Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > दिवालिया होने की कगार पर बजाज शोरूम गुप्ता एंड संस, मालिक पहुंचे न्यायालय

दिवालिया होने की कगार पर बजाज शोरूम गुप्ता एंड संस, मालिक पहुंचे न्यायालय

मालिक सुनील गुप्ता ने 12 करोड़ का कर्जा और संपत्ति बताई 6 करोड़, 25 नवंबर को होगी सुनवाई

दिवालिया होने की कगार पर बजाज शोरूम गुप्ता एंड संस, मालिक पहुंचे न्यायालय

विशेष प्रतिनिधि। गुप्ता एंड संस बजाज एजेंसी पड़ाव के संचालक सुनील गुप्ता ने भारी कर्ज से परेशान होकर अपने आप को दिवालिया घोषित कराने के लिए न्यायालय की शरण ली है। जिला एवं सत्र न्यायालय में दिए गए आवेदन में उन्होंने अपने आप को लगभग 12 करोड़ 25 लाख का कर्जदार और व्यवसाय ठप हो जाने से स्वयं के पास मात्र 6 करोड़ 21 लाख की संपत्ति बताई है। इस मामले में नवम अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डॉ कुलदीप कुमार जैन के जहां 25 नवंबर को सुनवाई होगी।

जानकारी के मुताबिक 19 सितंबर 2019 को सुनील गुप्ता ने अपनी तीन फर्मों सुनील गुप्ता पुत्र स्व सुरेश चंद गुप्ता, मैसर्स एसजी एंड संस एचयूएफ और मैसेर्स सुनील गुप्ता एंड संस एचयूएफ के नाम से जिला एवं सत्र न्यायालय में धारा 6,7 एवं 10 प्रांतीय दीवाला अधिनियम 1920 के तहत आवेदन प्रस्तुत किया है। जिसमें कहा गया है कि उनके पिता स्व सुरेश चंद गुप्ता द्वारा इन फर्मों के जरिए ब्याज पर रुपए का लेन-देन किया जाता था।इस दौरान उनके द्वारा बीएसके होम्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के जरिए रियल स्टेट में भी भागीदारी की गई।किंतु उनके पिता का 10 दिसंबर 2014 को निधन हो जाने के बाद लेनदारों द्वारा आवेदक से एक साथ अपने रुपए वापस मांगे जाने लगे, जिसपर उन्होंने कुछ लोगों का ब्याज चुकाया। इस बीच व्यवसाय में निरंतर घाटा होने के कारण अपर्याप्त पूंजी बचने से व्यवसाय बंद हो गया। यकायक सभी के द्वारा एक साथ पैसा मांगे जाने से उनकी संपत्तियां की उचित कीमत नहीं लग पा रही जिससे वह शौध्य राशियों का भुगतान करने में असमर्थ है।

यह बताईं दैनदारियां

श्री गुप्ता द्वारा तीन फर्मों पर क्रमशःएक करोड़ बीस लाख,आठ करोड़ 80 लाख और दो करोड़ 34 लाख कुल 12 करोड़,25 लाख,64 हजार 070 रुपए की देनदारी बताई गई है। जिसमें अचल संपत्ति जड़ेरूआ कला भिंड रोड पर भूखंड 1. 20 करोड़, ग्राम चिरवाई में भूमि 1 करोड़ रुपए और उज्जैन में भूमि एक करोड़ 20 लाख रुपए की दर्शाई है।

180 लेनदार ओं की सूची पेश की

श्री गुप्ता द्वारा अपने आवेदन में लगभग 180 लेनदारों की सूची पेश की गई है।जिसमें शहर की कई जानी-मानी हस्तियां और अन्य व्यापारी शामिल हैं। सूची के मुताबिक अशोक गोयल 95 लाख,यशकुमार गोयल 1.25 करोड़, मेहता 80 लाख,जीएस लीजिंग फाइनेंस प्रा लि 35 लाख,उल्लास गुप्ता 30 लाख,उत्साह गुप्ता 5 लाख, राधाकिशन खेतान 22 लाख, बलदेव अग्रवाल 1 लाख, नारायण अग्रवाल 1लाख, रामजीदास अग्रवाल 4 लाख, माधव अग्रवाल 3.50 लाख, एनडी वैश्य10 लाख, महेश गुप्ता 21 लाख, श्रीकृष्ण दास 17 लाख, राजकुमार 35 लाख, वरुण कुमार 15 लाख,संदीप वैश्य 12.50 लाख, मधुलता साबू एक लाख, मीना पांडे 20.50 लाख, राजीव अग्रवाल 23 लाख के नाम प्रमुख हैं।

लेनदार रखेंगे अपनी बात

सुनील गुप्ता को ब्याज पर पैसा देने वाले तमाम व्यापारियों को उनका पैसा चुकाए जाने की बजाय दिवालिया घोषित होने न्यायालय पहुंचने पर खलबली मच गई है। वे लोग भी अब अपने अभिभाषक के जरिए न्यायालय पहुंचकर अपनी बात रखेंगे।कुछ का यह तर्क है कि श्री गुप्ता द्वारा अपनी संपत्ति की जानकारी जानबूझकर छुपाई जा रही है और जिन संपत्तियों का आंकलन किया गया है वह काफी कम है। एक लेनदार बलदेव अग्रवाल का कहना है कि उज्जैन की जिस संपत्ति की बात की गई है, उसकी कीमत एक करोड़ से काफी अधिक है।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top