Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > छह राज्यों के रेलवे अधिकारियों ने अपराध रोकने किया मंथन

छह राज्यों के रेलवे अधिकारियों ने अपराध रोकने किया मंथन

ट्रेनों में हो रहे अपराध पर लगाम लगाने के लिए रेलवे ने खास योजना तैयार की है।

छह राज्यों के रेलवे अधिकारियों ने अपराध रोकने किया मंथन

अधिकारियों ने माना, हाईटेक हुए ट्रेन लुटेरे

एडीजीपी रेलवे ने अफसरों को दिए सामंजस्य बैठाने के निर्देश

ग्वालियर । ट्रेनों में हो रहे अपराध पर लगाम लगाने के लिए रेलवे ने खास योजना तैयार की है। बुधवार को अपर पुलिस महानिदेशक वीके मौर्य ने छह राज्यों के राजकीय रेलवे पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्होंने अपराध के बदलते तरीकों पर चर्चा की और उससे निपटने के लिए योजनाएं तैयार की। आगरा में आयोजित बैठक में दूसरे राज्यों से आए अधिकारियों के साथ अपराध के तरीकों पर सुझाव और अपराधियों पर कार्रवाई को हर थाने में सामंजस्य रखने के निर्देश दिए। बैठक में सीमावर्ती राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और उत्तराखंड के जीआरपी के अधिकारियों ने भी भाग लिया। ट्रेन में होने वाले अपराधों को रोकने के विषय पर यह बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में पांच राज्यों की जीआरपी में आपसी समन्वय बेहतर करने पर चर्चा की गई।

एक अपराधी दूसरे राज्य में आकर करता है अपराध

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में ट्रेनों का आवागमन बड़े पैमाने पर होता है। एक राज्य का अपराधी दूसरे राज्य में अपराध करता है, दूसरे राज्यों के अपराधी यूपी में काम करते हैं। लेकिन अब सूचना मिलने पर जल्द एफआईआर दर्ज करने और जल्द से जल्द सूचना उपलब्ध कराकर अपराधों को रोकने के प्रयास किए जाएंगे।

स्टेशनों पर भी बढ़ाई जा रही सुरक्षा

बैठक में स्टेशनों की सुरक्षा और यात्रियों के साथ ही बाहरी लोगों पर नजर रखने पर भी विचार विमर्श किया गया। रेलवे पुलिस अपराध की रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर योजना तैयार कर रही है, ट्रेन और स्टेशन पर संदिग्ध व्यक्तियों को देखते ही उनसे पूछताछ करने के साथ ही सख्ती से पेश आ रही है।

अपराधी भी कराते हैं आरक्षण

एसी बोगी में यात्रियों के साथ यात्रा कर यात्रियों को निशाना बनाने पर पुलिस महानिदेशक रेलवे वीके मौर्या का कहना है कि अपराधी हाईटेक हो रहे हैं। जनरल और स्लीपर कोच में यात्रा करने वालों को टारगेट नहीं किया जा रहा है। अब ऐसे यात्रियों को निशाना बनाया जा रहा है जो एसी कोच में यात्रा करते हैं। अपराधी भी उनके साथ आरक्षण कराकर यात्रा करते हैं और वारदातों को अंजाम देते हैं।




Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top