Home > Lead Story > J&K : तीन आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

J&K : तीन आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

-घर में बंधक बनाए गए सभी सदस्यों को सुरक्षाबलों ने सुरक्षित बचाया

J&K : तीन आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

डोडा। जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर शनिवार को सेना के गश्ती दल पर हमला करने के बाद बटोत के एक घर में छिपे आतंकियों तथा सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया है।

इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि पुलिस के दो जवान घायल हुए हैं। घायलों को तुरंत सैन्य अस्पताल ले जाया गया है। आतंकियों द्वारा बंदी बनाए गए सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है।

शनिवार सुबह यह हमला जम्मू श्रीनगर हाईवे पर बटोत से करीब नौ किलोमीटर आगे रामबन के रास्ते पर स्थित एक मंदिर के पास हुआ है। सेना का एक गश्ती दल, जो रोड ओपनिंग डयूटी पर था, सड़क की जांच कर रहा था। इसी दौरान वहां किसी जगह घात लगाए बैठे आतंकियों ने जवानों पर यूबीजीएल से ग्रेनेड दागते हुए हमला किया। इस हमले में हालांकि किसी जवान को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

हमले के तुरंत बाद जवानों ने अपना मोर्चा सम्भालते हुए जवाबी कार्यवाही की। इस दौरान आतंकी मौके से फरार हो गए। हालांकि सुरक्षाबलों ने आतंकियों का पीछा करते हुए उन्हें घेर लिया। पहले तो ये आतंकी पेड़ों की आड़ में छिपे हुए थे परंतु सुरक्षाबलों की ओर से गोलीबारी शुरू होने पर आतंकवादी अपने आप को बचाने के लिए बटोत कस्बे में विजय कुमार के घर में घुस गए और परिवारवालों को बंधक बना लिया।

सुरक्षाबलों ने एक बार फिर आतंकवादियों की घेराबंदी कर ली और उन्हें आत्मसमर्पण के लिए ललकारा। घरवालों की सुरक्षा को देखते हुए गोलीबारी बंद कर दी गई और बड़ी ही सतर्कता के साथ परिवार के पांच सदस्यों को आतंकियों के चंगुल से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। इसके बाद केवल एक ही सदस्य आतंकियों के पास बंधक रह गया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों से उसे भी रिहा करने को कहा तो आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों को मार गिराया।

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने बताया कि ऑपरेशन खत्म हो गया है। सभी बंधकों को सुरक्षित बचा लिया गया है। सेना के एक जवान की जान चली गई है और दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। ऑपरेशन अब खत्म हो गया है।

घायल जवानों को तुरंत सैन्य अस्तपाल उपचार के लिए ले जाया गया है जहां पर उनका उपचार जारी है। फिलहाल आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है।तीन आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

-घर में बंधक बनाए गए सभी सदस्यों को सुरक्षाबलों ने सुरक्षित बचाया

डोडा। जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर शनिवार को सेना के गश्ती दल पर हमला करने के बाद बटोत के एक घर में छिपे आतंकियों तथा सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया है।

इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि पुलिस के दो जवान घायल हुए हैं। घायलों को तुरंत सैन्य अस्पताल ले जाया गया है। आतंकियों द्वारा बंदी बनाए गए सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है।

शनिवार सुबह यह हमला जम्मू श्रीनगर हाईवे पर बटोत से करीब नौ किलोमीटर आगे रामबन के रास्ते पर स्थित एक मंदिर के पास हुआ है। सेना का एक गश्ती दल, जो रोड ओपनिंग डयूटी पर था, सड़क की जांच कर रहा था। इसी दौरान वहां किसी जगह घात लगाए बैठे आतंकियों ने जवानों पर यूबीजीएल से ग्रेनेड दागते हुए हमला किया। इस हमले में हालांकि किसी जवान को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

हमले के तुरंत बाद जवानों ने अपना मोर्चा सम्भालते हुए जवाबी कार्यवाही की। इस दौरान आतंकी मौके से फरार हो गए। हालांकि सुरक्षाबलों ने आतंकियों का पीछा करते हुए उन्हें घेर लिया। पहले तो ये आतंकी पेड़ों की आड़ में छिपे हुए थे परंतु सुरक्षाबलों की ओर से गोलीबारी शुरू होने पर आतंकवादी अपने आप को बचाने के लिए बटोत कस्बे में विजय कुमार के घर में घुस गए और परिवारवालों को बंधक बना लिया।

सुरक्षाबलों ने एक बार फिर आतंकवादियों की घेराबंदी कर ली और उन्हें आत्मसमर्पण के लिए ललकारा। घरवालों की सुरक्षा को देखते हुए गोलीबारी बंद कर दी गई और बड़ी ही सतर्कता के साथ परिवार के पांच सदस्यों को आतंकियों के चंगुल से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। इसके बाद केवल एक ही सदस्य आतंकियों के पास बंधक रह गया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों से उसे भी रिहा करने को कहा तो आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों को मार गिराया।

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने बताया कि ऑपरेशन खत्म हो गया है। सभी बंधकों को सुरक्षित बचा लिया गया है। सेना के एक जवान की जान चली गई है और दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। ऑपरेशन अब खत्म हो गया है।

घायल जवानों को तुरंत सैन्य अस्तपाल उपचार के लिए ले जाया गया है जहां पर उनका उपचार जारी है। फिलहाल आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top