Home > Lead Story > किसी बुरे समझौते से अच्छा, इस वक्त कोई भी एग्रीमेंट न करना : एस. जयशंकर

किसी बुरे समझौते से अच्छा, इस वक्त कोई भी एग्रीमेंट न करना : एस. जयशंकर

किसी बुरे समझौते से अच्छा, इस वक्त कोई भी एग्रीमेंट न करना : एस. जयशंकर

नई दिल्ली। भारत उस दौर में दुनिया में मजबूत स्थिति में दिख रहा था, लेकिन चीन के साथ 1962 के युद्ध के बाद भारत के स्टैंड को बड़ा नुकसान हुआ। दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यह बात कही। इसके अलावा पाकिस्तान के साथ 1972 में हुए शिमला समझौते का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके चलते पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में समस्याएं पैदा करनी शुरू की थीं।

यही नहीं जयशंकर ने मोदी सरकार के आरसीईपी एग्रीमेंट से बाहर आने को लेकर भी टिप्पणी की और कहा कि किसी बुरे समझौते से अच्छा था, इस वक्त कोई भी एग्रीमेंट न करना। एस. जयशंकर ने बालाकोट एयर स्ट्राइक और उससे पहले उरी अटैक के जवाब में भारत की ओर से की गई सर्जिकल स्ट्राइक का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 26/11 में इस तरह की प्रतिबद्धता नहीं दिखाई गई थी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top