Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > किसानों की मेहनत का सही मूल्य देने के लिए सतत कार्रवाई : आर्य

किसानों की मेहनत का सही मूल्य देने के लिए सतत कार्रवाई : आर्य

किसानों की मेहनत का सही मूल्य देने के लिए सतत कार्रवाई : आर्य

किसानों की मेहनत का सही मूल्य देने के लिए सतत कार्रवाई : आर्य

भिण्ड,
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में मप्र सरकार प्रतिबद्ध है। प्रदेश सरकार किसान के हर संकट में साथ है। किसानों की हर मेहनत का सही मूल्य देने के लिए सतत कार्रवाई की जाएगी। उक्त उदगार नर्मदा घाटी विकास राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार लालसिंह आर्य ने मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के अंतर्गत जिले के 10 हजार 285 किसानों द्वारा 876291.7 क्विंटल गेहूं के विकय की प्रोत्सहन राशि 265 रुपए प्रति क्विवंटल के मान से 23 करोड़ 14 लाख रुपए किसानों के बैंक खातों में डालने के लिए जगदीश मैरिज गार्डन भिण्ड पर आयोजित जिला स्तरीय किसान सम्मेलन के समारोह में व्यक्त किए। इस अवसर पर विधायक नरेन्द्र सिंह कुशवाह, भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव कांकर, जिलाधीश आशीष कुमार गुप्ता, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष केपी सिंह भदौरिया, मेहगांव मण्डी अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह नरवरिया, जनपद अध्यक्ष उर्मिला देवी, नपा उपाध्यक्ष रामनरेश शर्मा, पार्टी पदाधिकारी अवधेश सिंह कुशवाह, सतेन्द्र सिंह भदौरिया, गुरुदेव नरवरिया, नमोनारायण दीक्षित, रामलखन बघेल, आकाश शर्मा, अतिरिक्त जिलाधीश टीएन सिंह उपस्थित थे।

सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री लालसिंह आर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना में रवी विपणन वर्ष 2018-19 के दौरान जिले के खरीद केन्द्रों पर गेहूं उपार्जन के अंतर्गत 12 हजार 885 किसानों ने पंजीयन कराया था। जिनमें से 10 हजार 285 किसानों के द्वारा 1735 रुपए प्रति क्विंटल के मान से समर्थन मूल्य पर अपनी गेहूं फसल 876291.7 क्विंटल 26 मई तक बेची गई थी। किसानों द्वारा विक्रय गेहूं फसल की प्रोत्साहन राशि 265 रुपए प्रति क्विंटल 23 करोड़ 14 लाख सीधे उनके बैंक खातों में ट्रांसफर कर दी गई है। उन्होंने कहा कि किसान को उनके द्वारा बेचे गए गेहूं पर 1735 रुपए प्रति क्विंटल और प्रोत्साहन राशि 265 रुपए प्रति क्विंटल मिलाकर दो हजार रुपए प्रति क्विंटल गेहूं को बेचने की सुविधा मिली है।

जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष केपी सिंह भदौरिया ने जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना के अंतर्गत सोसाइटी के कालातीत कृषकां द्वारा मूल्य धन का 50 प्रतिशत जमा करने पर पूरा व्याज माफ तथा मूलधन का शेष 50 प्रतिशत जमा करने पर पुन: ऋण प्राप्त करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई हैं यह सुविधा 15 जून से पहले कालातीत ऋण का आधा मूलधन जमा कर शून्य प्रतिशत पर पुन: ऋण प्राप्त किया जा सकता है। भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव कांकर ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसान के बेटा हैं। उनके द्वारा किसानों की चिंता की जाकर किसान हित में कई योजनाएं संचालित की गई हैं।

साथ ही किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं।
मण्डी अध्यक्ष मेहगांव देवेन्द्र नरवरिया ने कहा कि मप्र सरकार द्वारा किसानों द्वारा उपार्जन केन्द्रों पर 1735 रुपए प्रति क्विंटल बेची गई गेहूं की फसल पर 265 रुपए प्रोत्साहन राशि आज किसानों के खाते में डाली गई है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार से किसान को अब दो हजार रुपए प्रति क्विंटल के मान से गेहूं बेचने में सुविधा प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने किसानी की चिंता करते हुए उनके हितों की दिशा में कई प्रकार की योजनाएं संचालित की हैं। जिनका लाभ किसान भाई उठाएं।

Tags:    

Vikas Yadav ( 120 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top