Home > Lead Story > चौकीदार के निशाने पर है आतंक फैलानेवाली फैक्टरी : नरेन्द्र मोदी

चौकीदार के निशाने पर है आतंक फैलानेवाली फैक्टरी : नरेन्द्र मोदी

चौकीदार के निशाने पर है आतंक फैलानेवाली फैक्टरी : नरेन्द्र मोदी

पटना/मुजफ्फरपुर। देश की सुरक्षा के लिए एक मजबूत सरकार की जरूरत है। कमजोर सरकार आतंक का सामना नहीं कर सकती। देश में ऐसी सरकार होनी चाहिए जो आतंकी ताकतों को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए कृत संकल्पित हो। भारत को जहां से भी खतरा होगा, हम घर में घुसकर मारेंगे क्योंकि हमारी नीति बिल्कुल साफ है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को मुजफ्फरपुर के पताही एयरपोर्ट ग्राउंड में भाजपा प्रत्याशी अजय निषाद के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि एयर स्ट्राइक से विपक्ष की नींद उड़ गयी है और पाकिस्तान का नाम सुनते ही वह कांप उठते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद जब फलता-फूलता है तो कोई भी सुरक्षित नहीं रहता, चाहे वह किसी भी जाति या पंथ का क्यों ना हो। कोई सोच सकता था कि आतंकवाद श्रीलंका में 300 लोगों को मार देगा? उन्होंने कहा कि चाहे देश के भीतर हो या सीमा पार हो, आतंक और हिंसा फैलानेवाली फैक्टरी जहां भी होगी, वह इस चौकीदार के निशाने पर है।

विपक्षी गठबंधन पर हमला करते हुए पीएम ने कहा कि महामिलावट वाले लोगों ने देश की रक्षा और सुरक्षा के लिए क्या नीति बनायी है, वह स्पष्ट नहीं करते। वह अपने फायदे के लिए नीतियां बनाते हैं। उन्हें आपकी नहीं, अपनी सुरक्षा की चिंता है। पिछले लोकसभा चुनाव में जनता ने कांग्रेस को इतनी सीटें दी कि कोई नेता विपक्ष भी नहीं बन पाया और इस चुनाव में वे प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। चार चरणों के चुनाव में ही कुछ लोग चारों खाने चित्त हो गये हैं। अगले चरण में देखिए क्या-क्या होता है। किसे बड़ी जीत और किसे बड़ी हार मिलती है।

लालू-राबड़ी पर कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार में विपक्षी गठबंधन की ताकत को बढ़ाने का मतलब है यहां फिर से लूटपाट, अपहरण और भ्रष्टाचार का ग्राफ बढ़ाना। उन्होंने कहा कि नीतीश, पासवान और सुशील मोदी ने बहुत मेहनत से बिहार को जंगलराज से बाहर निकाला है। इसके बाद बिहार के विभिन्न क्षेत्रों में विकास हुआ। बिहार में राजग उम्मीदवारों के लिए समर्थन मांगते हुए उन्होंने कहा कि जिन्होंने बिहार की पहचान बदली थी, वो इस चुनाव में केंद्र में अपनी सरकार बनाने के लिए नहीं लड़ रहे, बल्कि वो किसी भी तरह से अपनी सदस्य संख्या बढ़ाने के लिए छटपटा रहे हैं। उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बिहार में लूटपाट, अपहरण, भ्रष्टाचार के दिन वापस लाना। बिहार को इन लोगों ने यही दिया है। इनकी गिद्ध दृष्टि बिहार पर है ताकि बिहार को जाति और समाज में बांटकर अपना स्वार्थ पूरा कर सकें।

लालू सहित उनके समर्थक अन्य नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जो जेल में हैं, जेल से बाहर बेल पर हैं या बेल के लिए कोर्ट का चक्कर काट रहे हैं, वे केंद्र में मजबूत सरकार को एक मिनट भी बर्दाश्त नहीं करना चाहते। उन्होंने कहा कि विपक्ष चाहे जितनी भी कोशिश कर ले, काला धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ हमने जो अभियान चलाया है उसकी गति कभी कम नहीं होगी। बड़े-बड़े शॉपिंग मॉल खड़े करने वालों और फॉर्म हाउस रखने वालों को गरीबों से लूटे गये पैसे का हिसाब देना ही होगा। चुनावी सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, लोजपा नेता रामविलास पासवान समेत एनडीए के कई नेता मौजूद थे।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10698 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top