Home > विदेश > रूस ने हमला कर यूक्रेन के जंगी जहाजों को लिया कब्जे में

रूस ने हमला कर यूक्रेन के जंगी जहाजों को लिया कब्जे में

रूस ने हमला कर यूक्रेन के जंगी जहाजों को लिया कब्जे में

मास्को। रूस ने क्रीमियाई प्रायद्वीप के पास यूक्रेन के तीन नौसैनिक जहाजों पर हमला कर उन्हें अपने कब्ज़े में ले लिया है। इस घटना से रूस और यूक्रेन के बीच तनातनी बढ़ गई है। इस सिलसिले में दोनों देश एक-दूसरे को ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यह विवाद तब शुरू जब रूस ने आरोप लगाया कि यूक्रेन के जहाज आजोव सागर में गैरकानूनी ढंग से उसकी जल सीमा में घुस आए हैं। इसके बाद रूस ने कर्च में तंग जलमार्ग पर एक पुल के नीचे टैंकर तैनात कर आजोव सागर की ओर जाने वाला मार्ग बंद कर दिया।विदित हो कि अजोव सागर जमीन से घिरा हुआ है और काला सागर से कर्च के तंग रास्ते से होकर ही इसमें प्रवेश किया जा सकता है।आजोव सागर की जलीय सीमाएं रूस और यूक्रेन के बीच बंटी हुई हैं।

इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको ने देश की नेशनल सिक्योरिटी एंड डिफेंस काउंसिल की बैठक में रूस की कार्रवाई को 'सनक' भरा कदम बताया।यूक्रेन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि रूस के विशेष बलों ने बंदूकों से लैस दो नावों और नौकाओं को खींचने वाले एक जहाज का पीछा किया और फिर उन्हें अपने कब्जे में ले लिया। इस घटना में चालक दल के छह सदस्य घायल हुए हैं।

यूक्रेन के राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने जानकारी दी है कि इस संबंध में 'वॉर कैबिनेट' की ज़रूरी बैठक बुलाई गई है और 'वार कैबिनेट' की तैयारी चल रही है। इतना ही नही यूक्रेन की संसद देश में 'मार्शल लॉ' लगाने के प्रस्ताव पर मतदान करेगी। अभी तक रूस की ओर से यूक्रेन के इन दावों पर प्रतिक्रिया नहीं आई है। इससे पहले रूस ने यूक्रेन पर गैरकानूनी तरीके से रूसी जल सीमा में प्रवेश करने का आरोप लगाया था।

उधर, यूक्रेन की नौसेना का कहना है कि रूस ने निकोपोल और बर्डियांस्क नाम की गनबोटों पर हमला करके उन्हें नकारा बना दिया है। इससे पहले रूस ने यूक्रेन के जलपोतों की निगरानी के लिए दो लड़ाकू विमान और दो हेलिकॉप्टर लगाए हुए थे।

इस बीच यूरोपीय संघ ने रूस से कहा है कि "यूक्रेन को कर्च से आजोव सागर में अपने हिस्से में जाने से नहीं रोका जाए।" नाटो ने भी इस मामले में यूक्रेन का समर्थन किया है।

Tags:    

Swadesh News ( 5164 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top