Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > भोपाल में बारिश के बाद भदभदा डैम के दो गेट खोले

भोपाल में बारिश के बाद भदभदा डैम के दो गेट खोले

भोपाल में बारिश के बाद भदभदा डैम के दो गेट खोले

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का बड़ा तालाब दो साल बाद लबालब भर गया है। शुक्रवार की रात हुई जोरदार बारिश के बाद बड़े तालाब का जलस्तर फुल टैंक लेवल यानी 1666.80 मीटर पहुंच गया है। इसके चलते शनिवार को सुबह भदभदा डैम के दो गेट खोल दिये गए हैं। डैम के गेट खोले जाने के बाद नगर निगम के अधिकारियों ने भी मोर्चा संभाल लिया है। डैम से लगे निचले इलाकों को खाली कराया जा रहा है और फायर बिग्रेड और आपदा प्रबंधन से जुड़ी सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। शनिवार सुबह गेट खुलने की सूचना मिलते ही लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है। हजारों लोग गेट खुलने के बाद का नजारा देखने पहुंच रहे हैं और सुहाने मौसम का आनंद उठा रहे हैं।

मध्यप्रदेश में बीते एक सप्ताह से जोरदार बारिश हो रही है। भोपाल में इस दौरान हुई बारिश के चलते बड़ा तालाब पूरी तरह भर गया। शुक्रवार को दोपहर 12 बजे बड़े तालाब का जलस्तर 1666.0 फीट था, जो शाम को छह बजे 1666.50 फीट तक पहुंच गया। इसके बाद रात में हुई बारिश के चलते शनिवार को तडक़े करीब तीन बजे जलस्तर जलस्तर फुल टैंक लेवल 1666.80 फीट तक पहुंच गया। इसके बाद भदभदा के गेट खोलने की तैयारियां शुरू कर दी गईं। सुबह छह बजे सायरन बजाकर लोगों को अलर्ट किया गया और शनिवार को सुबह आठ बजे गेट खोल दिए गए। इस मौके पर महापौर अलोक शर्मा और निगम के कई अधिकारी मौजूद रहे। भदभदा के गेट खुलने के नजारे को देखने को लिए सुबह से ही लोगों की काफी भीड़ उमड़ पड़ी और लोगों के आने का सिलसिला निरंतर जारी है। गेट खुलने के बाद पानी का ऐसा फव्वारा फूटा कि लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। कई लोग तो सेल्फी लेने में जुट गए। कई लोगों ने इसका वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं।

इधर, भोपाल के केरवा डैम का जलस्तर भी फुल टैंक लेवल से मात्र 0.8 मीटर नीचे है। केरवा का जल स्तर शनिवार को सुबह तक 509.11 मीटर पहुंच गया, जबकि इसका फुल टैंक लेवल 509.93 मीटर है। वहीं, कोलार डैम के जलस्तर भी शुक्रवार को करीब ढाई मीटर बढ़ा। इस डैम का जलस्तर 451.80 मीटर पहुंच गया है, जबिक इसका फुल टैंक लेवर 462.20 मीटर है।मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटे में कम बारिश होने की संभावना जताई है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक उदय सरवटे के अनुसार, मानसूनी सिस्टम आगे बढ़ गया है, इसलिए अगले दो दिन तक प्रदेश में छिटपुट बारिश होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि आगामी 12 अगस्त तक बंगाल की खाड़ी में पुन: नया सिस्टम बन रहा है, इसलिए आगामी 14 अगस्त तक फिर से प्रदेश में भारी बारिश का दौर शुरू होने की संभावना रहेगी।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले 12 जुलाई 2016 को तालाब पूर्ण जलभराव पर पहुंचा था और भदभदा के गेट खोले गए थे। उस दौरान एफटीएल से पौन फीट पहले गेट खोल दिए थे। बड़े तालाब से आधे भोपाल में पेयजल की सप्लाई होती है। इसलिए इसको पूरा भरने के लिए नगर निगम एवं जिला प्रशासन ने काफी प्रयास किये। इस वर्ष मानसून भी मेहरबान रहा। अब तक यहां 33 दिनों ही पानी गिरा और बरसात का कोटा पूरा हो गया। भोपाल में सामान्य बरसात का कोटा 645.2 मिमी है, जबकि अब तक यहां 978.8 मिमी बारिश हो चुकी है, जो सामान्य से 333.6 मिमी अधिक है। मौसम विभाग के मुताबिक जून में न के बराबर बारिश हुई, लेकिन जुलाई-अगस्त में हुई जोरदार बारिश ने सीजन का कोटा पूरा कर दिया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top