Home > Lead Story > एक साथ काम करें एशियाई देशों के सर्वश्रेष्ठ दिमाग : प्रधानमंत्री मोदी

एक साथ काम करें एशियाई देशों के सर्वश्रेष्ठ दिमाग : प्रधानमंत्री मोदी

एक साथ काम करें एशियाई देशों के सर्वश्रेष्ठ दिमाग : प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के सात दिवसीय दौरे से भारत लौट आए हैं। हमेशा सक्रिय रहने वाले नेता के रूप में मशहूर मोदी आज कुछ कार्यक्रमों में शिरकत करने के लिए यहां पहुंचे। उन्होंने आईआईटी मद्रास के 56वें दीक्षांत समारोह के साथ इसी परिसर में आयोजित सिंगापुर-भारत हैकथॉन के पुरस्कार वितरण समारोह में हिस्सा लिया। मोदी ने कहा कि मैं इसमें यकीन करता हूं कि तकनीक और व्यापार लोगों को एकजुट करने का काम करते हैं।

एशियाई देशों के सर्वश्रेष्ठ दिमाग एक साथ काम करें और इनोवेटिव समाधान खोजें खास तौर पर ग्लोबल वॉर्मिंग और क्लाइमेट चेंज को लेकर। भारत का फोकस इस वक्त इनोवेशन के जरिए आम लोगों के जीवन में बेहतर बदलाव लाने की कोशिश पर है। अटल इनोवेशन योजना, स्टार्टअप योजना जैसे कार्यक्रमों के जरिए इसे बढ़ावा दिया जा रहा है।

इससे पहले मोदी का एयरपोर्ट पर जबरदस्त स्वागत हुआ। यहां उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका में भी तमिल भाषा की धूम है। हम लोग सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ कैंपेन चला रहे हैं, लेकिन इसका मतलब प्लास्टिक फ्री इंडिया नहीं है। प्रधानमंत्री नेे कार्यकर्ताओं से महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के लिए तैयारी करने की अपील की।

एयरपोर्ट पर चेन्नई भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री का गुलदस्ता देकर स्वागत किया। प्रधानमंत्री मद्रास आईआईटी में होने वाले 56वें वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगे। इस दौरान वे सिंगापुर-भारत हैकथॉन के पुरस्कार वितरण समारोह में भाग लेने के साथ-साथ आईआईटी मद्रास के रिसर्च पार्क स्टार्ट-अप्स पर लगी प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री आईआईटी मद्रास के 56वें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। मोदी ने दीक्षांत समारोह के लिए आईआईटियनों और आईआईटी के पूर्व छात्रों से अपने भाषण के लिए विचार साझा करने को कहा था। उन्होंने रविवार को ट्वीट कर कहा कि कल मैं आईआईटी मद्रास के दीक्षांत समारोह में भाग लेने के लिए चेन्नई में रहूंगा। मैं वहां भारत के कुछ तेज-तर्रार दिमागों के साथ होने की आशा करता हूं। मैं आप सभी को खासकर के आईआईटियनों और आईआईटी के पूर्व छात्रों से मेरे भाषण के लिए आपके विचार साझा करने का आह्वान करता हूं। इसे आप नमो एप के खुले मंच पर शेयर कर सकते हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top