Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > आओ नकुल संभालो विरासत 'मैं हूं तैयार'

आओ नकुल संभालो विरासत 'मैं हूं तैयार'

आओ नकुल संभालो विरासत मैं हूं तैयार

नाथ ने बेटे को सौंपी छिंदवाड़ा की कमान

भोपाल/राजनीतिक संवाददाता। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छिंदवाड़ा की अपनी राजनीतिक विरासत अपने पुत्र नकुलनाथ को सौंपने का औपचारिक ऐलान कर दिया। इसी के साथ इस बाद के कयासों पर भी विराम लग गया कि कमलनाथ द्वारा खाली की गई छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से कांग्रेस किस को उतारेगी। बता दें कि राजनीतिक गलियारों में पिछले कुछ दिनों से इस बात को लेकर अटकले चल रहीं थी कि छिंदवाड़ा सीट से कांग्रेस मुख्यमंत्री कमलनाथ की पत्नि और पुत्र में से ही किसी एक को उम्मीदवारों बनाएगी, लेकिन वह कौन अलका नाथ या नकुल नाथ ? इस बात को लेकर संशय बना हुआ था। परन्तु अब संशय का यह कोहरा छट गया है।

बेटे को सौंपी विरासत

शनिवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने गृह जिले छिंदवाड़ा पहुंचे थे। जहां उन्होंने बेटे के समर्थन में जनता से वोट अपील की। इस दौरान दोनों ने मंच भी साझा किया। कमलनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज से एक नई शुरूआत है, हमे विकास का नया इतिहास बनाना है। पहले मुझ पर 2 हजार गांवों की जिम्मेदारी थी, अब प्रदेश के 7.5 करोड़ लोगों की जिम्मेदारी है परंतु प्रदेश की जिम्मेदारी उठाते हुए भी मेरा ध्यान छिंदवाडा पर ही रहेगा। मैंने अपने जीवन के 40 साल अपने छिंदवाडा को दिये हैं और मैं अब यह जिम्मेदारी नकुल को सौंपता हूं। अब नकुल आपका काम देखेंगे। आप अब इनसे काम लीजिये मैं इनके पीछे खडा रहूंगा। नकुलनाथ के जिम्मेदारी सौंपे जाने की जिम्मेदारी की बात पर जनता ने भी अभिवादन किया वही उनके बयान पर समर्थन देते हुए नकुल ने कहा कि मैं जिम्मेदारी उठाने को तैयार हूं। जनता की सेवा करुंगा।

40 साल आपकी सेवा की

मुख्यमंत्री ने आगे कहा अब इनसे (नकुलनाथ) अपना काम कराइएगा। मैं तो पीछे रहूंगा ही, मगर इनको भी आपको सिखाना है। इनको भी मौका देना है, ताकि हम विकास का नया इतिहास बनाएं।आने वाले चुनाव में आप लोग कांग्रेस, मेरा साथ देंगे, मैंने तो 40 साल आपकी सेवा कर ली। अपनी जवानी समर्पित कर दी छिंदवाड़ा के लिए, अब यह बोझ अपने पुत्र नकुलनाथ को दे रहा हूं।

मध्यप्रदेश से कांग्रेस के पहले उम्मीवार का ऐलान

छिंदवाड़ा पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बेटे नकुलनाथ को जिले की जिम्मेदारी दी है, नाथ कहा कि मैंने अपने जीवन के 40 साल छिंदवाडा को दिये हैं। मैं अब यह जिम्मेदारी नकुल को सौंपता हूं। अब नकुल आपकी सेवा करेंगे। पिता की विरासत को स्वीकार करते हुए नकुलनाथ ने भी कहा कि मैं जिम्मेदारी उठाने को तैयार हूं। उनके इस बयान को कमलनाथ द्वारा बेटे को छिंदवाड़ा की राजनीतिक जिम्मेदारी सौंपे जाने की आधिकारिक घोषणा माना जा रहा है। हालांकि अभी तक नकुल के नाम की औपचारिक घोषणा नही हुई है, लेकिन यहां से उनका नाम फायनल माना जा रहा है। उनकी छिंदवाड़ा में बढ़ती सक्रियता से इस बात के संकेत बीते कई दिनों से मिल रहे है।

नौ बार छिंदवाड़ा से सांसद बने नाथ

कमलनाथ नौ बार से छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र के सांसद हैं। राज्य में कांग्रेस को बहुमत मिलने के बाद कमलनाथ मुख्यमंत्री बने। वह खुद छिंदवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री बनने के बाद छह माह की अवधि के भीतर विधायक निर्वाचित होना आवश्यक है। राज्य में कांग्रेस की सुरक्षित सीटों में से एक छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र भी है, लिहाजा कमलनाथ यहां से अपने पुत्र नकुलनाथ को चुनावी समर में उतारने का फैसला किया है। बीते कई दिनों से इस बात के संकेत भी मिल रहे थे। नकुल लगातार छिंदवाड़ा के दौरे कर रहे है और किसानों और जनता से मिल रहे है और उनकी समस्या जान रहे है। हाल ही में उनकी समर्थन में मां अलका नाथ भी वोट अपील करने छिंदवाड़ा पहुंची थी।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top