Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > सीबीडीटी की आयकर छापे की रिपोर्ट से राजनीति में हड़कंप

सीबीडीटी की आयकर छापे की रिपोर्ट से राजनीति में हड़कंप

40 ठिकानों पर हुई छापेमारी से पूरे 281 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति का पता चला

सीबीडीटी की आयकर छापे की रिपोर्ट से राजनीति में हड़कंप

भोपाल। आयकर की छापेमारी के बाद मध्यप्रदेश की राजनीति में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों के यहाँ जब से आयकर ने छापेमारी की है तभी से प्रदेश की राजनीति में हड़कंप मचा हुआ है । सोमवार को सीबीडीटी द्वारा उजागर की गयी आयकर छापेमारी की प्रथम रिपोर्ट से दिल्ली के राजनैतिक हलकों में हड़कंप मच गया है | साथ ही मध्यप्रदेश के भी राजनैतिक हलकों में एक सन्नाटा सा पसर गया है।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा दी गयी छापे की प्रथम रिपोर्ट में नौकरशाहों का काला सच सामने आया है। साथ ही रिपोर्ट से यह साफ सिद्ध होता है कि कैसे राजनैतिक गठजोड़ और व्यापारियों की मिलीभगत से चुनाव में हवाले के जरिये कालेधन का प्रयोग चुनाव प्रचार व अन्य गतिविधियों में किया जाता है ।

सोमवार को बड़ा खुलासा करते हुई एक रिपोर्ट उजागर हुयी है जिसमें केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी ) ने यह दावा किया कि मध्यप्रदेश, गोवा सहित 40 ठिकानों पर हुई आयकर की छापेमारी से पूरे 281 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति से जुड़े मामले का पता चला है, जिसमें नौकरशाहों, राजनीतिज्ञ व व्यापारियों की मिलीभगत के साक्ष्य मिले हैं ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यह बेहिसाब रकम व्यापारियों, नौकरशाहों व राजनेताओं के द्वारा जुटाई गयी है जिसका उपयोग हवाला के जरिये लोकसभा चुनाव में होना संभावित था । सीबीडीटी ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि हवाला के जरिये 20 करोड़ की रकम को दिल्ली के तुगलक रोड स्थित किसी पार्टी के मुख्यालय को भेजा गया है ।

सीबीडीटी ने दावा किया है कि राजधानी भोपाल स्थित अश्वनी शर्मा के आवास से लगभग पौने पन्द्रह करोड़ नगदी बरामद हुई है। साथ ही 252 शराब की महंगी बोतलें एवं जानवरों की खालें भी बरामद हुई हैं | साथ ही कुछ विदेशी हथियार भी जब्त किए गए हैं । एक वरिष्ठ अधिकारी के करीबी रिश्तेदार के दिल्ली स्थित ठिकानों पर एक बिल बुक मिली है जिससे 230 करोड़ के बेनामी लेन-देन के खुलासे की संभावना है। दिल्ली स्थित ठिकानों से कैश बुक के अलावा 242 करोड़ रु. की रकम के फर्जी बिलों के जरिए हवाला और टैक्स के मामले में सबसे सुगम माने जाने वाले देशों में 80 कंपनियों की मौजूदगी के सबूत भी सीबीडीटी को प्राप्त हुए हैं ।

आयकर विभाग द्वारा इंदौर और भोपाल में छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में बेहिसाब नकदी बरामद हुई तो कहीं सिर्फ सोने - चाँदी के जेवर ही मिले । आयकर विभाग की 36 घंटे तक लगातार चली कार्यवाई में मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के घर से कोई नगदी तो नहीं मिली मगर लगभग 30 लाख की ज्वेलरी उनके घर से बरामद हुई है | इसके बाद आयकर की टीम कक्कड़ की पत्नी और बेटे को लेकर आईडीबीआई बैंक गयी, जहां बैंक लाकर खुलवाने के बाद 48 लाख के जेबरात मिले ।

भोपाल में अश्वनी शर्मा के आवास प्लेटिनम प्लाज़ा से आयकर विभाग ने भारी मात्रा में नगदी और दस्तावेज़ बरामद किए हैं । भारी भरकम रकम और दस्तबेजो को भरने के लिए आयकर विभाग ने खासे इंतजाम किए थे । आयकर ने कैश वैन के साथ पाँच बड़े ट्रंक भी बुलवाये थे ताकि जब्त सामान , कागजात को ले जाया जा सके ।

आयकर के बाद अब वन विभाग के छापे की बारी

आयकर की छापेमारी के दौरान अश्वनी शर्मा के आवास से वन्य प्राणियों की खाल से बने कई हथियार व ट्रॉफी व सामान बरामद हुये थे | वन्य प्राणियों के शरीर को संरक्षित करके ये चीजें बनाई जाती हैं । अश्वनी शर्मा के घर से बाघ, ब्लैक बक, सांभर, चिंकारा, टाइगर, चीता व हिरण की खालें बरामद हुई हैं जिसके चलते शर्मा के आवास पर वन विभाग के अधिकारियों की छानबीन व छापेमारी संभावित बताई जा रही है |

Tags:    

Swadesh Digital ( 10031 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top