Home > Lead Story > स्मृति बोलीं राहुल गांधी सिर्फ लापता सांसद नहीं, लापता प्रत्याशी भी

स्मृति बोलीं राहुल गांधी सिर्फ लापता सांसद नहीं, लापता प्रत्याशी भी

राहुल गांधी अमेठी में बुरी तरह परास्त होंगे- स्मृति ईरानी

स्मृति बोलीं राहुल गांधी सिर्फ लापता सांसद नहीं, लापता प्रत्याशी भी

अमेठी। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) से अमेठी लोकसभा से प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने वोटिंग के दिन भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर अपना हमला जारी रखा।

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा सोमबार सुबह से क्षेत्र में भ्रमण कर रही हूं, ​लेकिन यहां राहुल गांधी कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। वो न सिर्फ लापता सांसद हैं बल्कि लापता प्रत्याशी भी हैं।

स्मृति ने आगे कहा के जनता किस लिए वोट देती है ताकि अस्पताल में एक ग़रीब जाए तो उसका ठीक से उपचार हो सके। इस भावना को प्रधानमंत्री मोदी ने समझा और गरीबों के उपचार के लिए उन्हें 'आयुष्मान भारत' का कार्ड दिया। अब भारत के साथ अमेठी की जनता भी जाग चुकी है।

उन्होंने 2014 के इलेक्शन की बात करते हुए कहा कि 20 दिन में 3 लाख लोग राहुल गांधी के खिलाफ खड़े होते हैं इसका मतलब क्या है। राहुल गांधी यहां आ नहीं रहे और आ रहे हैं तो महज 50 लोग उनके साथ रहते हैं उसका मतलब क्या है? इसका मतलब है कि अमेठी की जनता उन्हें पूरी तरह से नकार चुकी है।

प्रियंका गांधी के अमेठी मे कैम्पेन पर उन्होंने राहुल को ही निशाने पर रखा और कहा कि इतने इण्काम्पिटेण्ट हैं कि उन्हें बहन के सहारे की जरूरत पड़ गई। औरतों के सहारे की ज़रूरत पड़ गई।

स्मृति ने कहा नेता वह है जो दूसरों को सहारा देता है। नेता वह नहीं जो दूसरों से अपने लिए सहारा मांगे। मुझे अमेठी की जनता जीता चुकी है, यहां मेरे लिए कोई चुनौती नहीं है। अमेठी में राहुल बहन प्रियंका वाड्रा के साथ घूमे और मैं अकेले घूम रही हूं। मेरा खानदान तो यहां नहीं घूम रहा।

एसपी-बीएसपी के यहां समर्थन पर स्मृति ने कहा के हर चीज में यहां राहुल गांधी को ही सहारे की जरूरत पड़ रही है। मैं तो अकेले लड़ रही हूं। इसका मतलब डरा कौन, कमजोर कौन, लापता कौन, भाग रहा कौन। वायनाड कौन गया। न एसपी गया न बीएसपी गया राहुल गांधी गए। उन्होंने एसपी-बीएसपी के राहुल को वोट की अपील पर कहा मुझे कोई मुश्किल नहीं होगी। एक साधारण आदमी एक नामदार निकम्मे को चुनौती दे सकता है। इस देश में यह प्रमाणित हो गया है और अमेठी में भी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8868 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top