Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देगा रेलवे, आरक्षण के चार्ट की व्यवस्था होगी खत्म

डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देगा रेलवे, आरक्षण के चार्ट की व्यवस्था होगी खत्म

झांसी मंडल ने मुख्यालय भेजा ढाई करोड़ का प्रोजेक्ट

डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देगा रेलवे, आरक्षण के चार्ट की व्यवस्था होगी खत्म

ग्वालियर,न.सं.। रेलवे अब डिजिटल इंडिया को बढ़ावा दे रहा है। रेलवे में वर्षों पुरानी आरक्षण चार्ट व्यवस्था खत्म होगी। डिजिटल इण्डिया को लेकर ट्रेन आरक्षण चार्ट की जगह स्टेशन पर डिजिटल प्लाज्मा स्क्रीन लगाए जाएंगे। इन स्क्रीन पर यात्री से जुड़ी पूरी जानकारी मौजूद होगी। इसके लिये मण्डल रेल प्रशासन ने करीब ढाई करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट मुख्यायल भेजा है। इसमें डिजिटल प्लाज्मा स्क्रीन के अलावा आउटडेटेड हो चुके रेलवे स्टेशन के ट्रेन इंडीकेशन बोर्ड एवं कोच इंडीकेशन बोर्ड भी बदलकर आधुनिक लगाए जाएंगे।

पहले चरण में मण्डल के झांसी एवं ग्वालियर स्टेशन में इसे लागू किया जाएगा। रेलवे पेपरलैस प्रणाली पद्धति पर तेजी से कार्य कर रहा है। मण्डल रेलवे में पेपरलैस कार्यालय बनाने के लिए पूर्व में ही ई-ऑफिस पर कार्य शुरू हो गया है। रेलवे ने देश ए-1, ए और बी कैटेगरी के सभी स्टेशनों से गुजरने वाली ट्रेनों के रिजर्व कोच पर चार्ट न लगाए जाने का आदेश जारी पहले ही जारी कर दिए कर दिए थे। इस कदम के पीछे उद्देश्य दक्षिण-पश्चिम रेलवे, बैंगलरू डिविजन की कागज का इस्तेमाल बंद करने की पहल को आगे बढ़ाना है।

अब झांसी रेल मण्डल भी रिजर्वेशन चार्ट की जगह डिजिटल प्लाज्मा स्क्रीन लगाएगी। जिसमें यात्रियों से सम्बंधित सभी जानकारियां मुहैया कराई जाएगी। इसके अलावा अभी यात्रियों की सुविधा के लिये रेलवे स्टेशन पर लगे ट्रेन इंडीकेशन बोर्ड व प्लेटफार्म पर लगे कोच इंडीकेशन बोर्ड को रिपलेस किया जाएगा। उनकी जगह पर आधुनिक डिजिटल इंडीकेशन बोर्ड लगाए जाएंगे। रेलवे ने झांसी एवं ग्वालियर रेलवे स्टेशन के लिये करीब ढाई करोड़ की लागत का प्रोजेक्ट तैयार कर मुख्यालय भेज दिया है।

डिजिटल डिसप्ले बंद होने से परेशान यात्री

रेलवे स्टेशन पर डिजिटल डिस्प्ले बोर्ड खराब होने के कारण प्लेटफॉर्म पर खड़े यात्री ट्रेन का रनिंग स्टेटस जानने के लिए सिर्फ अनाउंसमेंट के भरोसे हैं। डिस्प्ले बोर्ड बंद होने के कारण यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर लगे अनाउंसमेंट सिस्टम के पास खड़ा होना पड़ता है। ट्रेन के आने का अनाउंसमेंट और प्लेटफॉर्म की जानकारी लगने पर ऐन मौके पर यात्रियों के बीच भगदड़ जैसी स्थिति बन जाती है।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top