Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मध्यप्रदेश में हनी ट्रैप का खुलासा, मोबाइल से कई वीडियो मिले, नेता-अफसर थे निशाने पर

मध्यप्रदेश में हनी ट्रैप का खुलासा, मोबाइल से कई वीडियो मिले, नेता-अफसर थे निशाने पर

भोपाल। मध्य प्रदेश की पुलिस ने हनी ट्रैप के बड़े मामले का खुलासा करते हुए पांच युवतियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इनमें तीन को भोपाल और दो को इंदौर से गिरफ्तार किया गया। पूर्व मंत्री के बंगले से हुई इस गिरफ्तारी से प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है।

पुलिस ने बताया कि इंदौर पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर इन्हें पकड़ा गया है। ये लोग हनी ट्रैप में फंसाकर अधिकारियों और मंत्रियों को ब्लैकमेल करते थे। गिरफ्तार युवतियों में तीन को भोपाल में पकड़ा गया था, जिसके बाद बुधवार को एटीएस टीम इन्हें लेकर इंदौर पहुंची। इनसे पूछताछ के बाद गुरुवार सुबह पुलिस ने इंदौर से भी दो अन्य युवतियों को गिरफ्तार किया। फिलहाल इनसे पूछताछ की जा रही है।

बताया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान इंदौर और भोपाल पुलिस तथा एटीएस टीम को युवतियों के मोबाइल से कई वीडियो क्लिप मिले हैं, जिनकी जांच की जा रही है। वीडियो क्लिप से अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन्होंने कई हाई प्रोफाइल लोगों को ब्लैकमेल किया है।

हनीट्रैप मामले में दोषियों पर होगी कार्रवाई: गृहमंत्री

अधिकारियों और उद्योगपतियों को हनीट्रैप में फंसाकर ब्लैकमेल करने के हाईप्रोफाईल मामले में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा है कि मामले में पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है और सभी से पूछताछ की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में समय-समय पर हम खुलासा करते रहे हैं और किसी दबाव में ना आकर इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी ने पुलिस को दो महिलाओं द्वारा ब्लैकमेलिंग की शिकायत की थी। इस मामले में पुलिस ने मंगलवार को एक महिला और एक ड्राइवर को गिरफ्तार कर उसने पूछताछ की तो पूरे गिरोह की जानकारी सामने आ गई। इस मामले में बुधवार को देर शाम भोपाल से चार युवतियों को गिरफ्तार किया गया था। मामले में पुलिस ने सभी आरोपितो को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरु कर दी है। पूछताछ में बड़ा खुलासा होने की संभावना है। हाईप्रोफाईल मामला होने के कारण पुलिस इस मामले में कुछ भी कहने से बच रही है।

जानकारी मिली है कि इंदौर के चर्चित अफसर और बड़े व्यापारी को हनी ट्रैप में फंसाकर युवतियों ने उनसे संबंध बनाए। वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देते हुए अवैध काम कराए। बताया जा रहा है कि युवतियां तीन करोड़ रुपये की मांग कर रही थीं। इनके खिलाफ इंदौर में शिकायत दर्ज की गई थी। इनके द्वारा कई नेताओं और अफसरों को ब्लैकमेल किया जा रहा था। ये महिलाएं इंदौर में फोन पर कुछ लोगों को धमका रही थीं, जबकि भोपाल में नेताओं और अफसरों को अपना शिकार बना चुकी हैं, इंदौर पुलिस की सूचना पर भोपाल पुलिस और एटीएस ने अभियान चलाकर इन्हें पकड़ा है। पुलिस युवतियों को लेकर इंदौर रवाना हो गई है। पूछताछ में पता चला है कि एक आईएएस से भी इस गिरोह ने मोटी रकम ऐंठी है। सूत्रों के मुताबिक एटीएस के पास रकम के ट्रांजेक्शन सहित कई साक्ष्य मौजूद हैं।

सूत्रों के अनुसार एटीएस की टीम ने भोपाल पुलिस के सहयोग से बुधवार को देर शाम रिवेयरा टाउन और मीनाल रेजीडेंसी स्थित दो घरों में छापामार कार्रवाई कर चार महिलाओं को गिरफ्तार किया है।चारों महिलाओं के परिजन भी साथ हैं, उनके सामने उनसे पूछताछ की जा रही है। चारों महिलाओं का हनीट्रैपिंग के हाईप्रोफाइल रैकेट से जुड़ा होना बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पूछताछ के दौरान इंदौर भोपाल और एटीएस पुलिस को युवतियों के मोबाइल से कई वीडियो मिले हैं। वीडियो की जांच की जा रही है।


Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top