Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मध्यप्रदेश की बेटियों को न्याय दिलाने के लिए मामा ने दिया धरना

मध्यप्रदेश की बेटियों को न्याय दिलाने के लिए मामा ने दिया धरना

मध्यप्रदेश की बेटियों को न्याय दिलाने के लिए मामा ने दिया धरना

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी की मनुआभान टेकरी पर आठ महीने पहले 12 वर्षीय बच्ची की दुष्कर्म के बाद पत्थरों से कुचलकर हत्या के मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान धरने पर बैठे। धरना स्थल रोशनपुरा चौराहे पर पर स्कूली बच्चे और बड़ी संख्या में महिलाएं भी पहुंची। ये सभी पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय दिलवाने की मांग कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे हैवानों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। दुष्टता का बर्ताव करने वाले इन लोगों को जिंदा रहने का हक नहीं। आखिर कब तक बेटियां दरिंदगी की शिकार होती रहेंगीं। कोर्ट से भी निवेदन है कि दुष्कर्म के मामलों में त्वरित एवं कठोर सजा दी जाए। धरने के बाद सभी सीएम हाउस का घेराव करने के लिए निकले।

इस दौरान पीड़िता की मां ने रोते हुए कहा कि मैं 8 महीने से न्याय के लिए भटक रही हूं, मुझे कब न्याय मिलेगा कुछ पता नहीं है। डीएनए रिपोर्ट के लिए क्या 8 महीने कम नहीं होते क्या। मेरी बेटी के साथ दिन के उजाले में दरिंदों ने दुष्कर्म किया। कितनी हिम्मत होती है उन दरिंदों में जो उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया। इसके बाद उसकी पत्थरों से कुचलकर हत्या कर दी।

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक मां 8 महीने से दर-दर भटक रही है, सिर्फ एक मांग कर रही है मेरी बेटी को न्याय दो। आखिर कहां जाए ये मां, ऐसा क्रूर काम करने वाले नर पिसाच हैं। 8 महीने गुजर गए लेकिन डीएनए रिपोर्ट नहीं आई। आखिर कब इस बहन को न्याय मिलेगा, क्या इस बहन को यूहीं छोड़ दें, हमें अब एक ही बात करनी है कि बेटी के दोषियों को फांसी के फंदे पर लटका दिया जाए। इससे कम कुछ नहीं, आखिर क्या करना है कि इस मामले को फास्ट्रेक कोर्ट में नहीं लिया गया। क्या ये हत्यारों को बचाने की साजिश नहीं है। हमारी मांग है हत्यारों को फांसी दो, फास्ट्रेक कोर्ट में केस चलाओ, डीएनए रिपोर्ट जल्द मंगवाओ।

मैं कहना चाहूंगा माननीय कोर्ट से अगर बलात्कारी को जल्द सजा नहीं मिलेगी तो जनता हैदराबाद में हुए एनकाउंटर पर ताली बजाई जाएगी। आज हम सबकों मिलकर सोचने की जरूरत है। हम शराब के अहाते बनाने नहीं देगें हम इन्हें बंद करवा कर रहेंगे। ये व्यवस्था बहुत घातक होगी। आज बिटिया का परिवार अकेला नहीं है हम उनके साथ खड़े हैं।

हैदराबाद गैंगरेप के आरोपितों के एनकांउटर की तर्ज पर भोपाल में भी दुष्कर्म की शिकार बच्ची को न्याय दिलाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। इस मामले में कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जिनके शासनकाल में प्रदेश महिलाओं पर अपराध के मामले में देश में सबसे ऊपर था, वो ही आज महिलाओं की सुरक्षा के लिए धरना दे रहे हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top