना भी स्वीकार कर लिया। नदी पार टाल पर अन्य राज्यों से वारदात करके आए बदमाश भी चैन काट रहे हैं। यहां घनी बस्ती में उनको कोई पूछने वाला नहीं है और गलत काम आसानी से होते रहते हैं।

Naveen ( 0 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top