Home > Lead Story > भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर 50 सालों में दूसरी बार फायरिंग, एक जवान शहीद, दूसरे की हालत गंभीर

भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर 50 सालों में दूसरी बार फायरिंग, एक जवान शहीद, दूसरे की हालत गंभीर

भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर 50 सालों में दूसरी बार फायरिंग, एक जवान शहीद, दूसरे की हालत गंभीर

कोलकाता, 17 अक्टूबर । भारत-बांग्लादेश की सीमा पर 50 सालों के इतिहास में दूसरी बार गोली चली है जिसमें एक जवान शहीद हो गया है। ऐसा तब हुआ है जब आगामी दो नवम्बर से कोलकाता में प्रस्तावित भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हाजिर होने वाले हैं। बांग्लादेश सीमा की रक्षा करने वाले बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) के जवानों की फायरिंग में बीएसएफ का एक हेड कांस्टेबल शहीद हुआ है। उसका नाम विजय भान सिंह है। एक कॉन्स्टेबल को गोली लगी है।

बीएसएफ बीएसएफ के दक्षिण बंगाल प्रवक्ता अजय कुमार ने एजेंसी से विशेष बातचीत में इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इसके पहले 2001 में भी इसी तरह से बांग्लादेश की सेना ने गोली चलाई थी। वारदात के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि गुरुवार सुबह के समय मुर्शिदाबाद जिले के बहरमपुर सेक्टर के काकमरिचर बॉर्डर आउटपोस्ट के पास यह फायरिंग हुई।

दरअसल यहां से पद्मा नदी गुजरती है जो भारत-बांग्लादेश की सीमा है। इस नदी में दोनों ही देशों के मछुआरे मछली पकड़ते हैं। गुरुवार को तीन भारतीय मछुआरे मछली पकड़ने के लिए गए हुए थे। इनमें से दो वापस लौटे और बीएसएफ टीम से संपर्क कर बताया कि उनके एक साथी को बांग्लादेश की सेना ने पकड़ लिया है और बीएसएफ के अधिकारियों को फ्लैग मीटिंग के लिए बुलाया है। मछुआरों से यह सूचना मिलने के तत्काल बाद बीएसएफ ने आधिकारिक चैनल का इस्तेमाल करते हुए बांग्लादेश सेना के अधिकारियों से संपर्क किया। उनके बुलावे पर बीएसएफ के पांच अधिकारी फ्लैग मीटिंग के लिए पद्मा नदी की बाउंड्री पिलर संख्या 75 बटा 7-एस के पास पहुंचे। वहां बीजीबी के अधिकारियों के साथ बैठक होनी थी लेकिन साजिशन बीएसएफ के अधिकारियों को घेरने की कोशिश की जाने लगी। हालात को भांपने के बाद बीएसएफ के जवान वापस लौटने लगे तब बीजीबी के जवानों ने फायरिंग कर दी। एक गोली हेड कांस्टेबल विजय भान सिंह के सिर में जबकि दूसरी गोली एक अन्य कॉन्स्टेबल को लगी। बीएसएफ के जवानों ने इन दोनों को तुरंत वहां से सुरक्षित बाहर निकाला और मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गए जहां इलाज के दौरान हेड कॉन्स्टेबल ने दम तोड़ दिया जबकि दूसरे जवान का इलाज चल रहा है। सूचना मिलने के बाद बीएसएफ के आला अधिकारी मौके पर जा पहुंचे हैं।

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक विवेक कुमार जौहरी और इस अर्द्धसैनिक बल ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर अपने एक जवान विजय भान सिंह की शहादत पर शोक व्यक्त किया है तथा शोक संतप्त परिवार के साथ संवेदना व्यक्त की है । बीएसएफ ने कहाकि विजय भान सिंह की शहादत को हम सैल्यूट करते हैं। बीएसएफ के अनुसार, पड़ोसी देश के बांग्लादेश गार्ड के साथ बीएसएफ के अधिकारियों की फ्लैग मीटिंग के दौरान विजयभान सिंह पर गोलियां चलाई गईं और वह शहीद हो गए। (हि. स.)

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top