Home > Lead Story > श्रद्धांजलि सभा में पीएम मोदी ने सुषमा को यूं किया याद

श्रद्धांजलि सभा में पीएम मोदी ने सुषमा को यूं किया याद

श्रद्धांजलि सभा में पीएम मोदी ने सुषमा को यूं किया याद

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की शोक सभा का आयोजन दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में किया गया। दिवंगत सुषमा स्वराज की शोक सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे। सुषमा स्वराज की श्रद्धांजलि सभा में पीएम मोदी ने उन्हें याद किया और कहा कि खुशी के पल को जीते-जीते उनका निधन हुआ। पीएम मोदी ने कहा कि सुषमा स्वराज के जीवन के अनेक पहलू थे। सुषमा जी विचारों की काफी पक्की थीं। पीएम मोदी ने सरकारी आवास खाली करने पर कहा कि उन्होंने फौरन सरकारी आवास खाली कर दिया, जबकि सांसद जल्दी सरकारी आवास खाली नहीं करते।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं और वेंकैया जी उनके पास गए और उन्हें कर्नाटक से चुनाव लड़ने के लिए मनाया, उस चुनाव का परिणाम निश्चित था, लेकिन उन्हें चुनौतियों का सामना करना पसंद था। उन्होंने आगे कहा कि सुषमा जी का भाषण प्रभावी होने के साथ-साथ, प्रेरक भी होता था। सुषमा जी के वक्तव्य में विचारों की गहराई हर कोई अनुभव करता था, तो अनुभव की ऊंचाई भी हर पल नए मानक पार करती थी। ये दोनों होना एक साधना के बाद ही हो सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि सुषमा जी के व्यक्तित्व के अनेक पहलू थे, जीवन के अनेक पड़ाव थे और भाजपा के कार्यकर्ता के रूप में एक अनन्य निकट साथी के रूप में काम करते हुए, असंख्य घटनाओं के हम जीवंत साक्षी रहे हैं। एक व्यवस्था के अंतर्गत जो भी काम मिले, उसे जी जान से करना और व्यक्तिगत जीवन में बड़ी ऊंचाई मिलने के बाद भी करना, ये कार्यकर्ताओं के लिए सुषमा जी की बहुत बड़ी प्रेरणा है।

पीएम मोदी ने कहा कि आमतौर पर विदेश मंत्रालय का मतलब कोट-पेंट-टाई इसी के आस का प्रोटोकॉल होता है। लेकिन सुषमा जी ने इस प्रोटोकॉल की परिभाषा को पिपल्स कॉल में परिवर्तित कर दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि सुषमा जी का भाषण प्रभावी होने के साथ-साथ, प्रेरक भी होता था। सुषमा जी के वक्तव्य में विचारों की गहराई हर कोई अनुभव करता था, तो अनुभव की ऊंचाई भी हर पल नए मानक पार करती थी। ये दोनों होना एक साधना के बाद ही हो सकता है। वसुधैव कुटुंबकम को विदेश मंत्रालय कैसे सिद्ध कर सकता है, उन्होंने विश्वभर में फैले भारतीय समुदाय के लोगों के माध्यम से ये करके दिखाया।


Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top