Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > रेल प्रबंधक बोले तुम क्या यहां से आंखें बंद करके निकलते हो...

रेल प्रबंधक बोले तुम क्या यहां से आंखें बंद करके निकलते हो...

रेल प्रबंधक बोले तुम क्या यहां से आंखें बंद करके निकलते हो...

ग्वालियर/वेब डेस्क। मुख्य द्वार पर इतनी गंदगी पड़ी है, क्या देखते हो तुम। मुझे ये बताओ तुम यहां पर कितने दिन से नहीं आए? अगर आए भी हो तो क्या आंखें बंद करके निकलते हो? यह बात बुधवार को झांसी मंडल के रेल प्रबंधक संदीप माथुर ने स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक चार के बाहर गंदगी देख सीएचआई बलराम मीणा को फटकार लगाते हुए कही। उन्होंने कहा कि अगर तुम यहां पर रोज आते तो यहां पर गंदगी नहीं हाती। इस पर सीएचआई ने कहा कि ऑटो वाले गंदगी करते हैं तो डीआरएम श्री माथुर ने कहा कि अगर कोई भी गंदगी करे तो जुर्माना लगाओ, लेकिन तुम कमरे से बाहर ही नहीं निकलते हो। बुधवार को श्री माथुर समता एक्सप्रेस से ग्वालियर स्टेशन पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने माल गोदाम पर अधिकारियों के साथ काफी देर तक मंथन किया। तभी वहां मौजूद दो अधिकारियों द्वारा माल गोदाम खाली होने के बाद होने वाले कार्यों का नक्शा अलग-अलग डीआरएम श्री माथुर को दिखाया गया। इस पर वह बोले कि कब तक नक्शा लेकर घूमोगे। मुझे मुख्य योजना बताओ।

मामला बिगड़ता देख स्टेशन प्रबंधक पी.पी. चौबे ने बताया कि यहां वर्तमान में एक वॉशिंग पिट है। हमें कम से कम तीन वॉशिंग पिट की आवश्यकता है। इसके वाद श्री माथुर प्लेटफार्म क्रमांक एक पर बने वेटिंग रूम में जा पहुंचे, जहां गंदगी देख उन्होंने एक बार फिर सीएचआई को तलब किया। उन्होंने कहा कि तुमको यह टूटे शीशे नहीं दिखते। तभी सीएचआई ने कहा कि सर बदलने के लिए कहा है। उन्होंने वहां की गंदगी को देखकर कहा कि कम से कम सफाई को ठीक से रखो। इस मौके पर सीनियर डीसीएम जितेन्द्र कुमार, मुख्य वाणिज्य निरीक्षक मुख्यालय अनिल श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top