Home > Lead Story > हिंसा का जितना कीचड़ फैलाओगी, कमल उतना ही खिलेगा : अमित शाह

हिंसा का जितना कीचड़ फैलाओगी, कमल उतना ही खिलेगा : अमित शाह

हिंसा का जितना कीचड़ फैलाओगी, कमल उतना ही खिलेगा : अमित शाह

नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित भाई शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि दीदी आप हिंसा का जितना कीचड़ फैलाओगी, कमल उतना ही ज्यादा खिलेगा। शाह बुधवार को यहाँ पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा भाजपा तृणमूल कांग्रेस की धमकियों से न तो डरेगी और न ही पीछे हटेगी। उन्होंने सबूतों और साक्ष्यों के आधार पर दावा किया कि वहाँ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ही ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ा और झूठा आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगाया जा रहा है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी देशभर में चुनाव लड़ रही है, क्या उन राज्यों में हिंसा या वारदात हुई है? फिर अकेले बंगाल में ही हिंसा क्यों होती है? उन्होंने कहा कि 60 से ज्यादा पार्टी कार्यकर्ताओं का बलिदान ऐसे ही नहीं चला जायेगा। बंगाल की जनता दीदी के कष्टदायी शासन से मुक्ति दिलाएगी। इंतजार है तो 23 मई का। मतगणना होने दीजिए भाजपा बंगाल में 23 से कहीं ज्यादा सीटें जीतेगी।

केंद्रीय रिजर्ब पुलिस बल न होती तो बचकर निकल पाना था मुश्किल

मंगलवार को अमित शाह की रैली में हुए हमले को बेहद गंभीर बताते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वहाँ केंद्रीय रिजर्ब पुलिस बल तैनात न होती तो मेरा वहाँ से निकल पाना मुश्किल था। उन्होंने कहा कि मंगलवार की घटना के बाद यह निश्चित तौर पर कह सकता हूँ कि सत्ता की खातिर तृणमूल कांग्रेस किसी भी हद तक जा सकती है। इस घटना की न्यायिक जांच की मांग करते हुए शाह ने कहा कि उच्च न्यायालय इसके लिए एसआईटी बिठाए।

छठवें चरण तक भाजपा को पूरा बहुमत, सातवें चरण में हम तीन सौ के पार जाएंगे

भाजपा अध्यक्ष ने मतगणना से पूर्व के तमाम किंतु-परंतु पर विराम लगाते हुए दावा किया कि पार्टी को छठवें चरण में ही बहुमत मिल चुका है। सातवें चरण में तो हमें तीन सौ के पार जाना है। नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। यह 23 मई को तय हो जाएगा।

विपक्ष का नेता चुनने के लिए फेडरल फ्रंट तैयार होता है तो हमें क्या परेशानी?

विपक्षी नेताओं द्वारा फेडरल फ्रंट तैयार किये जाने के सवाल पर भाजपा अध्यक्ष ने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि एनडीए जब बहुमत से ज्यादा सीटें ला रहा है तब हमें क्यों उनके अंदरूनी काम मे दखल देना चाहिए। शाह ने कहा कि मुझे लगता है कि विपक्ष का नेता चुनने के लिए फेडरल फ्रंट तैयार किया जा रहा है तो करने देना चाहिए।

चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर उठाए सवाल

अमित शाह ने चुनाव आयोग की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि आयोग को इस पर स्वत: संज्ञान लेते हुए ठोस कदम उठाने चाहिए। बंगाल में चुनाव आयोग दोहरा मापदंड क्यों अपना रहा है? पर्यवेक्षक मूकदर्शक क्यों बने हुए हैं? इसी तरह चलता रहा तो चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल तो उठेंगे ही।

गुजरात मॉडल लागू कर रहे अमितशाह : पवन खेड़ा

उधर, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर तंज कसते हुए कांग्रेस ने शाह पर आरोप लगाया कि वे गुजरात मॉडल पूरे देश मे लागू कर रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि जिन अमित शाह से लोग डरने की बात करते हैं। वही अमित शाह आज खुद की जान को खतरा बता कर लोगों को आश्चर्य में डाल रहे हैं। खेड़ा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मोदी-योगी की जोड़ी का अभिन्न हिस्सा बताते हुए कहा कि तीनों लोग लोकतंत्र को तोड़ने का काम कर रहे है।

खेड़ा की प्रेस कांफ्रेंस में जब युवक ने लगाए वंदेमातरम के नारे

बुधवार को कांग्रेस मुख्यालय में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा पश्चिम बंगाल की घटना पर अमित शाह के बयान की प्रतिक्रिया दे रहे थे। खेड़ा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अजय विष्ट के नाम संबोधित करने पर युवक अचानक आक्रोशित हो बैठा। उसने मंच के सामने खड़ा होकर वंदेमातरम और भारत माता की जय के नारे लगाए। माहौल खराब होता देख कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उसे सुरक्षा गार्ड के हवाले कर दिया। पुलिस के पूछताछ के दौरान युवक अपना नाम नचिकेता बताया। बताया जा रहा है कि नचिकेता पिछले तीन दिन से रेकी कर रहा था। उसने पुलिस को बताया कि कांग्रेस प्रवक्ता बार बार योगी को अजय विष्ट कहकर संबोधित कर रहे थे। नचिकेता को पुलिस के हवाले कर दिया गया । बाद में पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8810 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top