Home > Lead Story > बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान हमारे एयरस्पेस में नहीं घुस सका : एयर चीफ मार्शल

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान हमारे एयरस्पेस में नहीं घुस सका : एयर चीफ मार्शल

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान हमारे एयरस्पेस में नहीं घुस सका : एयर चीफ मार्शल

ग्वालियर/वेब डेस्क। आज से 20 साल पहले भारतीय फौज ने कारगिल में पाकिस्तान सेना की घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब दिया था। उस लड़ाई को देश और दुनिया कारगिल युद्ध के नाम से जानती है। करगिल लड़ाई के 20 साल पूरे होने पर भारतीय वायुसेना अपने तरीके से याद कर रही है। हर वर्ष भारत सरकार उस सैन्य अभियान को विजय दिवस के तौर पर मनाती है। पुलवामा के बाद भारत के बालाकोट एयर स्ट्राइक के मुद्दे पर ग्वालियर एयरबेस पर आयोजित कार्यक्रम में पहली बार खुलकर बोलते हुए भारतीय वायुसेना के एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने पाकिस्तान के दावों को नकारा है।

उन्होंने कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान हमारे एयरस्पेस में नहीं घुस सका। जहां तक भारत की बात है कि तो हमारा मकसद शुरू से ही साफ है कि आतंकी ठिकानों को तबाह करेंगे। लेकिन पाकिस्तान की सोच इससे इतर है। पाकिस्तान का निशाना भारत के सैन्य प्रतिष्ठान थे। हमने अपनी सैन्य क्षमता को हासिल किया। लेकिन एकदूसरे की हवाईसीमा में कोई भी देश दाखिल नहीं हुआ। बी एस धनोआ ने कहा कि अगर पाकिस्तान ने अपने एयर स्पेस को बंद करने का फैसला किया है तो वो उनकी समस्या है।

हमारी अर्थव्यवस्था जीवंत है और एयर ट्रैफिक बहुत ही महत्वपूर्ण है आपने देखा होगा कि हमने कभी भी सिविल एयर ट्रैफिक को कभी नहीं रोका। उन्होंने कहा कि आपने देखा होगा कि 27 फरवरी 2019 को बालाकोट एयर स्ट्राइक वाले दिन हमने श्रीनगर में एयरस्पेस के इस्तेमाल पर सिर्फ 2 से तीन घंटे रोक लगाई थी। लेकिन हम नहीं चाहते थे कि पाकिस्तान के साथ तनाव बढ़ाया जाए। सच ये है कि हमारी अर्थव्यवस्था पाकिस्तान से बहुत बड़ी है। उन्होंने कहा कि आपने देखा होगा कि पाकिस्तान की तरफ से अब भी उकसाने वाली कार्रवाई जारी है।

भारतीय सेना का स्पष्ट मत है कि किसी भी अभियान के पहले मकसद होना चाहिए। हमारी फौजों ने कभी किसी को बेवजह निशाना नहीं बनाया। भारतीय वायुसेना का मानवीय रूप भी समय समय पर सामने नजर आता रहा है। जहां तक पाकिस्तान की बात है तो पाकिस्तान को इस हकीकत से वाकिफ होना चाहिए कि जेहादी मानसिकता को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी होगी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10145 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top