Home > Lead Story > चौथे चरण में उत्तर प्रदेश-बिहार और मध्य प्रदेश के 69 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामला, 138 करोड़पति

चौथे चरण में उत्तर प्रदेश-बिहार और मध्य प्रदेश के 69 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामला, 138 करोड़पति

चौथे चरण में उत्तर प्रदेश-बिहार और मध्य प्रदेश के 69 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामला, 138 करोड़पति

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण का प्रचार शनिवार शाम थम गया। चौथे चरण में देश के तीन बड़े हिन्दीभाषी राज्य(उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार) में इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स(एडीआर) की रिपोर्ट के मुताबिक 69 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामला चल रहा है, जबकि 138 करोड़पति हैं।

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में उत्तर प्रदेश में 152 में से 145 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया गया, जिसमें 145 में से 31(21 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। इनमें से 26 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले चल रहे हैं। 145 में से 57(39 प्रतिशत) उम्मीदवारों की संपत्ति एक करोड़ और इससे ज़्यादा है। चौथे चरण में उत्तर प्रदेश के उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 5.09 करोड़ है। इसके अलावा 145 उम्मीदवारों में से 53(37 फीसदी) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की है, जबकि 88(61 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज़्यादा बताई है। चौथे चरण में राज्य में 18(12 प्रतिशत) महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण में बिहार के सभी 66 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया है। 66 में से 24(36 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं, इनमें 21(32 फीसदी) उम्मीदवारों ने गंभीर आपराधिक मामले होने की बात स्वीकारी है। वहीं 66 में से 13(20 प्रतिशत) उम्मीदवारों की संपत्ति एक करोड़ और इससे ज़्यादा है। इस चरण में उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 2.14 करोड़ हैं। 26 उम्मीदवारों(39 प्रतिशत) ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की है, जबकि 32 (48 प्रतिशत)उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज़्यादा घोषित की हैं। इस चरण में बिहार से तीन महिला उम्मीदवार(5 फीसदी) चुनावी मैदान में हैं।

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में मध्य प्रदेश की 108 में से 104 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने विश्लेषण किया है। इनमें 104 में से 14(14 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। आठ(लगभग 8 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी है। इस चरण में 25 उम्मीदवारों(24 फीसदी) की संपत्ति एक करोड़ और इससे ज़्यादा हैं, जबकि उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 8.01 करोड़ है। वहीं 55 उम्मीदवारों(53 प्रतिशत) ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की है। 41 उम्मदीवारों(39 प्रतिशत) ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज़्यादा घोषित की है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10718 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top