Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मोदी सरकार की सौगात: राजधानी को मिला बड़ा फ्लाईओवर

मोदी सरकार की सौगात: राजधानी को मिला बड़ा फ्लाईओवर

मोदी सरकार की सौगात: राजधानी को मिला बड़ा फ्लाईओवर

केंद्र सरकार से 140 करोड़ रुपए मंजूर, मानसरोवर कॉम्प्लेक्स से मैदा मिल तक बनेगा फ्लाईओवर

राजनीतिक संवाददाता भोपाल

लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले राजधानी भोपाल के रहवासियों के लिए केन्द्र सरकार ने बड़ी सौगात दी है। केंद्र ने मानसरोवर कॉम्प्लेक्स से प्रगति पेट्रोल पंप, बोर्ड ऑफिस, डीबी सिटी, गायत्री मंदिर, मैदा मील तक फ्लाईओवर के लिए मंजूरी दे दी है। इसके लिए 140 करोड़ रुपए स्वीकृत भी कर दिए हैं। सेंट्रल रोड फंड (सीआरएफ) के तहत बनने वाले इस ब्रिज का काम लोकसभा चुनाव के बाद शुरू होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

राजधानी भोपाल के मघ्य बनने वाले लगभग 1800 मीटर लंबे इस फ्लाईओवर के तैयार होने पर एमपी नगर क्षेत्र के ट्रैफिक की तस्वीर बदल जाएगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पिछले दिनों केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात कर सेंट्रल रोड फंड के तहत प्रदेश के 15 प्रोजेक्ट मंजूर करने का अनुरोध किया था। शनिवार देर रात केंद्र से 1135.46 करोड़ रु. के इन प्रोजेक्ट की मंजूरी की सूचना प्रदेश सरकार को मिल गई है।

बड़ा सवाल मेट्रो प्रोजेक्ट और फ्लाईओवर का काम एक साथ कैसे?

भोपाल में मेट्रो का काम भी इसी मार्ग पर शुरू हो चुका है। दोनों प्रोजेक्ट एक साथ चलने को लेकर संशय की स्थिति है। मेट्रो रेल कंपनी पूरे मेट्रो मार्ग पर ओवरब्रिज, फ्लाईओवर, अंडरब्रिज आदि की अनुमति नहीं दे रही थी। पिछली सरकार में उच्च स्तर पर यह निर्णय हुआ था कि मेट्रो को प्राथमिकता दी जाएगी।

दोनों प्रोजेक्ट एक साथ संभव नहीं

प्रदेश सरकार ने अभी जो नए ब्रिज स्वीकृत किए हैं, उनके बारे में कोई सूचना नहीं है, लेकिन दोनों प्रोजेक्ट एक साथ संभव नहीं हैं। एजेंसियों से चर्चा कर कोई रास्ता निकालेंगे।

- जितेंद्र दुबे, डायरेक्टर (टेक्निकल), मप्र मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन

कई शहरों में मेट्रो-फ्लाईओवर एक साथ

दिल्ली और नागपुर जैसे शहरों में मेट्रो और फ्लाईओवर एक साथ हैं। भोपाल में भी यह हो सकता है। हम मेट्रो कंपनी के समन्वय से यह काम करेंगे।

-आरके मेहरा, इंजीनियर इन चीफ,लोक निर्माण विभाग

5 साल में 5 और फ्लाईओवर बनेंगे

प्रदेश में पांच साल में 472 पुल और फ्लाईओवर बनाये जाएंगे। इसमें भोपाल में पांच, इंदौर में छह, ग्वालियर में दो, छिंदवाड़ा और जबलपुर में एक-एक फ्लाईओवर बनेगा। लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बताया कि इसके लिए 5540 करोड़ रुपए की सैद्धांतिक मंजूरी जारी की है। भोपाल के फ्लाइओवर इस प्रकार हैं...

जवाहर चौक से काटजू अस्पताल, रंगमहल चौराहा, रोशनपुरा चौराहा होते हुए राजभवन चौराहा। लंबाई : 1500 मीटर

हमीदिया रोड पर काली मंदिर, तलैया से भारत टॉकीज, रेलवे स्टेशन तिराहा, नादरा बस स्टैंड, भोपाल टॉकीज चौराहा से शाहजहाँनाबाद थाने तक। लंबाई: 3000 मीटर

जयश्री बीटकर अस्पताल से रेतघाट से कर्फ्यू वाली माता मंदिर के सामने से हमीदिया एवं जीपीओ पोस्ट ऑफिस तक। लंबाई : 2000 मीटर

रोशनपुरा चौराहा से बाणगंगा चौराहा, पॉलिटेक्निक चौराहा से होते हुए एमएलबी कॉलेज चौराहा तक। लंबाई : 1350 मीटर

लालघाटी से बैरागढ़ होते हुए भैंसाखेड़ी जोड़ तक बनााया जाएगा फ्लाईओवर। लंबाई : 2000 मीटर

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top