Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > भोपाल स्टेशन की लिफ्ट बंद, यात्री हो रहे परेशान

भोपाल स्टेशन की लिफ्ट बंद, यात्री हो रहे परेशान

भोपाल स्टेशन की लिफ्ट बंद, यात्री हो रहे परेशान

वाटर मशीनों पर भी नहीं पानी, लोगों को लगना पड़ रहा लंबी लाइनों में

मध्य स्वदेश संवाददाता भोपाल

राजधानी के भोपाल रेलवे स्टेशन की 4 में से 3 लिफ्ट बंद होने के कारण मजबूरी में यात्रियों को सीढिय़ों के सहारे ही एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने पड़ रहा है। इससे बुजुर्गों, महिलाओं और दिव्यांगों को काफी परेशानी हो रही है। साथ में सामान और छोटे बच्चों के होने के कारण रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म पर जाना बुजुर्ग, महिलाओं और दिव्यांगों के मुश्किल भरा हो गया है। इसी बीच ट्रेन के प्लेटफार्म बदलने के कारण ऐसे यात्रियों अपने गंतव्य पर जाने के लिए ट्रेन को पकडऩा चुनौती भरा हो गया है। ऐसा नहीं की रेलवे स्टेशन पर अकेले लिफ्ट ही बंद हैं। इसके अलावा वॉटर वेडिंग मशीनें, पैसेंजर आपरेटेड इंक्यूरी टर्मिनल भी बंद पड़े हैं। ऐसे में लोगों को पीएनआर और ट्रेन की जानकारी भी नहीं मिल पा रही है।

रिजर्वेशन के 21 काउंटर में से चल रहे सिर्फ दो: भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-1 पर रिजर्वेशन किए जाते हैं। यहां पर अलग से बिल्डिंग बनाई गई है। इसमें 21 काउंटर बने हैं, लेकिन इसमें से केवल दो ही काउंटर खुले रहते हैं। ऐसे में लोगों को लंबी लाइन में लगना पड़ रहा है, जिससे रिजर्वेशन कराने के लिए उनका काफी समय खराब हो रहा है।

भोपाल रेलवे स्टेशन पर दो तरह की सुविधाएं चल रही हैं। इसमें एक नंबर प्लेटफार्म पर एस्केलेटर से लेकर लिफ्ट तक सभी चल रहे हैं। वॉटर वेडिंग मशीन भी काम कर रही हैं। साफ-सफाई पूरी तरह से है, लेकिन जैसे ही आप एक नंबर के बाद दो से लेकर छह नंबर प्लेटफार्म की तरफ जाते हैं, तो काफी अंतर दिखने लगता है। यहां न तो लिफ्ट चल रही हैं और न ही उतनी साफ-सफाई ही है। वाटर वेडिंग मशीन भी बंद पड़ी हुई हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि प्लेटफार्म नंबर-1 पर सभी अधिकारी बैठते हैं। ऐसे में यहां पर सभी कुछ ठीक रहता है।

करीब पांच करोड़ रुपए की लागत से छह नंबर प्लेटफार्म पर नई बिल्डिंग का काम पूरा चुका है, लेकिन अब तक वह बंद पड़ी हुई है। यहां पर टिकट काउंटर से लेकर फूड प्लाजा, यात्रियों के लिए वेटिंग रूम समेत अन्य सुविधाएं होंगी। हालांकि अब तक इसमें कार्य शुरू नहीं हो पाया है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

Naveen ( 1446 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top