Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > शहीद के परिवार को सम्मान निधि के रूप में मिलेंगे एक करोड़

शहीद के परिवार को सम्मान निधि के रूप में मिलेंगे एक करोड़

वाहन चैकिंग के दौरान कार से रौंद दिए गए शहीद एएसआइ अमृतलाल भिलाला का शुक्रवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

शहीद के परिवार को सम्मान निधि के रूप में मिलेंगे एक करोड़

स्वर्गीय भिलाला को राजकीय सम्मान के साथ दी अंतिम विदाई

भोपाल | वाहन चैकिंग के दौरान कार से रौंद दिए गए शहीद एएसआइ अमृतलाल भिलाला का शुक्रवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम यात्रा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ल ने शहीद के पार्थिव शरीर को कंधा दिया। इस दौरान पुलिस लाईन में आयोजित श्रंद्धाजलि सभा में पुलिसकर्मियों ने गार्ड ऑफ आनर देते हुए शहीद को अंतिम विदाई दी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सहायक उप निरीक्षक, पुलिस स्वर्गीय अमृत लाल भिलाला को शहीद का दर्जा दिया जायेगा। उनके परिजनों को सम्मान निधि स्वरूप एक करोड़ रूपये की राशि दी जाएगी। स्वर्गीय भिलाला की स्मृति में प्रतिमा की स्थापना की जायेगी। परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा दिये जाने के संबंध में भी विचार किया जायेगा। स्वर्गीय भिलाला की पत्नी मती रंभा बाई को पेंशन आदि अन्य सुविधायें नियमानुसार प्राप्त होंगी। यह बात चौहान ने आज डीआरपी लाइन नेहरू नगर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कही। पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला, संभागायुक्त कविन्द्र कियावत एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल के सदस्य इस मौके पर उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्वर्गीय भिलाला अपनी जान पर खेलते हुये कर्तव्य पालन करते हुए वीर गति को प्राप्त हुए हैं। दु:ख की इस घड़ी में परिजनों के साथ पूरा प्रदेश खड़ा है। मुख्यमंत्री ने उपचाराधीन स्वर्गीय भिलाला से अस्पताल में भेंट का उल्लेख करते हुये कहा कि उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार की जानकारी मिली थी। स्वयं स्वर्गीय भिलाला ने मुझसे अत्यंत सहजता के साथ वार्तालाप भी किया था। वे मानसिक रूप से अत्यंत मजबूत व्यक्ति थे, जिन्होंने पूरी प्रमाणिकता और परिश्रम के साथ कर्तव्य पालन किया। उन्होंने कहा कि घटना के अपराधियों को कड़ी सजा मिले, इसके लिये तत्परता के साथ कार्यवाही होगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज का सूचना क्रांति का दौर अकल्पनीय अपराधों को जन्म दे रहा है। यह चिंता और चिंतन का विषय है। उन्होंने कहा कि पुलिस अपराधों को सख्ती के साथ रोकने की रणनीति बनायेगी। चौहान ने दिवंगत आत्मा के चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित किये और परिजनों को ढ़ाढंस बंधाया। उन्होंने परम पिता परमात्मा से दिवंगत आत्मा की शांति और परिजनों को दु:ख सहन करने की क्षमता देने की प्रार्थना की। मुख्यमंत्री चौहान सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने स्वर्गीय भिलाला की अंतिम यात्रा में शामिल होकर उन्हें कंधा दिया। श्रद्धांजलि सभा के उपरांत स्वर्गीय भिलाला का पार्थिव शरीर राजकीय सम्मान के साथ उनके गृह नगर राजगढ़ के लिये रवाना हुआ। स्वर्गीय भिलाला का गत रात्रि उपचार के दौरान निधन हो गया था।

गौरतलब है कि 10 दिन पूर्व वाहन चैकिंग के दौरान कार सवार तीन युवकों को उन्होंने रोकने का प्रयास किया था। आरोपियों ने भागने के लिए भिलाला के कुचल दिया था। बीती रात इलाज के दौरान भिलाला की मौत हो गई। अब पुलिस आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को दूसरे दिन ही गिरफ्तार कर लिया था।इस दिल दहला देने वाली घटना में भिलाला बुरी तरह जख्मी हो गए थे। पैर में दो फ्रैक्चर और कंधे की हड्डी टूट गयी थी। साथ ही पीछे के हिस्से की चमड़ी और मांस उधड़ गया था। तब से एएसआई भिलाला का भोपाल के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। इस हादसे के अगले दिन कार के ड्राइवर सहित उसमें सवार 2 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया था। भिलाला 52 साल के थे।


Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top