Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > अब जीजीपी ने भी कांग्रेस को दी धमकी, मांगी प्रदेश में लोकसभा की दो सीटें

अब जीजीपी ने भी कांग्रेस को दी धमकी, मांगी प्रदेश में लोकसभा की दो सीटें

अब जीजीपी ने भी कांग्रेस को दी धमकी, मांगी प्रदेश में लोकसभा की दो सीटें

लोकसभा चुनावों की घोषणा होने के साथ ही प्रदेश में कांग्रेस के सामने मुश्किलें आनी शुरू हो गई हैं। पहले बहुजन समज पार्टी और समाजवादी पार्टी द्वारा कांग्रेस के साथ किसी तरह के गठबंधन से इंकार किए जाने के बाद जयस अध्यक्ष डा हीरा अलावा ने लोकसभा के लिए सीटें मांग कर चेतावनी दी और अब गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) ने कांग्रेस से लोकसभा की दो सीटें मांगकर उसके सामने नई परेशानी खड़ी कर दी है।

राजनीतिक संवाददाता भोपाल

प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में मजबूती के साथ उभरी है। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी को मिले वोट प्रतिशत ने कांग्रेस की टेंशन बढ़ा दिया है। इसके बाद कांग्रेस और जीजीपी के बीच लोकसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर चर्चा के दो दौर भी हो चुके हैं। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने कांग्रेस से मप्र की दो लोकसभा सीटें मांगी हैं, लेकिन अभी कांग्रेस ने हरी झंडी नहीं दी है। इस मसले पर अभी दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मप्र प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की बात होना बाकी है।

विधानसभा चुनाव 2018 में जीजीपी ने मध्यप्रदेश की कुल 230 विधानसभा सीटों में से 73 सीटों पर अपने प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे, इनमें से 32 विधानसभा सीटों पर जीजीपी मजबूती के साथ उभरकर सामने आई है। यह सभी विधानसभा की सीटें नर्मदा नदी के तटीय क्षेत्रों में लगी हुुई और आदिवासी बहुल हैं। अगर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी द्वारा चुनाव लडऩे वाली इन 73 विधानसभा सीटों की स्थिति को देखा जाए, तो गोंडवाना गणतंत्र पार्टी को साढ़े सात प्रतिशत वोट मिले हैं। इसी वोट प्रतिशत ने कांग्रेस का टेंशन बढ़ा दिया है। कांग्रेस के पास अभी मप्र में सिर्फ तीन लोकसभा सीटें हैं। दिल्ली की गद्दी हथियाने के लिए कांग्रेस पार्टी प्रत्येक सीट का अलग-अलग प्लान बना रही है। इसके चलते आगामी चुनाव में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की उपस्थिति को भी दरकिनार नहीं किया जा सकता है।

तन्खा को सौंपा प्रस्ताव

जीजीपी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए मप्र कांग्रेस समन्वय समिति के सह संयोजक एवं सांसद विवेक तन्खा के साथ बैठककर एक प्रस्ताव पूर्व में सौंपा था। जीजीपी के अध्यक्ष हीरा सिंह मरकाम द्वारा रखे गए प्रस्ताव में मंडला और शहडोल लोकसभा सीटें गोंडवाना गणतंत्र पार्टी को दिए जाने की मांग रखी थी। इस पर अभी दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा होना बाकी है। इसी बीच गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से अलग हुए एक पूर्व विधायक मनमोहने शाह बट्टी के गुट द्वारा बनाई गई पार्टी भारतीय गोंडवाना पार्टी ने भी एक लोकसभा सीट बैतूल की मांग की है।

बसपा 26 सीटों पर भरेगी दम

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में 26 सीटों पर संभावित उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डीपी चौधरी ने बताया कि इस आठ-दस दिन में प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की जा सकती है। तैयारी पूरी है। उन्होंने बताया कि पहली सूची में एक दर्जन से ज्यादा नामों की घोषणा कर दी जाएगी। पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती की सहमति के बाद सूची जारी की जाएगी। इस बार बसपा ने तीन सीटों पर सपा से गठबंधन किया है।

भाजपा के कब्जे में 26 सीटें

वर्तमान में भाजपा के कब्जे में 26 सीटें और कांग्रेस के पास तीन सीटें थीं। कांग्रेस ने छिंदवाड़ा, गुना और रतलाम सीटों पर कब्जा जमाया था। शेष सीटों पर भाजपा प्रत्याशी जीते थे।

Naveen ( 1337 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top