Home > Lead Story > मुरादाबाद के पास लखनऊ-आनंद विहार डबल डेकर ट्रेन पटरी से उतरी, कोई हताहत नहीं

मुरादाबाद के पास लखनऊ-आनंद विहार डबल डेकर ट्रेन पटरी से उतरी, कोई हताहत नहीं

मुरादाबाद के पास लखनऊ-आनंद विहार डबल डेकर ट्रेन पटरी से उतरी, कोई हताहत नहीं

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के पास लखनऊ-आनंद विहार डबल डेकर ट्रेन पटरी से उतर गई है। इस हादसे में किसी यात्री के हताहत होने की खबर नहीं है। इस मामले में ज्यादा जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है।

वहीं शनिवार की शाम धनेटा स्टेशन पर मिलिट्री स्पेशल बेपटरी हो गई। जिससे रेल संचालन रुक गया। तीन घंटे प्रयास के बाद रेल रूट बहाल हो पाया। रेल प्रबंधन ने इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का ऐलान किया है। मिलिट्री स्पेशल के डिरेल होने से बड़ौदा हाउस तक खलबली मच गई।

शाम के 7:25 बजे स्टेशन के लूप लाइन में मिलिट्री स्पेशल पटरी से उतर गई। इसकी सूचना मिलने के बाद डाउन लाइन में ट्रेनों का संचालन रोक दिया गया। भुज से बरेली के बीच चलने वाली आला हजरत एक्सप्रेस दुगनपुर में खड़ी कर दी गई। जबकि नई दिल्ली से दरभंगा के बीच चलने वाली उत्तर संपर्कक्रांति एक्सप्रेस नगरिया सादात से डायवर्ट कर दी गई। सूचना के बाद बरेली से राहत और बचाव दल के साथ क्रेन बुलाई गई। धनेटा स्टेशन रामपुर और बरेली स्टेशन के बीचो-बीच स्थित है। संयोग से ट्रेन डिरेलमेंट लूप लाइन में हुई, इस वजह से रेल संचालन पर बहुत असर नहीं पड़ा। धनेटा से ट्रेन ज्यों आगे बढ़ी इसी बीच लूप लाइन में ट्रेन के दो पहिए पटरी से उतर गए। एडीआरएम अश्वनी कुमार का कहना है कि इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। रात के दस बजे डिब्बा पटरी पर चढ़ा दिया गया। लूप से गुजर रही ट्रेन के दो चक्के पटरी से उतरे हैं। जो डिब्बा उतरा है, उसमें कोई जवान सवार नही था। उसमें खानपान के सामान हैं।

इससे पहले दिन के बारह बजे मिलिट्री स्पेशल मुरादाबाद में रुकी रही। ट्रेन में पानी की कमी थी और एसीकी कूलिंग कम थी। जिससे जवान बिफर गए। गाड़ी रुकते ही मिलिट्री अफसर ट्रेन से उतर गए और स्टेशन अधीक्षक के पास शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद ट्रेन में पानी भरा गया। जबकि एसी यहां ठीक नहीं हो सकी। इस दौरान करीब एक घंटे ट्रेन खड़ी रही। किचन से लेकर अन्य बोगियों में पानी की टंकियां खाली हो गईं थीं। इससे बौखलाए मिलिट्री अफसर ट्रेन रुकते ही नीचे उतर आए। यहां उन्होंने स्टेशन अधीक्षक से मिलकर पानी की कमी को लेकर कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करा दी। अफसरों के साथ जवानों के स्टेशन पर उतरने से रेल प्रशासन सकते में आ गया।

सूत्रों का कहना है कि यहां ट्रेन में पानी तो भरवा दिया गया, लेकिन एसी की खराबी ठीक नहीं कराई जा सकी। रेल अफसरों ने बरेली में एसी सही कराने की बात कही। मुरादाबाद में कोच की कूलिंग ठीक करने वाली टीम के नहीं होने की बात पर सेना के अफसर गुस्सा गए। बाद में बैट्री की चार्जिंग सही करके पानी भरा गया। इस दौरान कंट्रोल रूम को मेमो देने के बाद जवानों ने ट्रेन को रवाना होने दिया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top