Home > Lead Story > दिल्ली में राष्ट्रपति शासन जैसे हालात : केजरीवाल

दिल्ली में राष्ट्रपति शासन जैसे हालात : केजरीवाल

दिल्ली में राष्ट्रपति शासन जैसे हालात : केजरीवाल

नई दिल्ली। उपराज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में छठे दिन भी धरने पर बैठे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आईएएस अधिकारियों की हड़ताल को राजधानी दिल्ली में राष्ट्रपति शासन करार दिया है। इसी सिलसिले में आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को दोपहर चार बजे मंडी हाउस से मार्च कर प्रधानमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। अन्य विपक्षी दलों ने भी उनकी इस मुहिम में खुलकर साथ देने के फैसला किया है। इसी सिलसिले में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता वृंदा करात के बाद अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्र बाबू नायडू भी रात आठ बजे केजरीवाल से मुलाकात कर अपना समर्थन जता सकते हैं।

दरअसल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडल के तीन मंत्रियों का उपराज्यपाल और केंद्र के खिलाफ छठे दिन भी धरना जारी है। केजरीवाल ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, 'आईएएस अधिकारियों की हड़ताल के माध्यम से दिल्ली में एक तरह से राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है।' रविवार को मंडी हाउस से प्रधानमंत्री आवास की ओर जाएंगे, प्रदर्शन करेंगे। शायद अफसर काम पर लौट आएं।'

इस बीच नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल बैठक में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू मुख्यमंत्री केजरीवाल से मुलाकात कर सकते हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top